Captcha Code Kya Hai

Captcha Code Kya Hai.कैप्चा कोड भरते समय आपके भी मन में आता होगा की ये क्या है और आपसे ये क्यों भरवाया जाता है। आजकल अक्सर website या app पर आपको captcha भरना पड़ता है। लेकिन हर जगह अलग-अलग प्रकार के captcha भरवाए जाते हैं।

कुछ लोगों को captcha fill करने में दिक्कत भी आती है और उनसे गलत हो जाता है। हम इस लेख में captcha के full form, इसके प्रकार और इतिहास के बारे में जानेंगे।

यदि आप captcha भरने में गलती कर देते हैं या आपको मुश्किल लगता है तो हम आपको इस लेख में सही से captcha भरने का तरीका बताएंगे।

दोस्तों कैप्चा कोड क्या है (Captcha code kya hai) और क्यों इस्तेमाल किया जाता है? को लेकर लोगों के मन में बहुत सारे सवाल बने रहते हैं। अगर हम कुछ भी काम  इंटरनेट पर करने जाते हैं जैसे किसी वेबसाइट में login/signup या फिर कोई ऑनलाइन फॉर्म तो उस समय हमें Captcha Code दिखाई देता है।

ज़्यादातर Condition  में लोग Captcha Code  को भरने में काफी ज्यादा परेशान होते हैं। और कभी-कभी तो कैप्चा को भरने में परेशानी इतनी बढ़ जाती है कि लोग चार से पांच बार कैप्चा कोड सॉल्व करने के बाद भी सॉल्व भी नहीं कर पाते हैं। ऐसा इस वजह से होता है क्योंकि Captcha Code में इस प्रकार के उल्टे सीधे कैरेक्टर लिखे हुए होते हैं जिन्हें पढ़ना और समझना थोड़ा सा मुश्किल होता है।

आज के इस लेख में हम आपको Captcha Code kya hota है, ये बता रहे हैं। साथ ही साथ कैप्चा कोड का इस्तेमाल क्यों किया जाता है इस पर भी हम चर्चा करेंगे। अगर आपके भी मन में कैप्चा कोड से संबंधित बहुत सारे प्रश्न हैं और आप भी सोचते हैं कि ये Captcha Code आपको क्यों सॉल्व करना पड़ता है तो इसका जवाब जानने के लिए इस लेख को आखिर तक पढ़िए।

Captcha Code को सॉल्व करना कोई बहुत बड़ी बात नहीं होती है। लेकिन कभी-कभी इस प्रकार के कैरेक्टर हमें गूगल द्वारा दिखाए जाते हैं कि हम उन्हें समझ ही नहीं पाते हैं। फिर हम घंटों तक Captcha Code  को बार-बार Solve करके Verify  ही करते रहते हैं। इसके बावजूद कई बार हम असफल हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में हमें बहुत फर्स्ट्रेशन होती है। फिर हम अपने काम को बंद कर देते हैं या फिर जो काम कर रहे होते हैं, वह नहीं कर पाते हैं।

लेकिन आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे तरीकों तथा Captcha Code क्या है और क्यों इस्तेमाल किया जाता है, के बारे में बताएंगे। इन्हें  पढ़कर आप कैप्चा से संबंधित सभी जानकारी पा सकेंगे। साथ ही साथ आसानी से कैप्चा कोड को भी सॉल्व कर पाएंगे।

Captcha Code Kya Hai:

कैप्चा, कंप्युटर में एक तरह का आसान सा challenge–response test है जो ये पता करने के लिए लिया जाता है की user असल में एक इंसान ही है। ये captcha इंसानों के लिए काफी आसान होते हैं लेकिन कंप्युटर या इसके जैसी अन्य मशीन जैसे की bots इसे पढ़ नहीं सकते।

Captcha में किसी भी alphabet को टेढ़ा-मेढ़ा या ऊपर-नीचे कर दिया जाता है जिससे कंप्युटर या bots इसे नहीं पढ़ सकते लेकिन इंसान इसे आसानी से पढ़ और समझ सकता है।

Captcha इसलिए बनाया गया ताकि programmer द्वारा किए जा रहे online spam को रोका जा सके। आगे हम इस spam के बारे में और जानेंगे।

कैप्चा कोड एक ऐसा टूल होता है जिसकी मदद से कंप्यूटर मनुष्यों और ऑटोमेटेड विवर्स यानी बोट्स को समझता है। इसी टूल की मदद से कंप्यूटर समझ पाता है कि किसी वेबसाइट या एप्लीकेशन पर विजिट किया गया यूजर एक रियल यूजर है या फिर फर्जी तरीके से उस पर बार-बार विजिट किया जा रहा है।

अगर सीधे शब्दों में जाने कि कैप्चा कोड क्या होता है तो इसका उत्तर यह होगा कि एक ऐसा सिक्योरिटी टूल जिसकी मदद से मनुष्य और बोट्स के बीच फर्क किया जाता है। कैप्चा को इस प्रकार से बनाया गया है कि इसे किसी भी स्थिति में कंप्यूटर या बोट्स द्वारा सॉल्व नहीं किया जा सकता। इसे सॉल्व करने के लिए एक रियल यूजर यानी Human Brain की ज़रूरत होती है।

कैप्चा कोड हमें किसी वेबसाइट में कमेंट करते समय, किसी सरकारी वेबसाइट में ऑनलाइन फॉर्म भरते समय ,कोई पेमेंट करते समय इन स्थितियों में दिखाया जाता है। जिससे एक रियल यूजर का वेरिफिकेशन किया जा सके। इसके अलावा कैप्चा दिखाने और उसको यूजर से सॉल्व करवाने का कोई दूसरा उद्देश्य नहीं होता है। इसका मुख्य उद्देश्य सिक्योरिटी को चेक करना होता है।

Captcha Ka Full Form:

Captcha का फूल फॉर्म है-

Completely Automated Public Turing test to tell Computers and Humans Apart

इसका मतलब ये हुआ की captcha पूरी तरह से एक automatic public टेस्ट है जो की कंप्युटर और इंसान में अंतर करने के लिए इस्तेमाल होता है।

कैप्चा की जरूरत क्यों पड़ी:

Captcha Code Kya Hai.जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की captcha एक तरह का टेस्ट है जो की इंसान को पहचानने में मदद करता है।

इसकी जरूरत तब पड़ी जब लोगों ने Bots के जरिए ऑनलाइन वेबसाईट पर spamming करनी शुरू कर दी।

Bots kya है-

Bots कंप्युटर में बनाए गए Program या Software होते हैं जो बिल्कुल इंसान की तरह किसी भी वेबसाईट पर जाकर वहाँ अपना account बना सकते हैं, comment कर सकते हैं और वो सब कुछ कर सकते हैं जो एक इंसान कर सकता है।

यदि इन bots के जरिए किसी भी वेबसाईट को टारगेट किया जाए तो उस website पर कुछ ही सेकंड के अंदर लाखों में account बनाए जा सकते हैं और comment किये जा सकते हैं।

इससे उस वेबसाईट की hosting के database full हो जाने का खतरा रहता है। इसी से बचने के लिए captcha की जरूरत पड़ी।

CAPTCHA CODE का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

कैप्चा कोड एक प्रकार का सिक्योरिटी फीचर होता है जिसका प्रयोग एक रियल यूजर की पहचान करने के लिए किया जाता है। यहां पर रियल यूजर से मतलब एक मनुष्य से है। कभी-कभी क्या होता है की किसी वेबसाइट पर हैकर्स और स्पैमर्स द्वारा काफी अधिक संख्या में बोट्स भेजे जाते हैं। और उनकी मदद से उस वेबसाइट को हैक करने ,उसका पासवर्ड चोरी करने का प्रयास किया जाता है।

लेकिन कैप्चा कोड की वजह से यह संभव नहीं हो पाता है। क्योंकि कैप्चा कोड को इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि उसे किसी भी प्रकार के बोट्स या कंप्यूटर नहीं तोड़ सकते। उसको क्रैक करने के लिए एक मानव की आवश्यकता है। एक मानव ही जब उस वेबसाइट पर विजिट करेगा तभी वह उसे अपने बुद्धि से सॉल्व करके साइट में जा सकेगा।

कैप्चा कोड में मुख्यत: अंग्रेजी के Alphabet और गणित के कुछ अंक होते हैं जो यूजर्स को दिखाए जाते हैं।  इन अंको को इस प्रकार से तोड़- मरोड़ के दिखाया जाता है या विकृत किया जाता है की इसे Optical mark reader टेक्नोलॉजी के द्वारा डिटेक्ट ना किया जा सके। मतलब इसे OTR टेक्नोलॉजी भी ना समझ सके। यही कारण होता है कि कैप्चा कोड में दिख रहे अंक बहुत ही उल्टे सीधे फॉर्मेट में लिखे होते हैं। इन्हें केवल एक मनुष्य ही दिमाग लगाकर समझ सकता है और सॉल्व कर सकता है।

CAPTCHA CODE का इस्तेमाल बड़ी – छोटी सभी वेबसाइट के ऑनर द्वारा उस वेबसाइट की सुरक्षा के लिए किया जाता है। क्योंकि अगर उसमें कैप्चा कोड या कोई भी सिक्योरिटी फीचर नहीं लगाया जाएगा तो उसमें हैकर्स  तरह-तरह के स्पेन मेल्स या बोट्स भेज कर उस  साइट से डाटा को चोरी करेंगे। यह भी हो सकता है कि उस वेबसाइट को भी हैक कर लें। इस वजह से कैप्चा को लगाना आवश्यक हो जाता।

Captcha Code का प्रयोग इसलिए भी वेबसाइट में किया जाता है क्योंकि बहुत से यूजर्स अपनी वेबसाइट का यूआरएल यानी लिंक किसी दूसरे वेबसाइट के कमेंट सेक्शन में जाकर अपने वेबसाइट को प्रमोट करने के उद्देश्य (बैकलिंक बनाने )से पोस्ट कर देते हैं। जिससे बहुत ही भारी संख्या में उस वेबसाइट पर लिंक हो जाती हैं। यह उस वेबसाइट के Spam Score को बढ़ाता है। इसलिए वेबसाइट के Owner के द्वारा उस पर कैप्चा कोड लगाया किया जाता है।

कैप्चा कोड का प्रयोग अधिकतर सरकारी प्लेटफार्म पर किया जाता है। जैसे कि जब आप ट्रेन का टिकट आनलाइन बुक करते हैं तो उस समय आपको एक निश्चित समय के अंदर टिकट बुक करना होता है। जिसके लिए आपको एक कैप्चा कोड दिया जाता है जिसको भरने करने के बाद आप उस टिकट को कंफर्म बुक कर पाते हैं और पेमेंट कर पाते हैं।

कैप्चा कोड का इस्तेमाल रेलवे द्वारा इसलिए किया जाता है क्योंकि बहुत सारे हैकर्स नए-नए एप्लीकेशन और बोट्स बनाते हैं। जिन्हें रेलवे के तत्काल टिकट और प्रीमियम के टिकट बुक करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। जब भी वेबसाइट में टिकट बुकिंग चालू होती है वह कुछ ही सेकेंड के अंदर में सारे टिकट बुक कर लेते हैं। फिर उन्हें अवैध तरीके से अधिक पैसा लेकर लोगों को बेंचते हैं। इसको रोकने के लिए रेलवे या अन्य सरकारी वेबसाइटों ने अपने-अपने ऑनलाइन प्लेटफार्मों पर Captcha Code Use करना शुरू कर दिया है।

Captcha Code In Hindi.Use Of Captcha Code:

Captcha Code Kya Hai का इस्तेमाल ज्यादातर online website या App पर होता है। इसके इस्तेमाल से निम्न तरह के spam रोके जा सकते हैं-

  1. वेबसाईट पर फर्जी अकाउंट बनाने वाले स्पैम:
    इस तरह के spam में bots किसी भी website पर जाकर अनगिनत संख्या में नकली account बनाते हैं। इससे उस वेबसाईट के hosting का resource खर्च होता है।
  2. वेबसाईट पर फर्जी कमेन्ट वाले स्पैम:
    किसी भी website पर bots जाकर कुछ भी comment post कर देते हैं। जहां इंसान को comment करने में कुछ वक्त लगता है उतने ही देर में bots सैकड़ों comment कर सकते हैं।
  3. ऑनलाइन polls को bots से बचाने के लिए:
    आपने कई बार देखा होगा की कई website या social media platform पर polls create किए जाते हैं। यदि bots को ना रोक जाए तो वो polls में participate कर सकते हैं और polls के real result को cheat कर सकते हैं।
  4. ऑनलाइन ticket booking को स्पैम से बचाने के लिए:
    रेल्वे की ऑनलाइन टिकट बुकिंग में Tatkal Ticket के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
    जब tatkal ticket open होता है तभी लोगों द्वारा लगाए गए bots आकर कुछ ही सेकंड में सारा ticket book कर लेते हैं। वहीं real इंसान को ticket book करने में कम से कम 2 से 3 मिनट लगते हैं और इसलिए उसे टिकट नहीं मिल पाता।
  5. ऑनलाइन form filling को स्पैम से बचाने के लिए:
    कोई भी ऐसी website जो form भरने की सुविधा देती है उस पर bots आकर नकली फॉर्म भर सकते हैं। इसलिए captcha के इस्तेमाल से उन्हे छाँटकर बाहर किया जा सकता है।

Types Of Captcha Code In Hindi:

अलग-अलग वेबसाईट पर विभिन्न तरह के captcha इस्तेमाल किये जाते हैं। इसमें से कुछ मुख्य captcha के प्रकार नीचे दिए गए हैं-

  1. Math Solving Captcha:

    इस तरह के captcha में गणित के साधारण सवाल होते हैं। इनमें आपको addition, subtraction, division या multiplication देखने को मिलता है। ये काफी आसान होते हैं।
    उदाहरण: 89+47, 91-69, 51÷3, 21×6 इस तरह के सवाल होते हैं।

  2. Word Or Alphabet Captcha:
    इस तरह के captcha में alphabets और numbers को mix कर दिया जाता है। उसके बाद उनके position को ऊपर नीचे कर दिया जाता है। इसको थोड़ा सा और कठिन करने के लिए टेढ़ा-मेढ़ा कर दिया जाता है।

इनको solve करते समय alphabets के letter capital में हैं या small में इसका ध्यान जरूर रखें।

  1. Picture Identification
    इस तरह के captcha में आपको कई सारे pictures दिखाए जाते हैं और आपसे पूछा जाता है की इनमे से ये वाले कौन से picture हैं। आपको उनपर tick करना होता है।

जैसे की आपको कई सारे pictures में से ये कहा जा सकता है की इनमें से जिनमें भी आपको boat दिख रही है उस पर tick करें।

  1. 3d Captcha:
    ये आज के समय में ये काफी असरदार captcha है क्योंकि यदि किसी भी alphabet या number को 3D में दिया जाए तो उसे इंसान आसानी से पहचान सकता है लेकिन bots इसे नहीं पहचान पाएंगे।

    3D captcha में alphabets या number को ऊंचा और टेढ़ा-मेढ़ा किया जा सकता है जिससे इन्हे पहचानना bots के लिए काफी मुश्किल हो जाता है।
  2. Recaptcha:
    Recaptcha गूगल का एक captcha है जो की user के behaviour को trace करता है और यदि उसे लगता है की ये robot है तो उसे वेबसाईट पर कोई भी activity करने से रोकता है।

Recaptcha में user द्वारा किए गए किसी activity में कितना समय लगा, user ने cursor को कैसे move किया और किसी पेज पर कितने समय में क्या-क्या activity की ये सब trace करके इंसान और bots में फर्क किया जाता है।

  1. Honeypot:
    ये captcha human user को दिखाई नहीं देता है लेकिन bots इसे देख सकते हैं। इसमें कोई form या space भरने के लिए जगह दिया जाता चूंकि वो form human user को नहीं दिखेगा इसलिए यदि वो फॉर्म किसी ने भरा तो इसका मतलब वो bots ही होगा।


History Of Captcha Code Kya Hai :

कैप्चा के खोज को लेकर दो तरह के दावे होते हैं इसलिए किसी एक व्यक्ति को इसका credit नहीं दिया जा सकता है।

पहला दावा ये कहता है की 1997 में Mark D. Lillibridge, Martín Abadi, Krishna Bharat, और Andrei Broder ने मिलकर AltaVista नाम के search engine में captcha का इस्तेमाल किया था।

दूसरा दावा ये कहता है कि Luis von Ahn, Manuel Blum, Nicholas J. Hopper और John Langford की टीम ने मिलकर इसे सबसे पहले बनाया और 2003 में इसे प्रकाशित कर लोगों को भी बताया।

सबसे पहले captcha का commercial इस्तेमाल सन् 2000 में देखने को मिलता है। उसके बाद धीरे-धीरे इसका इस्तेमाल बढ़ता गया और आज कई तरह के captcha इस्तेमाल होते हैं।

Recaptcha : समय के साथ captcha को और बेहतर बनाया गया और इस समय का एक मशहूर captcha है जिसे हम recaptcha नाम से जानते हैं। इसकी शुरुआत 2007 में हुई थी और 2009 में इसे गूगल ने खरीद लिया।

उसके बाद Google ने इसमें No Captcha Recaptcha शुरू किया जिसमें की यूजर को सिर्फ क्लिक करना था। और अब इसी बेहतर बनाते हुए google ने 2017 में Invisible Recaptcha शुरू किया और अब इसका Version3 चल रहा है।



Captcha का तोड़, जो Spammers ने निकाले:

वेबसाईट को Spammers से बचाने के लिए captcha तो बना लिया गया लेकिन spammers ने भी इसका तोड़ निकाल लिया। चलिए जानते हैं की कैसे captcha के होते हुए भी spammers अपना काम कर जाते है।

  • पहला तोड़ तो Ocr Technology थी। इसका मतलब होता है optical character reader। इस तकनीक से लिखे हुए अक्षर को मशीनें पढ़ सकती थीं। हालांकि इनसे बचने के लिए captcha में alphabets को टेढ़ा-मेढ़ा कर दिया गया जिससे इस तकनीक से भी उसे पढ़ने में मुश्किल होता है।
  • दूसरा तोड़ है captcha को share करने का। कई तरह के bots ऐसे है जो captcha के स्क्रीन को कहीं और भेज देते हैं और वहाँ बैठा real human उसे solve कर दे देता है।
  • और इस तरह से bots उस वेबसाईट में enter कर जाते हैं और spam करते हैं।
    इस तरह के spam को रोकना काफी मुश्किल काम है लेकिन फिर भी नए आए हुए captcha से इन्हें भी कुछ हद तक रोक जा सकता है।

How To Solve Captcha Code In Hindi:

Captcha Code Kya Hai.कैप्चा कोड भरने के लिए सबसे पहले आपको उसे ध्यान से देखना चाहिए की ये किस तरह का captcha है। उसके बाद यदि वो Maths Question का captcha हो तो उसे solve करें और उसके बाद भरें।

Alphabets वाले captcha में letters के capital हिस्से को capital में और small वाले हिस्से को small में ही लिखें। catptcha भरते समय space का इस्तेमाल ना करें।

यदि आपको कोई captcha कठिन लग रहा हो तो दूसरा captcha लाने के लिए Captcha Refresh पर क्लिक करें। वैसे captcha कोड भरना कोई कठिन काम नहीं है बस आपको थोड़ा सा ध्यान देने की जरूरत है।

कैप्चा कोड के फायदे:

Captcha Code Kya Hai – यदि captcha ना होता तो आज इतनी बड़ी-बड़ी वेबसाईट भी ना होतीं क्योंकि इस दुनिया में बुरे लोगों की कमी नहीं है।

किसी भी वेबसाईट को अच्छा करते हुए देख लोगों को जलन होती और लोग spamming शुरू कर देते।

उदाहरण:

उदाहरण के लिए हम gmail को लेते हैं। चूंकि gmail को google के server पर host किया गया होगा और उसकी एक maximum limit होगी की इतने लोग इस पर account बना सकते हैं।

अब मान लीजिए की ये Maximum Limit पूरी दुनिया की जनसंख्या के बराबर है।

इसका मतलब ये है की हर व्यक्ति यदि gmail पर एक account बनाता है तो इसकी limit पूरी हो जाएगी। लेकिन यदि कोई bots आकर gmail पर कई सारे account बनाने लगे तो इससे इसकी limit पहले ही पूरी हो जाएगी और हर व्यक्ति अपना account नहीं बना पाएगा।

ठीक ऐसे ही सभी वेबसाईट पर bots आकर सारा resourse ,consume कर सकते हैं और real user के लिए समस्या खड़ी कर सकते हैं।

लेकिन captcha के जरिए इन bots को इंसानों से अलग किया जा सकता है और उन्हें वेबसाईट पर कोई भी action पूरा करने से रोका जा सकता है।

कैप्चा कोड के नुकसान:

कैप्चा कोड के कुछ नुकसान भी है लेकिन इसके फ़ायदों के आगे नुकसान को देखना बेकार है लेकिन फिर भी एक बार इनके नुकसान के बारे में जान लेते हैं-

    1. Captcha भरने में user का समय लगता और उसे ये काफी disturbing भी लगता है.
    2. यदि आपका captcha थोड़ा सा कठिन हुआ तो कुछ यूजर के लिए ये मुसीबत बन जाता है यदि वो उसे हल नहीं कर पाते तो वो आपके website पर नहीं जा पाएंगे.
    3. आज के समय में captcha को हल करने के लिए कुछ बोट्स आ गए हैं जो की captcha को transfer कर देते हैं और उसे कोई रियल user भरकर दे देता है.

कैप्चा कोड का भविष्य में इस्तेमाल:

Captcha Code In Hindi- कैप्चा कोड को भविष्य में और भी बेहतर बनाकर इस्तेमाल किया जाएगा ताकि कोई भी bots किसी भी website पर spam ना कर सके।

Captcha को इस तरह से Design करना होगा की उससे यूजर का समय बर्बाद ना हो और bots उसे solve ना कर पाए।

भविष्य में captcha की जरूरत अभी से ज्यादा पड़ने वाली है क्योंकि आने वाले समय में और अधिक programmers होंगे और उनमे से बुरे लोग bots के जरिए spamming करने की कोशिश जरूर करेंगे।

निष्कर्ष:

जैसे-जैसे internet का जमाना बढ़ा वैसे ही इसपर spam करने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ी है और इसी को रोकने के लिए captcha का इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ लोगों ने captcha का भी तोड़ निकाल लिया जिसकी वजह से captcha को और भी advance और easy बनाया गया है।

इस लेख Captcha Code Kya Hai में हमने captcha से संबंधित सभी जरूरी जानकारी दी है। यदि आपका कोई और भी सवाल हो तो कमेन्ट करके जरूर पूछें। हम आपके सवाल का जवाब जल्द देने की कोशिश करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here