What Is Computer Software

Computer Software क्या है.आपने अभी तक कई बार सॉफ्टवेयर का नाम सुना होगा और आपको कई बार समस्या भी आती होगी जब कई तरह के सॉफ्टवेयर के नाम सुनते होंगे और आपको समझ नहीं आता होगा की ये किस तरह का सॉफ्टवेयर है।

वैसे सॉफ्टवेयर के बारे में और जानने से पहले आपको एक बात बता दें की ये कंप्युटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है इसके बिना कंप्युटर की कल्पना भी नहीं की जा सकती। 

Computer Software क्या है.

सॉफ्टवेयर कंप्युटर सिस्टम के दिल की तरह होता है।जिस तरह से हार्डवेयर से कंप्युटर का  ढांचा बनता है उसी तरह से सॉफ्टवेयर इसे जीवन प्रदान करता है.

और क्या काम कब और कैसे करना है इसका निर्देश सॉफ्टवेयर ही देता है।सॉफ्टवेयर के बिना कंप्युटर, हार्डवेयर का एक डब्बा मात्र है जो किसी काम का नहीं।

जिस तरह हम अपने मन से कोई भी काम कर सकते हैं कंप्युटर वैसे नहीं कर सकता है और उसे हर काम के लिए कमांड देना पड़ता है।

इसे कमांड देने के लिए इसकी भाषा में बहुत सारे कोड लिखे जाते हैं और जब इन्हीं कोड को एक जगह सुव्यवस्थित तरीके से इक्कठा किया जाता है तो उसे सॉफ्टवेयर कहते हैं।

Computer Software की परिभाषा-Definition of Software.

Computer Software क्या है.सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे हुए कोड का एक समुच्चय या समूह है जो की कंप्युटर को कोई विशिष्ट काम करने के लिए सुवायावस्थित ढंग से दिशानिर्देश प्रदान करता है.

और इसी के अनुसार कंप्युटर ये निर्णय लेता है की कब क्या करना है।सॉफ्टवेयर के बिना कंप्युटर एक डब्बे से ज्यादा कुछ नहीं है।

सॉफ्टवेयर की विशेषताएं -Characteristics of Software.

सॉफ्टवेयर की अपनी कुछ विशेषताएं हैं जो की हम नीचे देखेंगे-

    1. सॉफ्टवेयर को ना तो छुआ जा सकता है और ना ही देखा जा सकता है इसे बस इस्तेमाल किया जा सकता है।
    2. सॉफ्टवेयर का निर्माण नहीं किया जाता है बल्कि इसे प्रोग्रामिंग भाषा में कोड लिखकर विकसित किया जाता है।
    3. सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए किसी तरह के पदार्थ की जरूरत नहीं पड़ती।
    4. सॉफ्टवेयर समय के साथ खराब या damage नहीं होता बल्कि अगले सॉफ्टवेयर वर्ज़न आने के बाद पुराने वाले का इस्तेमाल कम होता है।
    5. एक बार सॉफ्टवेयर बन जाने के बाद उसे अनगिनत कंप्युटर में आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की परिभाषा- Hardware and Software.

Computer Software क्या है.वैसे तो हमने सॉफ्टवेयर की परिभाषा ऊपर दी हुई है और अब हार्डवेयर की परिभाषा जान लेते हैं क्योंकि जिस तरह से सॉफ्टवेयर के बिना कंप्युटर नहीं चल सकता उसी तरह हार्डवेयर के बिना कंप्युटर नहीं बन सकता।

कंप्युटर हार्डवेयर ,कंप्युटर के वो हिस्से हैं जिन्हे हम छू सकते हैं और देख सकते है।कंप्युटर हार्डवेयर के अंतर्गत मुख्यतः तीन चीजें आती हैं इनपुट डिवाइस ,आउट्पुट डिवाइस और प्रोसेसर।

जैसा की हम जानते हैं इनपुट डिवाइस के जरिए कंप्युटर को कमांड दिया जाता है उसके बाद cpu उस कमांड को प्रोसेस करता है और processed रिजल्ट को output डिवाइस के जरिए यूजर तक पहुँचाता है।

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं-Types of Software.

आज के समय में देखें तो सॉफ्टवेयर बहुत सारे प्रकार के हैं लेकिन फिर भी यदि इसे बांटने की कोशिश करें तो इसे तीन भाग में बाँट सकते हैं।

    • System software
    • Application software
    • Programming software

1. सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है- System Software:

सिस्टम सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का एक कलेक्शन है जो की यूजर और हार्डवेयर के बीच लिंक प्रदान करता है या फिर यूं कहें तो ये यूजर को हार्डवेयर से जोड़ता है।

इसे मेन सॉफ्टवेयर भी कहते हैं क्योंकि इसके बिना अन्य सॉफ्टवेयर कंप्युटर में नहीं डाले जा सकते।

पूरे कंप्युटर सिस्टम को चलाने और कंट्रोल करने का काम सिस्टम सॉफ्टवेयर ही करता है।कंप्युटर हार्डवेयर तब तक सिर्फ एक डब्बा होता है जब तक की उसमें सिस्टम सॉफ्टवेयर ना डाला जाए।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के भी तीन प्रकार होते हैं-

a. ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर

ये कंप्युटर में एक महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर है इसके बिना कंप्युटर को चलाया नहीं जा सकता।इसे मेन सॉफ्टवेयर भी कहा जाता है।

यही ये निश्चित करता है की आपके कंप्युटर का इंटरफेस कैसा होगा और आप किस-किस तरह के काम कर पाएंगे।इसी सॉफ्टवेयर के आधार पर कंप्युटर में अन्य सॉफ्टवेयर डाले जाते हैं।सबसे पहले इसी को इंस्टॉल किया जाता है।

b. Language Processor.

ये वो प्रोसेसर होते हैं जो की प्रोग्रामिंग भाषा में दिए गए किसी भी कमांड या इन्स्ट्रक्शन को machine language में परिवर्तित करते हैं।जब कंप्युटर में किसी तरह का प्रोग्रामिंग language डाला जाता है तभी language processor को भी उसमें लोड कर दिया जाता है।

c. System Utility Programs Software.

ये सॉफ्टवेयर कंप्युटर में ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल करने के साथ ही डाल दिया जाता है।ये सॉफ्टवेयर कंप्युटर में maintenance का काम करते हैं जैसे की बैकअप लेना,डिस्क स्कैन करना आदि।

2. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है -Application Software:

Computer Software क्या है.Application सॉफ्टवेयर वो सॉफ्टवेयर हैं जो की किसी निश्चित काम के लिए बनाए जाते हैं और जिनको जरूरत होती है वो उसे अपने कंप्युटर में इंस्टाल करके इस्तेमाल करते हैं।

ये कई तरह के होते हैं और सबकी अपनी-अपनी खासियत होती है।

इसमें सिस्टम सॉफ्टवेयर की तरह कोई पाबंदी नहीं है की उसके बिना कंप्युटर चलेगा ही नहीं।application सॉफ्टवेयर के बिना भी कंप्युटर चल सकता है और जब आपको जिस application सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है तब आप उसे इंस्टाल कर सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर MS-office ,PageMaker,media player,video editing softwares  ये सब application सॉफ्टवेयर हैं आप इन्हे तभी इंस्टाल करते हैं जब आपको इनकी जरूरत होती है।

उदाहरण के तौर पर हम आगे कुछ application सॉफ्टवेयर के नाम और उनके प्रकार बता देते हैं।

  प्रकार              Application सॉफ्टवेयर के नाम 
Word Process Software MS Word, WordPad and Notepad
Database Software Oracle, MS Access etc
Spreadsheet Software Apple Numbers, Microsoft Excel
Multimedia Software Real Player, Media Player
Presentation Software Microsoft Power Point, Keynotes
Information Worker Software   Documentation Tools, Resource Management Tools
Application Suites OpenOffice, Microsoft Office

 

The Difference Between System Software and Application Software.

सिस्टम सॉफ्टवेयर और application सॉफ्टवेयर में अंतर नीचे दिया गया है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर

Application सॉफ्टवेयर

  • ये कंप्युटर का मेन सॉफ्टवेयर होता है इसके बिना कंप्युटर नहीं चल सकता।
  • ये कंप्युटर का मेन सॉफ्टवेयर नहीं होता है और इसके बिना भी कंप्युटर चल सकता है।
  • इसे कंप्युटर बनाते समय इंस्टॉल कर दिया जाता है।
  • इसे यूजर अपने जरूरत के हिसाब से बाद में इंस्टाल कर लेता है।
  • कंप्युटर में हो रही सारी गतिविधियों को यही संभालता है।
  • ये कंप्युटर में किसी विशेष कार्य के लिए इंस्टाल किया जाता है और ये उस विशेष कार्य के अलावा कुछ और नहीं करता।
  • यह किसी और प्रकार के सॉफ्टवेयर पर निर्भर नहीं रहता है।
  • ये कंप्युटर में लगे ऑपरेटिंग सिस्टम पर निर्भर करता है और इसे उसी के अनुसार विकसित भी करना पड़ता है।
  • इसका एक प्रमुख सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो की सबसे महत्वपूर्ण और जरूरी है।
  • इसका कोई प्रमुख सॉफ्टवेयर नहीं है हर व्यक्ति अपनी-अपनी जरूरत के हिसाब से अलग-अलग application सॉफ्टवेयर इंस्टाल करता है।

 

3. प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर क्या है-Programming Software:

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कोडिंग के जरिए नए-नए प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए किया जाता है।

यूं देखेँ तो ये एक भाषा होती है जिसमे सॉफ्टवेयर डेवलपर्स कोडिंग करके किसी नए सॉफ्टवेयर को डिवेलप करते हैं।

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हर कोई नहीं करता है ये सिर्फ सॉफ्टवेयर डेवलपर्स इस्तेमाल करते हैं और नए-नए सॉफ्टवेयर बनाते हैं।

इसका इस्तेमाल करने के लिए कोडिंग भाषा की जानकारी होनी चाहिए तभी आप इसपर कुछ काम कर सकेंगे।

चलिए कुछ प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर के नाम जान लेते हैं-

    • Notepad
    • Visual studio
    • Sublime text
    • Xcode
    • AWS cloud 9
    • Intellij IDEA
    • Text mate
    • Emacs
    • Brackets
    • Netbeans
    • Eclipse

इसमें से कुछ सॉफ्टवेयर फ्री हैं लेकिन कुछ के हो सकता है पैसे देने पड़ें वो आप इनकी वेबसाईट पर जाकर पता कर सकते हैं।  

सॉफ्टवेयर डेवलपर-Software Developer

सॉफ्टवेयर कंपनियां-Software Company.

जैसे-जैसे तकनीक का विकास हो रहा है वैसे ही उस तकनीक को बाजार में लाने का काम ये कंपनियां करती हैं।

सॉफ्टवेयर कंपनियां लोगों के जरूरत को समझती हैं और उसके अनुसार सॉफ्टवेयर विकसित करती हैं और लोगों तक पहुंचाती हैं।चलिए कुछ कंपनियों के बारे में जानते हैं।

    1. Microsoft
    2. Oracle
    3. SAP
    4. ADP
    5. Adobe inc.
    6. Salesforce
    7. VMware
    8. Intuit
    9. Service Now
    10. Work day
    11. Dassault systems

वैसे तो दुनिया भर में बहुत सारी सॉफ्टवेयर कंपनियां हैं लेकिन ये कुछ बड़ी कंपनियों के नाम हैं।सभी कंपनियां अलग-अलग सॉफ्टवेयर बनाती हैं और लोग अपने जरूरत के अनुसार सॉफ्टवेयर को खरीदते हैं।

विंडोज़10 के लिए सॉफ्टवेयर-Software For Windows 10.

Computer Software क्या है.जैसा की आप जानते हैं विंडोज़ 10 एक ऑपरेटिंग सिस्टम है और हर ऑपरेटिंग सिस्टम का अपना अलग-अलग सॉफ्टवेयर होता है।

यदि किसी और ऑपरेटिंग सिस्टम का सॉफ्टवेयर आप विंडोज़ 10 में डालने की कोशिश करेंगे तो वो इसमें इंस्टाल नहीं होगा।इसके लिए आपको विंडोज़ 10 के लिए बने सॉफ्टवेयर ही चाहिए।चलिए कुछ विंडोज़ 10 सॉफ्टवेयर के बारे में जान लेते हैं।

  1. Mozilla Firefox. एंड  Google chrome:
    ये दोनों सॉफ्टवेयर एक तरह के ब्राउजर हैं जो जि इंटरनेट ब्राउज़ करने के काम में आते हैं।दुनिया भर में ज्यादातर इंटरनेट यूजर गूगल chrome का ही इस्तेमाल करते हैं।ये दोनों ही फ्री हैं और विंडोज़ 10 में सपोर्ट करते हैं।
  2. Skype:
    ये एक तरह विडिओ conferencing सॉफ्टवेयर है जिसके जरिए आप एक साथ कई लोगों से विडिओ कॉल पर बात कर सकते हैं वो भी रियल टाइम में।ये माइक्रोसॉफ्ट का एक प्रोडक्ट है और बिल्कुल फ्री है।
  3. Zoom:
    जब अनलाइन मीटिंग की बात होती है सबसे पहले इसी का नाम आता है।इसके जरिए आप बहुत सारे लोगों के साथ जुड़ सकते हैं।इसका इस्तेमाल ज्यादातर मीटिंग लेने या कोई ट्रैनिंग के लिए किया जाता है।इस समय इसका इस्तेमाल शिक्षा के क्षेत्र में भी हो रहा है।ये फ्री और पेड दोनों है जिन लोगों को कम जरूरत है वो फ्री वाला इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन जिनकी जरूरत अधिक होती है उन्हे इसके पैसे देने पड़ते हैं।
  4. Adobe Photoshop:
    इसका इस्तेमाल फोटो एडिटिंग के लिए किया जाता है।ये एक कमाल का सॉफ्टवेयर है और ग्राफिक्स डिजाइनर भी इसका इस्तेमाल करते हैं।लेकिन ये आपको मुफ़त में नहीं मिलते हैं आपको इसके पैसे देने पड़ते हैं।
  5. VLC Media Player:
    ये मीडिया प्लेयर के तौर पर इस्तेमाल होने वाला काफी मशहूर सॉफ्टवेयर है और ये बिल्कुल फ्री है और विंडोज़ 10 मे सपोर्ट करता है।ये सभी तरह के audio और विडिओ को प्ले करने की क्षमता रखता है।
  6. Adobe Acrobat Reader:
    ये pdf रीडर के तौर पर इस्तेमाल होता है।चूंकि pdf फॉर्मैट को adobe ने ही बनाया था इसलिए उस फॉर्मैट के फाइल को खोलने के लिए ये सॉफ्टवेयर भी बनाया।इसका बेसिक तो बिल्कुल फ्री है लेकिन यदि आपको थोड़े से और अड्वान्स काम करने हैं इनके पेड सॉफ्टवेयर आते हैं जिन्हे आप ले सकते हैं।
  7. Handbrake:
    ये बिल्कुल मुफ़्त और धांसू विडिओ एडिटिंग सॉफ्टवेयर है इसमें ज़्यादतर विडिओ को ट्रांसकोड करने का काम होता है।विडिओ को एक फॉर्मैट से दूसरे फॉर्मैट में बदलने में इसे कोई मात नहीं दे पाता।
  8. Microsoft Office:
    ये माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का एक packaged सॉफ्टवेयर है जिसमें कई तरह के सॉफ्टवेयर आते हैं।इस package में ms-word ,Powerpoint ,excel ,one notes ,access और अन्य कई तरह के सॉफ्टवेयर मौजूद हैं।वैसे तो ये मुफ़्त नहीं है लेकिन कुछ-कुछ कंप्युटर के साथ कंपनी इसे उस कंप्युटर में इस्तेमाल करने के लिए मुफ़्त में देती है।

सॉफ्टवेयर की दुनिया काफी बड़ी है यदि सभी को इसमे लिखा जाए तो काफी बड़ा लेख हो जाएगा इसलिए सिर्फ जो काफी मशहूर और जरूरत के सॉफ्टवेयर हैं उनके बारे में दिया गया है।

फ्री में विंडोज़10 के सॉफ्टवेयर डाउनलोड कैसे करें.

क्या आप विंडोज़10 के फ्री सॉफ्टवेयर डाउनलोड करना चाहते और मुफ़्त में मज़ा लेना चाहते हैं तो ये लेख आपके लिए हैं।

सबसे पहले हम आपको बताते हैं की फ्री सॉफ्टवेयर कैसे खोजें-इसके लिए आप माइक्रोसॉफ्ट की वेबसाईट पर जा सकते हैं और वहाँ से फ्री वाले सॉफ्टवेयर आप आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

इसके अलावा जो सॉफ्टवेयर आपको चाहिए आप उसकी वेबसाईट पर जाएं और चेक करें की वो सॉफ्टवेयर फ्री है या नहीं क्योंकि यदि वो फ्री है तो आप उसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन ऐसा भी हो सकता है आपको उसके पैसे देने पड़ें।

यदि आपको पेड सॉफ्टवेयर कहीं और से फ्री में मिले तो सावधान हो जाएं क्योंकि वो cracked सॉफ्टवेयर होते हैं और आपके कंप्युटर को नुकसान पहुंचा सकते हैं।cracked करके software कभी भी मत लीजिये। 

इसलिए विंडोज़ 10 के फ्री सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के सबसे अच्छे और सुरक्षित तरीके संक्षेप में फिर से बता देते हैं।

    1. माइक्रोसॉफ्ट की वेबसाईट से डाउनलोड करें.
    2. जो सॉफ्टवेयर आपको चाहिए उनकी official वेबसाईट से डाउनलोड करें.
    3. किसी अन्य विश्वशनीय वेबसाईट से जिस पर भरोसा किया जा सके.
क्रैक्ड सॉफ्टवेयर क्या होता है?Cracked Software.

चूंकि जो भी पेड सॉफ्टवेयर होते हैं वो अपने ट्रायल वर्ज़न यूजर को फ्री में इस्तेमाल करने के लिए दे देते हैं जिससे वो यूजर उसे कुछ दिन तक इस्तेमाल करता है.

और उसके बाद वो ट्रायल वर्ज़न काम करना बंद कर देता और यूजर को वो सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करने के लिए उसे खरीदना पड़ता है।

कुछ हैकर और प्रोग्रामर इसका गलत फायदा उठाते हैं और उस सॉफ्टवेयर में छेड़-छाड़ करके जिस प्रोग्रामिंग कमांड से वो सॉफ्टवेयर कुछ दिन बाद काम करना बंद कर देता था.

उसे ये लोग disable कर देते हैं और वो सॉफ्टवेयर फिर हमेशा के लिए खुल जाता है बिना कोई पैसा दिए इसी को क्रैक्ड सॉफ्टवेयर कहते हैं।

हालांकि ये पूरी तरह गैरकानूनी और घटिया काम है लेकिन फिर भी लोग ये करते हैं। मेरा सबसे अनुरोध हे आप यैसा काम मत करिए।

सॉफ्टवेयर का हिंदी-Software Meaning in Hindi

सॉफ्टवेयर का हिंदी अर्थ होता है वो प्रोग्राम जिन्हे कंप्युटर में इंस्टाल करके उनसे काम लिया जाता है।सॉफ्टवेयर का सीधा सा मतलब यही है कुछ लोग ये सोचते हैं इसका हिन्दी शब्द क्या है तो हम आपको बता दें की अंग्रेजी भाषा से निकला हुआ शब्द है इसलिए इसका कोई हिन्दी नाम नहीं है।

निष्कर्ष:Conclusion.

Computer Software क्या है.सॉफ्टवेयर के बारे में आपने अभी तक जो विस्तृत लेख पढ़ा उसके लिए धन्यवाद।यदि आपका कोई सवाल रह गया हो तो आप कमेन्ट करके जरूर बताएं।

चलिए एक बार फिर से इसका निष्कर्ष निकालते हैं और संक्षेप में सॉफ्टवेयर की summary जान लेते हैं।

सॉफ्टवेयर कंप्युटर में इंस्टॉल किया जाने वाला प्रोग्राम का एक गुच्छा है जिसमे इस बात की जानकारी होती है की कंप्युटर को कब क्या करना है।

क्योंकि कंप्युटर कोई भी काम अपने से नहीं कर सकता उसे हर बार कोई काम करवाने के लिए कमांड देना पड़ता है उसी कमांड को सुव्यवस्थित तरीके से सॉफ्टवेयर के जरिए कंप्युटर में इंस्टाल कर दिया जाता है।

सॉफ्टवेयर के प्रकार तो आपने देखे ही हैं लेकिन इसमे से सिस्टम सॉफ्टवेयर सबसे महत्वपूर्ण होता है और ये कंप्युटर बनाते समय ही उसमें इंस्टाल कर दिया जात है क्योंकि इसके बिना कंप्युटर नहीं चल सकता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here