Computer Keyboard क्या है

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है। की बोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहते है। यह टाइपराइटर के  कुंजीपटल से अलग होता है। इसमें बहुत से बटन होते है जो विभिन्न प्रकार के काम करते है।

इसके साथ Mouse का भी उपयोग होता है। की बोर्ड की सहायता से कम्प्यूटर पर लिखा जाता है। यह कम्प्यूटर के setup का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

की बोर्ड और उसके फंक्शन को समझने को की बोर्डिंग कहते है। कम्प्यूटर में इनपुट देने या feed और टाइप करने के लिए की बोर्डिंग की जानकारी जरूरी है।

Computer Keyboard क्या है,यह कहाँ पाया जाता है?

यह मुख्य रूप से कम्प्यूटर, लैपटॉप व मोबाइल फोन में पाया जाता है। इसका उपयोग वाटस एप, instagram व अन्य सोशल मिडिया साइट्स पर caption लिखने व वार्तालाप करने के लिए किया जाता है।

इंजीनियर इस कीबोर्ड का प्रयोग कोडिंग व mapping के लिए करते है तथा कीबोर्ड के द्वारा आर्किटेक्चर को equation solve करने में यह मददगार  है।

मुख्यतः प्रयोग-

    • कम्प्यूटर में डाटा एन्ट्री में
    • Document राइटिंग में
    • रिकॉर्ड व डाटा को track करने में जिससे डाटा एन्ट्री का काम आसान हो जाए

Computer Keyboard क्या है-की बोर्ड का आविष्कार (Invention Of Key Board)

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है।क्रिस्टोफर लैथम शोल्ज ने सन् 1868 में व्यवहारिक टाइपराइटर और Qwerty की बोर्ड का आविष्कार किया। यह एक अमरीकी आविष्कारक थे। इनका जन्म सन् 1819 में हुआ था व मृत्यु सन् 1890 में।

इनको फादर ऑफ टाइपराइटर कहा जाता है । बाद में इसी की बोर्ड में अन्य सुधार कई आविष्कार कर्ताओं द्वारा किया गया।

की बोर्ड कैसे कार्य करता है?

इसपर टाइप करने पर entered डाटा को मशीन लैंग्वेज में बदल दिया जाता है। इसके बाद CPU उस डाटा को समझकर अपने हिसाब से process करती है।

की बोर्ड कनेक्ट करना

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है।पहले की बोर्ड को कम्प्यूटर के साथ कनेक्ट करने के लिए PS/2 या किसी सीरियल कनेक्टर का इस्तेमाल किया जाता था।

बाद में USB और वायरलेस कनेक्टर का इस्तेमाल होने लगा। लैपटॉप और मोबाइल फोन में यह अलग से कनेक्ट नहीं किया जाता है। ऐसे डिवाइस में सुविधा उपलब्ध रहती है।

भाषा और कार्यप्रणाली अनुसार की बोर्ड के प्रकार (Keyboard According To Language & Methodology)

    • QWERTY- इसे पुरी दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पहले के 6 लेटर अनुसार ही नामित किया गया है। यह लेटर Qwerty है। यह top row में रहते है।
    • AZERTY- यह फ्रांस द्वारा उपलब्ध कराया गया की बोर्ड है। इसे ज्यादातर फ्रांस के लोग वार्तालाप करने के लिए इस्तेमाल करते है।
    • DVORAK- इसमें उंगली का मूवमेंट कम होता है। जिस कारण यह अन्य की बोर्ड की तुलना में जल्दी टाइप करता है।
    • COLEMARK- ये आधुनिक की बोर्ड layout है। यह टाइपराइटर को फास्ट कर देता है।

मूल्य के अनुसार की बोर्ड के प्रकार(Type Of Keyboard According To Price)

    • मेम्ब्रेन की बोर्ड- ये काफी सस्ते होते हैं और मार्केट में आसानी से मिल जाते है। इसकी key प्रेस करने पर स्वट स्वत आवाज आती है। जेनरल यूज के लिए यह ठीक है। यह उन लोगों के लिए अच्छा नहीं है जो अधिक टाइप करते है।
    • मैकेनिकल की बोर्ड- इसके प्रत्येक बटन के नीचे स्प्रिंग व स्वीच का प्रयोग किया जाता है। इसमें आप जब भी बटन दबाएंगे तब स्प्रिंग के कारण उंगली पीछे पुश होगी। इससे उंगलियों को आराम मिलेगा और आप ज्यादा लिख पाएंगे।
    • गेमिंग की बोर्ड- यह की बोर्ड गेम्स खेलने के लिए बने होते है। इसके प्रत्येक बटन के नीचे मैकेनिकल स्वीच होने से गेमिंग का अच्छा एक्सपीरियंस होता है। इसमें कई यूनिक फीचर होते है। इसमें कई कलर में backlighting भी होती है।
    • Ergonomic की बोर्ड- अगर आपको लगातार टाइप करना पड़ता है तो यह बेस्ट है। इसका डिवाइस V शेप में होता है। इससे इसका उपयोग करना आरामदेह है।
    • वायरलेस की बोर्ड- इसमें वायर नहीं होते। कनेक्ट करने के लिए Wi- Fi का इस्तेमाल किया जाता है । Bluetooth के द्वारा भी इसे कनेक्ट कर सकते है । अगर आप केबल नहीं पसंद करते तो यह आपके लिए अच्छा है।
    • मल्टी मीडिया की बोर्ड- इसमें कई कार्य के लिए extra key उपलब्ध होते है। अतिरिक्त की के कारण यह सुविधाजनक होता है । इसमें play और pause के बटन के साथ volume के भी बटन होते है। यह उन छात्रों के लिए सर्वोच्च है जो online class करते है।

की बोर्ड के बटन व उनकी विशेषता

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है।की बोर्ड में कई सारे लेटर, नम्बर व symbol होते हैं जिसकी सहायता से कम्प्यूटर का काम सरल हो जाता है।आसानी से फंक्शन करने के लिए यह जानना अतिआवश्यक हो जाता है की कौन की या कौन बटन किस category का है।

    1. अल्फान्यूमरीक की- इसमें symbol तथा कमांड की नहीं होता है । इसमें नम्बर लेटर के ऊपर या दाई ओर होते है। शिफ्ट बटन को होल्ड कर प्रेस करने पर symbol release होते है जो कम्प्यूटर के स्क्रीन पर दिखाई देते है। ऊपर में Qwert और y होते है। ऐसे की बोर्ड मोबाइल फोन में पाए जाते है।
    2. Punctuation की- ये विभिन्न विराम चिह्न को कमांड करते है। जैसे कोमा, प्रश्न चिह्न इत्यादि। इन्हें की बोर्ड में लेटर के दाईं ओर पाया जाता है।
    3. नैवीगेशन की- ये लेटर की ओर नम्बर के बीच में पाए जाते है। इसमें चार तीर होते है ऊपर , नीचे, दाएं और बाएं नैवीगेत करने के लिए। ये माऊस की तरह करशर को ऊपर, नीचे करने का काम करते है। इसका उपयोग web site history को scroll करने में भी होता है।
    4. कमांड की- ये कम्प्यूटर को कमांड देते है जैसे delete, return, close, open, आदि।
    5. स्पेशल की- ये volume को ऊपर, नीचे करने, वीडियो को आगे बढाने या पीछे ले जाने, में मदद करते है। मुख्य रूप से इसमें shift key या tab key जैसे की आते है।

Computer की प्रकार.

कार्य के आधार पर की के प्रकार

    1. फंक्शन की- यह की बोर्ड के सबसे ऊपरी हिस्से में पाए जाते है। इन्हें F1 की से F12 की तक लिखा जाता है। इनका कम्प्यूटर के प्रोग्राम में specific कार्य होता है। फंक्शन की द्वारा आप प्रोग्राम में changes ला सकते है।
    2. टाइपिंग की- सबसे ज्यादा उपयोग इस की का किया जाता है। यह मोबाइल में व लैपटॉप में भी उपलब्ध रहते है। टाइपिंग की में कई तरह के लेटर, नम्बर और संकेत होते है।
    3. कंट्रोल की- इसमें ctrl, alt, windows, menu, pause, जैसे कई की होते है। इसका उपयोग कम्प्यूटर के system को कंट्रोल में रखना व कमांड देना होता है ।
    4. नैवीगेशन की- इसमें arrow, home, insert, delete, page down व अन्य की होते है। इसका उपयोग document में इधर उधर जाने में होता है।
    5. Indicator लाइट्स- यह तीन मुख्य प्रकार के होते है। Num lock, Scroll lock, caps lock। जब पहली लाइट जलती है इसका मतलब है की Numerical Pad चल रहा है और जब दूसरी व तीसरी लाइट जलती है इसका मतलब है की upper case और lower case व page settings में बदलाव किया जा रहा है।
    6. न्यूमरीक की- इसे calculator key भी कहते है। इसमें नम्बर होते है जिसकी मदद से लोग calculate कर सकते है।

की बोर्ड के सारे बटन:

Caps lock, Num lock, Scroll lock, Qwert, Alt, Ctrl, Windows, Shift Key, Tab Key, Enter, Menu, नैवीगेशन की,  Page Up, Page Down, Delete, Backspace, F1, F2, F3, F4, F5, F6, F7, F8, F9, F10, F11, F12, नम्बर 1 से 9 तक, 0 के साथ, Escape, Scroll, Space Bar, Print Screen, कमांड,  end, home, insert, pause, इत्यादि।

इनके अलावा कई संकेत या symbol भी की बोर्ड पर मौजूद होते है।

कंट्रोल की व नैवीगेशन की के प्रकार  ( उनकी विशेषताओं के साथ )

    1. Esc- Escape की का इस्तेमाल किसी चल रहे task को कैंसल करने के लिए किया जाता है । नाम अनुसार यह उस प्रोग्राम से आपको ‘escape’ कराता है।
    2. Ctrl- इस की का उपयोग किसी चीज़ को नाम अनुसार कंट्रोल करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा आप प्रोग्राम का shortcut भी बना सकते है।
    3. Alt- ये Alternate की है। इसकी मदद से alternate feature या किसी alternate फंक्शन का उपयोग किया जाता है।
    4. Window logo- यह Start मेनू को खोलने में मददगार है।
    5. Menu की- एक लिस्ट से विकल्प चुनने में इसका उपयोग किया जाता ह।
    6. Prtscrn की- स्क्रीन की इमेज लेने में या screenshot लेने में यह सहायता करता है।
    7. Arrow- चार तीर होते हैं जिसका इस्तेमाल पेजों को ऊपर या नीचे करने या दाएं और बाएं करने में किया जाता है।
    8. Home- डाक्यूमेंट को एकदम शुरुआत में लाने में मददगार है। इससे आपको ज्यादा scroll नहीं करना पड़ेगा।
    9. End Key- दस्तावेज का आखिरी पेज पढने में सहायता के लिए उपयोग होता है।
    10. Insert- Insert mode को on या off करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है ।
    11. Page up- इसे page को ऊपर खिसकाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
    12. Page down- इसे page को नीचे लाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
    13. Delete- इसके द्वारा किसी चीज़ को खत्म करने के लिए उपयोग किया जाता है ।

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है।अंतिम आते है Numeric की- इसमें 0 से लेकर 9 तक के गणित के चिह्न होते है। यह संख्या के भाव को दर्शाता है। इनका उपयोग संख्या व चिह्न के संकेत को लिखने में किया जाता है। इसे नैवीगेशन की के तौर पर पर भी उपयोग कर सकते है।

कितने फंक्शन की होते है और किस प्रकार के?

ट्रेडिशनल की बोर्ड में 12 फंक्शन की व एप्पल के डेस्कटॉप में 19 स्पेशल फंक्शन की होते है। यह विभिन्न कार्यों में मददगार होते है और कोडिंग आसान कर देते है।

कितने अल्फाबेटिक की होते है? :  Ans. 26

कितने नम्बर की होते है? :          Ans.10

कितने symbol की होते है? :   Ans.40

कितने Row होते है? :            Ans.6

की बोर्ड का किस प्रकार उपयोग करे?
    • कम्प्यूटर में की बोर्ड अच्छे से कनेक्ट कर लें।
    • की बोर्ड की बेसिक जानकारी जरूर से प्राप्त कर लें।
    • टाइप करने से पहले फिंगर पोजीशन को सेट कर ले ताकि लिखते वक्त उंगलियों पर प्रेशर न बने।
    • Left hand को ASD के ऊपर रखे और Right Hand को JKL के ऊपर रखते हुए टाइप करना शुरू करे।
    • पानी की वस्तुओं को दूर रखे।
    • कम्प्यूटर की स्क्रीन पर ध्यान देते हुए टाइप करे।
    • लिखने व टाइप करने का हर दिन practice करे। अभ्यास ही एक ऐसी मूल्यवान शक्ति है जिसके कारण इंसान की क्षमता सीमा पार हो जाती है। हर दिन अभ्यास करने से आप जल्दी व बिना झिझक टाइप कर पाएंगे ।
की बोर्ड में लैंग्वेज कैसे चेंज करे?

Computer Keyboard क्या है, कैसे काम करते है।की बोर्ड की पहली लैंग्वेज english होती है। अगर आप हिंदी में लिखना चाहते है तो आपको लैंग्वेज चेंज करना होगा। इसके लिए:

    • Windows key को प्रेस करें और कंट्रोल पैनल को खोले।
    • अब लैंग्वेज पर click करें।
    • Change Keyboard पर जाए।
    • जेनरल टैब पर ADD पर click करें।
    • अब अपनी भाषा पर click कर OK को दबाए।
    • आपके द्वारा input भाषा show होने लगेगी। अब इसपर अंत में OK पर click करें। इसके बाद आप कभी भी लैंग्वेज बार पर जा कर अपनी भाषा हिंदी से इंग्लिश या इंग्लिश से हिंदी कर सकते है।
PS/2,  और USB KEYBOARD में अंतर:

Ps/2 अधिकतर पुराने कम्प्यूटर में प्रयोग होते है। आज के नए मदरबोर्ड model में इसे जोड़ने के लिए कनेक्टर दिए जाते है। यह बहुत फास्ट प्रतिक्रिया करता है। आज भी इसका उपयोग IT Experts करते है।

USB की बोर्ड कम्प्यूटर से जुड़ने के लिए USB port के यूज पर निर्भर होते है। सभी आधुनिक कम्प्यूटर में इसका उपयोग किया जाता है।  यह एक Plug and Play Interface है।

यह कनेक्ट होते ही कार्य करने लगता है जबकि Ps/2 में कुछ समय settings में लगता है क्योंकि इसमें CPU को बार बार पुछना पड़ता है की क्या करना है। हालांकि आज के जमाने में CPU भी काफी हद तक बहुत पावरफुल हो गया है।

निष्कर्ष क्या है? (Conclusion)

की बोर्ड एक बहुत ही ज्यादा उपयोगी tool है जो सुविधाजनक भी है। यह कम्प्यूटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जो लिखने, जानकारी लेने व रिकॉर्ड रखने में लोगों की मदद करता है।

इसके जरिये लोग कोडिंग, एडिटिंग, script writing जैसे अनेक प्रकार के कार्य कर सकते है । यह सस्ता और टिकाऊ भी होता है क्योंकि इसमें प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है।

इस की बोर्ड का प्रयोग छोटे से लेकर बूढे लोगों तक सब कोई कर सकते है। बस आपको इसकी अच्छी जानकारी होनी चाहिए। आज के युग में की बोर्ड व कम्प्यूटर की अच्छी  जानकारी कैरियर के लिए आवश्यक है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here