Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi

Computer Engineer कैसे बनें

Computer Engineer कैसे बनें.क्या आप कंप्यूटर में दिलचस्पी रखते हैं और आगे इसे कंप्युटर Profession की तरह लेना चाहते हैं? यदि हाँ तो आप इस लेख “कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स,जॉब और सैलरी” को पूरा पढ़ सकते हैं.

हमने इस लेख में कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स,कंप्यूटर इंजीनियर की सैलरी,कंप्यूटर इंजीनियर की जॉब और कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने इन सभी बिंदुओं का विस्तृत वर्णन किया है.

Computer Engineer कैसे बनें.के बारे में अधिक जानने से पहले एक बार कंप्यूटर के बारे में जानना जरूरी है.क्यूंकी Computer Science से संबंधित बहुत सारे कोर्स उपलब्ध हैं.जो नाम में एक दूसरे से मिलते जुलते हैं लेकिन असलियत में वो एक दूसरे से अलग हैं.

इसलिए कंप्यूटर इंजीनियरिंग को समझने के लिए कंप्यूटर के बारे मे जान लेते हैं.मुख्यतः कंप्यूटर के दो भाग कर सकते हैं-

1.हार्डवेयर(Hardware) : Hardware कंप्यूटर के वो हिस्से हैं जो हमें दिखाई देते हैं और जिन्हें हम छू सकते हैं.जैसे Mouse,Keyboard और वो सभी चीजें जिससे हमारा कंप्यूटर बना हुआ है और हमें दिखाई दे रहा है.

2.सॉफ्टवेयर(Software) : Software कंप्यूटर का Frame बन जाने के बाद उसमे कई सारे सॉफ्टवेयर यानी की Application और ऑपरेटिंग सिस्टम डाले जाते हैं जो हम स्क्रीन पर देखते हैं.जैसे की ऑपरेटिंग सिस्टम windows आजकल अधिक चलन में है।हम हमें छू नहीं सकते.  

Contents hide
2 कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स कौन से हैं और उनका टाइम Duration कितना है?

Computer Engineer कैसे बनें.कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है? 

वैसे तो आपको हेडिंग से पता चल रहा है की कंप्यूटर और इंजीनियरिंग के बारे में बात हो रही है।थोड़ी सी और गहराई में जाएं तो आपको समझ आएगा की कंप्यूटर विषय में इंजीनियरिंग की बात हो रही है.

लेकिन ये अन्य कंप्यूटर साइंस के कोर्स से अलग कैसे है?अभी ऊपर आपने पढ़ा की कंप्यूटर को दो भाग में बाँट सकते हैं हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग मे इन्हीं दोनों भागों की विशिष्ट पढ़ाई की जाती है.यानी की मुख्यतः कंप्यूटर बनाने की ट्रेनिंग दी जाती है.लेकिन ऐसा नहीं होता की कंप्यूटर इंजीनियर अकेले ही कंप्यूटर बनाने में सक्षम होते हैं.

कंप्यूटर बनाने के लिए अन्य विभाग के ज्ञानी लोगों की जरूरत भी पड़ती है.जैसे की Electronic Engineer.परंतु कंप्यूटर इंजीनियर का काम मुख्यतः कंप्यूटर बनाना और उसे विकसित करना होता है.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स कौन से हैं और उनका टाइम Duration कितना है?

अब हम Computer Engineering कैसे बनें मे उपलब्ध कोर्स के बारे में जानेंगे जो की आप 12th पास होने के बाद कर सकते हैं.कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपके पास नीचे दिए गए कंप्यूटर कोर्स उपलब्ध हैं.जिनमे से आप अपनी मर्जी से चुन सकते हैं.

इसके लिए आपको अपने संस्थान मे Department Of Computer Science And Engineering के विभाग मे दाखिला लेना होगा.

1.कंप्यूटर इंजीनियरिंग डिप्लोमा (Computer Engineering Diploma) :

ये तीन साल के कोर्स होते हैं जो की अधिकतर पालीटेक्निक कॉलेजों द्वारा कराया जाता है.लेकिन मैं आपको ये करने की सलाह नहीं दूंगा.

क्यूंकी Diploma करने भर से आप एक अच्छे कंप्यूटर इंजीनियर नहीं बन पाएंगे और आपको मनपसंद नौकरी नहीं मिल पाएगी.

2.स्नातक या undergraduate course :

इसमे आप स्नातक स्तर का कोर्स B.Tech यानी Bachelor Of Technology कर सकते हैं.

जो की चार साल के Duration का होता है.इसमें आपको कंप्यूटर इंजीनियरिंग का ब्रांच चुनना होगा.यदि आपको एक अच्छा कंप्यूटर इंजीनियर बनना है तो 12th  के बाद ये कोर्स आपके लिए अच्छा रहेगा.

3.Post graduate(pg) :

यदि आपने Computer में Graduation किया हुआ है तो आप पोस्ट Graduate यानी की मास्टर डिग्री ले सकते हैं.

इसके लिए आपको अपने ब्रांच मे M.Tech करना होगा.M.Tech का मतलब होता है Master Of Technology,और ये दो साल का कोर्स होता है.

यदि आपने मास्टर डिग्री भी ले रखी है तो आप Phd(Doctor Of Philosophy) का कोर्स भी कर सकते हैं.

इसके बाद आप रिसर्च के क्षेत्र में काम कर सकते हैं और अपना करिअर बना सकते हैं.

कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बनें?(How To Become a Computer Engineer)?

कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको 12th के बाद इंजीनियरिंग के प्रवेश परीक्षा में भाग लेना होगा और उसमे अच्छे अंकों के साथ मेरिट में आना होगा।तब आपको बढ़िया कॉलेज में admission मिलेगा.

Pulse Oximeter क्या है.

Computer Engineer कैसे बनें – प्रवेश परीक्षा और उसकी Eligibility :

प्रवेश परीक्षा (Entrance Examinations).

Computer Engineering.के लिए कई प्रवेश परीक्षाएं होती हैं।कुछ राष्ट्रीय स्तर पर तो कुछ राज्य स्तर पर. इसमे सबसे मशहूर Jee-Mains और Advance हैं।चलिए कुछ प्रवेश परीक्षाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं.

1.Jee-Mains :

यह भारत मे राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा है.

इसमें सफल होने पर आपको Nit(National Institute Of Technology) में दाखिला यानि Admission मिल जाता है साथ ही Jee Advance की परीक्षा के लिए भी योग्य होते हैं.

2.Jee-Advance :

जो लोग Jee Mains से सिलेक्ट हो जाते हैं वो लोग इस प्रवेश परीक्षा में भाग ले सकते हैं.इसमे चुने जाने के बाद आपका Admission भारत के सबसे प्रतिष्ठित संस्थान IIT मे हो जाता है.

3.Upsee :

यह उत्तर प्रदेश मे राज्य स्तर पर कराई जाने वाली इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा है.

इसमे चुने जाने पर आप AKTU और राज्य के अन्य उच्च संस्थान में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं.

इसी तरह से सभी राज्य अपने-अपने स्तर से इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षाएं कराती हैं, आप अपने राज्य मे पता कर सकते हैं.

4.Lpu-Nest :

यह Lovely Professional University द्वारा कराई जाने वाली राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है.

इसका पूरा नाम National Entrance And Scholarship test है। आप इसमें चुने जाने पर Lpu मे Admission ले सकते हैं.

ये सिर्फ कुछ प्रवेश परीक्षाएं हैं इसी तरह से यूनिवर्सिटी अपने स्तर और राज्य अपने स्तर पर प्रवेश परिक्षयएं कराते हैं.उनके बारे में सटीक और विस्तृत जानकारी के लिए आप उन Universities की वेबसाईट पर जाकर पता कर सकते हैं.

Eligibility :

Engineering की प्रवेश परीक्षा मे भाग लेने के लिए निम्न अर्हताएं होनी चाहिए-

1. 12th  मे कम से कम 75% अंक के साथ पास हुआ हो.ये Jee-Mains का Eligibility Criteria है.अलग-अलग शिक्षण संस्थान अपना-अपना नियम और अर्हताएं तय करते हैं।इसलिए आपको जिस शिक्षण संस्थान में जाना हो वहाँ के नियम पता करें.

2. आपने 12 वीं में गणित,रसायन विज्ञान तथा भौतिक विज्ञान मुख्य विषय के रूप में लिया हो तथा पास किया हो.

3. जिन विद्यार्थियों का 12 वीं का रिजल्ट नहीं आया है लेकिन उन्होंने परीक्षा दे दि है तो वो भी कंप्यूटर इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में बैठ सकते हैं.

बेहतरीन कॉलेज या संस्थान :

Computer Engineering.How To Become a Computer Engineer – वैसे तो भारत में बहुत सारे कॉलेज हैं जो कंप्यूटर इंजीनियरिंग का कोर्स कराते हैं.लेकिन हम आपको कुछ गिने चुने कॉलेज या संस्थान का नाम नीचे दे रहे हैं जो की काफी अच्छे हैं.अब इसका मतलब ये नहीं की जिनका नाम इसमे नहीं है वो अच्छे नहीं हैं वो भी अच्छे हो सकते हैं आप कहीं भी Admission लेने से पहले उसका रिव्यू जरूर देखें.

    1. लगभग सभी IIT जहां पर ये कोर्स कराया जाता है.
    2. BITS हैदराबाद.
    3. Delhi Technological University.
    4. लगभग सभी NIT.
    5. IIIT(International Institute Of Technology).
    6. सभी राज्य स्तर के संस्थान.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग का स्कोप

कंप्यूटर इंजीनियरिंग करने के बाद कुछ लोग नौकरी करने में लग जाते हैं और कुछ लोग आगे की पढ़ाई जारी रखते हैं.आगे हम दोनों ही पहलू पर चर्चा करेंगे.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप सॉफ्टवेयर और it कंपनी,टेलीकम्यूनिकैशन,कंप्यूटर नेटवर्किंग,सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट,ऑटमोटिव इंडस्ट्री,एरोस्पैस, कॉलेज तथा स्कूल्स में नौकरी पा सकते हैं.

कंप्युटर में जॉब्स देने वाली शीर्ष संस्थाएं

    1. TCS(Tata Consultancy Services).
    2. CTS.
    3. Wipro.
    4. Apple.
    5. Microsoft.
    6. Amazon.
    7. Toshiba.
    8. HP.
    9. Lenovo.
    10. LG.
    11. Samsung.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग के बाद पढ़ाई 

यदि आपने कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी ली है और आप अभी नौकरी ना करके आगे पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं तो आप M.Tech कर सकते हैं। M.Tech का फूल फॉर्म होता है Master Of Technology.

आपको अच्छे संस्थान से M.Tech करने के लिए GATE की परीक्षा देनी पड़ती है।इसमे पास होने पर आप देश के शीर्ष संस्थानों या महाविध्यालयों में दाखिला ले सकते हैं.

यदि इसके आगे भी आपको पढ़ने का मन है तो आप phd कर सकते हैं।पीएचडी करने के बाद आपको रिसर्च में काम करने का मौका मिलेगा।

जॉब्स और जॉब प्रोफाइल

    1. सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर : इस पद पर आपका काम मुख्यतः नए सॉफ्टवेयर बनाना और यूजर अनुभव को बेहतर बनाने का होता है.
    2. टेक्निकल सोलूसन इंजीनियर: इसमे आपको कंप्यूटर के हार्डवेयर और  सॉफ्टवेयर में आने वाली तकनीकी गड़बड़ी या खराबी को देखने का काम होता है.
    3. कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग इंजीनियर: इस पद पर आपको कंप्यूटर के नेटवर्क संबंधी कामों की देखरेख और निगरानी करनी होती है.
    4. इन्स्टालेशन इंजीनियर: इसमे आपको मुख्यतः कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर,हार्डवेयर और नेटवर्क को ठीक तरह से लगाने का काम होता है.
    5. सिस्टम इंजीनियर: सिस्टम इंजीनियर का काम सॉफ्टवेयर सर्किट और कंप्यूटर के अन्य भाग को विकसित करना,उसकी टेस्टिंग करना होता है.

इनके अलावा अन्य तरह के पद पर कार्य होते हैं जो की सभी लगभग कंप्यूटर को बनाने से लेकर उसे विकसित करने के अंतर्गत ही होता है.

Computer Engineer कैसे बनें – सैलरी(Salary)

कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग के बाद आपको अच्छी खासी सैलरी मिलती है.

लेकिन ये सभी के कॉलेज के आधार पर होता है.आप जीतने अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज से हैं आपको उतना ही अधिक सैलरी मिलती है.फिर भी एक लगभग का आंकड़ा नीचे दिया गया है.

    1. Fresher : लगभग 2 लाख सलाना.
    2. 3 से 5 वर्ष के अनुभव के बाद: लगभग 4 से 6 लाख सलाना.
    3. 5 वर्ष से अधिक अनुभव: लगभग 8 लाख से ऊपर.

कंप्यूटर साइंस और कंप्यूटर इंजीनियरिंग में अंतर.Computer Science And Computer Engineering In Hindi :

यदि आप किसी से पूछेंगे की कंप्यूटर साइंस क्या है?और ये कंप्यूटर इंजीनियरिंग से अलग कैसे है तो अधिकतर लोग कहेंगे की दोनों एक ही हैं लेकिन चलिए हम अंतर बताते हैं.कंप्यूटर साइंस और कंप्यूटर इंजीनियरिंग देखने में एक जैसे लगते हैं लेकिन इन दोनों में काफी फरक होता है.कंप्यूटर इंजीनियर का काम ज्यादातर कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर इंटरफेस बनाने का होता है।यानि की शुरुआती काम कंप्यूटर इंजीनियर का होता है.

वहीं कंप्यूटर साइंस में सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी खोजना,कई तरह की प्रोग्रामिंग भाषा जानना,ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में गहरी जानकारी रखना तथा डेटाबेस को Maintain रखने का काम होता है. 

निष्कर्ष और सुझाव (Conclusions And Suggestions) :

आशा है की आपने Computer Engineer कैसे बनें के बारे में पूरा लेख पढ़ लिया होगा और इस बात की पूरी जानकारी होगी की कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है और कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए क्या-क्या करना होगा.

लेकिन फिर भी उन सभी बातों को समेटते हुए एक बार फिर पूरी प्रक्रिया बता देते हैं.जब आप कक्षा 11 वीं में पहुंचते हैं तभी से आपको अपने करिअर की दिशा का चुनाव कर लेना चाहिए.हालांकि ये चुनाव करने में आपको कुछ महीनों का वक्त लगाना चाहिए.

उसके बाद जैसे ही आपको ये पता लगे की भविष्य में आप क्या करना चाहते है उसके अनुसार अपनी तैयारी शुरू करें क्यूंकी आज के समय में अच्छे संस्थान में दाखिला पाने के लिए पहले से तैयारी करनी पड़ती है. 

Animesh Bhaumik
Hello Friends, Welcome to our site techbagz.com. मे Animesh Bhaumik a Commerce Graduate and Techbagz की टेक्निकल ऑथर एंड फाउंडर हे. नई नई टेक्नोलॉजी एंड others information ब्लॉग में पोस्ट करता रहता हु. अगर आपको इ सब आर्टिकल पसंद आता हे तो हमें बहुत खुसी होगा.We Techbagz Support Digital India.

Related Articles

NFC Kya Hai.NFC Details In Hindi.

NFC Kya Hai.आज के समय में wireless devices या gadgets का इस्तेमाल काफी बढ़ रहा है। क्योंकि wireless होने का फायदा ये होता है...

UPI Kya Hai.UPI Details In Hindi

UPI Kya Hai.आजकल यूपीआई (UPI) का इस्तेमाल कर digital transaction करना काफी आसान हो गया है। नोटबंदी के बाद से ही सरकार digital payment...

Captcha Code Kya Hai

Captcha Code Kya Hai.कैप्चा कोड भरते समय आपके भी मन में आता होगा की ये क्या है और आपसे ये क्यों भरवाया जाता है।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

251FansLike
200FollowersFollow
200FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

Latest Articles

%d bloggers like this: