Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi

Computer Virus क्या हैं.Ways To Avoid Them

Computer Virus क्या हैं.आज के समय में कंप्युटर वायरस और इनसे होने वाले नुकसान से बचने के लिए इनके बारे में पूरी जानकारी होना अति आवश्यक है। ये इतने खतरनाक हैँ की आपके कंप्युटर में कई तरह के नुकसान पहुँचा सकते हैँ।कंप्युटर वायरस के कई प्रकार हैँ और ये सभी अलग-अलग तरह से हमला करते हैँ।

यदि आप अपने कंप्युटर को सुरक्षित रखना चाहते हैँ तो आपको कंप्युटर वायरस से बचने के तरीके पता होने चाहिए। फिर यदि आपके कंप्युटर में वायरस आ जाए तो उसे हटाने का तरीका यदि आपको पता होगा तो आप उसे हटाकर अपने कंप्युटर को सुरक्षित कर पाएंगे।इस आर्टिकल में हम कंप्युटर वायरस से संबंधित सारी जानकारी आपको उपलब्ध कराएंगे।

Contents hide
1 कंप्युटर वायरस क्या है? What Is Computer Virus

कंप्युटर वायरस क्या है? What Is Computer Virus  

Computer Virus क्या हैं.कंप्युटर वायरस कंप्युटर के लिए बनाया गया एक तरह का नुकसानदायक प्रोग्राम है जो की किसी अन्य फाइल या प्रोग्राम के साथ हमारे कंप्युटर में घुस सकता है और हमारे कंप्युटर में काफी नुकसान कर सकता है।ये बिना हमारे इजाजत के कंप्युटर के डाटा को कहीं भेज सकता है और साथ उसे नष्ट भी कर सकता है।

कंप्युटर वायरस खुद की बहुत सारी कापियाँ बना कर अपनी संख्या आपके कंप्युटर में बहुत अधिक मात्रा में बढ़ा सकता है।ये आपके कंप्युटर के अन्य प्रोग्राम को भी काम करने से रोक सकता है। ये समाज के कुछ बुरे लोगों द्वारा बनाया जाता है और पूरी दुनिया के कंप्युटर में फैलाया जाता है।

देखा जाए तो कंप्युटर वायरस भी एक तरह का सॉफ्टवेयर ही है।जिस तरह से हमारे कंप्युटर में अलग-अलग काम के लिए कई तरह के सॉफ्टवेयर होते हैँ उसी तरह से ये भी सॉफ्टवेयर होता है जिसका मकसद होता है हमारे कंप्युटर को नुकसान पहुंचाना.

कंप्युटर वायरस कैसे काम करता है?

Computer Virus क्या हैं.जैसा की आप सब जानते हैँ की कंप्युटर वायरस एक तरह का सॉफ्टवेयर है। ये हमारे कंप्युटर में किसी फाइल,प्रोग्राम,इंटरनेट या अन्य जरिए से घुस जाता है।उसके बाद जब भी हम उस फाइल या प्रोग्राम को ओपन करते हैँ तो ये वायरस भी सक्रिय हो जाता है और हमारे कंप्युटर को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है।

जिस तरह का नुकसान करने के लिए कंप्युटर वायरस को बनाया गया होता है ये उस तरह का नुकसान करता है क्योंकि ये वायरस इंसानों द्वारा कोड लिख कर बनाया जाता है।उस कोड में कंप्युटर को इन्स्ट्रक्शन दिया गया होता है जो की वायरस के जाने पर होता है।

कंप्युटर वायरस के प्रकार- Computer Virus Ke Prakar

कंप्युटर वायरस एक तरह का मालवेयर है।हम मालवेयर के बारे में आगे जानेंगे ,अभी फिलहाल कंप्युटर वायरस के प्रकार जानेंगे। कंप्युटर वायरस कई प्रकार के होते हैँ और ये सभी अपने-अपने तरीके से आपके कंप्युटर पर हमला करते हैँ।

कुछ कंप्युटर वायरस जो सामान्यतः पाए जाते हैँ उनके नाम और छोटा सा विवरण नीचे दिया गया है-

i) ओवरराइट वायरस(Overwrite Virus)

ओवरराइट नाम का कंप्युटर वायरस आपके फाइल के डाटा को मिटा कर उसे नष्ट कर देता है। जैसे इसका नाम है ओवरराइट वैसे ही इसका काम भी है। इस वायरस को पहचानना थोड़ा सा मुश्किल काम है। ये ज्यादातर ईमेल के जरिए फैलते हैँ।

ii) बूट सेक्टर वायरस(Boot Sector Virus)

ये कंप्युटर वायरस ज्यादातर आपके कंप्युटर के स्टॉरिज जैसे की हार्ड ड्राइव या ssd ड्राइव के बूट सेक्टर या मास्टर बूट रिकार्ड पर हमला करता है। इस वायरस को पकड़ना और सिस्टम से बाहर निकालना काफी कठिन काम है। कंप्युटर में इस वायरस के घुस जाने पर अधिकतर उसे फॉर्मैट करना पड़ता है।

iii) रेज़िडन्ट वायरस( Resident Virus)

रेज़िडन्ट कंप्युटर वायरस आपके कंप्युटर में ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह इंस्टाल हो जाता है और जब तक आपका कंप्युटर ऑन रहता है तब तक  ये रैम में जाकर अपना काम करता रहता है। इस तरह के वायरस को निकालना और पहचानना मुश्किल काम है।

iv) डायरेक्ट एक्शन वायरस-Direct Action Virus

इसे नॉन-रेज़िडन्ट वायरस के नाम से भी जाना जाता है।ये भी आपके कंप्युटर में इंस्टाल हो जाता है लेकिन ये आपके पूरे कंप्युटर को नुकसान नहीं पहुँचाता। ये जिस फाइल में होता है बस उसी को क्षति करता है।

v) मल्टीपारटाइट वायरस (Multipartite Virus)

ये बेहद ही खतरनाक वायरस है ये आपके कंप्युटर में बूट सेक्टर और फाइल दोनों पर हमला कर सकता है। ये आपके कंप्युटर में कई तरीकों से घुस सकता है और उसे नुकसान पहुँच सकता है।

कंप्युटर वायरस के नुकसान

Computer Virus क्या हैं.कंप्युटर वायरस के कारण हर साल दुनियाभर में लाखों करोड़ों डॉलर का नुकसान होता है। क्योंकि कंप्युटर वायरस ,सिस्टम में घुसने के बाद कई तरह से नुकसान पहुँचाता है और आपको अपना कंप्युटर फॉर्मैट करना पड़ सकता है।चलिए जानते हैँ की कंप्युटर वायरस क्या-क्या कर सकता है-

    • कंप्युटर वायरस आपके कंप्युटर सिस्टम को लॉक कर सकता है
    • ये आपके कंप्युटर सिस्टम के फाइल को मिटा सकता है
    • ये अपनी संख्या बढ़ाकर आपके कंप्युटर सिस्टम के स्टॉरिज को भर सकता है
    • ये आपके कंप्युटर में रहते हुए आप पर नजर रख सकता है की आप कब-क्या करते हैँ
    • ये आपके कंप्युटर के डाटा को कहीं और भेज सकता है यानी की चोरी कर सकता है और आपकी गुप्त जानकारी किसी और को पता चल सकती है
    • ये आपके कंप्युटर के परफॉरमेंस को कम कर सकता है
    • ये आपके कंप्युटर को ओपन होने से रोक सकता है
    • ये आपके कंप्युटर के सॉफ्टवेयर को भी खराब कर सकता है

Led Bulb Kya Hai.

कंप्युटर वायरस कैसे फैलता है?

Computer Virus क्या हैं.कंप्युटर वायरस किसी भी बाह्य स्त्रोत जैसे इंटरनेट,ईमेल, बाह्य स्टॉरिज के जरिए फैलता है। ये उन वेबसाईट के जरिए भी फैल सकता है जिस पर आपने विज़िट किया हो और वहाँ पर वायरस हो।कंप्युटर वायरस फैलने के बारे में चलिए विस्तार से जानते हैँ।

1) वेबसाईट या इंटरनेट के जरिए

आज के समय में इंटरनेट के जरिए कंप्युटर वायरस फैलना एक आम बात हो गई है। इंटरनेट पर यदि आप किसी ऐसे वेबसाईट पर जाते हैँ जहां वायरस है और उसे आपके कंप्युटर में घुसने के लिए ही बनाया गया है तो वो वायरस आपके कंप्युटर तक पहुँच जाएगा।

इंटरनेट से कोई सामग्री डाउनलोड करते वक्त भी उस फाइल के साथ वायरस आपके कंप्युटर में घुस सकता है जिस फाइल को आप डाउनलोड कर रहे थे। लेकिन ऐसा तभी होगा जब उस वेबसाईट पर फाइल डालने वाले व्यक्ति ने उस फाइल के साथ वायरस भी रखा होगा। इसलिए इंटरनेट पर हमेशा अनजान वेबसाईट से सावधान रहें।

2) ईमेल के जरिए

ईमेल के जरिए कंप्युटर वायरस फैलाना भी काफी चर्चा का विषय रहा है।इसमे वायरस फैलाने वाले लोग काफी जिज्ञासा भरा मैसेज लिखते हैँ और उसी मैसेज के साथ कंप्युटर वायरस भी ईमेल के जरिए लोगों को भेज देते हैँ। और जब आप वो मैसेज खोलते हैँ तो आपके कंप्युटर में वायरस घुस जाता है।

सन 2000 में एक आइ लव यू नाम का कंप्युटर वायरस ईमेल के जरिए पूरी दुनिया में फैला था और काफी नुकसान किया। इस वायरस को फैलाने के लिए लोगों को ईमेल में “I LOVE YOU” लिख कर भेज जाता था और साथ में एक अटैच्मन्ट फाइल भी होती थी। लोगों को ये फाइल देखकर लगता था की ये किसी का लव लेटर है और उसे खोलने के लिए जब क्लिक करते थे तो वो वायरस उनके कंप्युटर में डाउनलोड हो जाता था।  

3) किसी फाइल के जरिए

यदि आप कहीं से भी कोई फाइल ले रहें हैँ चाहे वो इंटरनेट से डाउनलोड किया हो या किसी अन्य स्टॉरिज से यदि उस फाइल में वायरस होगा तो वो उस फाइल के साथ आपके कंप्युटर में आ जाएगा। उदाहरण के लिए यदि आप किसी सीडी से कोई फाइल ले रहे हैँ और उस सीडी में कोई वायरस हुआ तो वो उस फाइल के साथ आपके कंप्युटर में आ जाएगा।

4) कोई फाइल लेने के लिए लगाए गए बाह्य स्टॉरिज के जरिए

यदि आप अपने कंप्युटर में किसी तरह का बाह्य स्टॉरिज जैसे की पेन ड्राइव, मेमोरी चिप,स्मार्ट फोन,सीडी ड्राइव या अन्य हार्ड डिस्क लगाकर किसी तरह का डाटा लेन देन करते हैँ और उसमें वायरस हुआ तो वो उस बाह्य स्टोरेज के जरिए आपके कंप्युटर में प्रवेश कर सकता है।

इस तरह के स्टोरेज से कनेक्शन बनाने पर या तो फाइल के जरिए आ सकता है या सिर्फ कनेक्ट करने से आपके कंप्युटर में आ सकता है। इसलिए हमेशा विश्वशनीय स्त्रोतों से ही अपने कंप्युटर को कनेक्ट करें।

मालवेयर क्या होता है?Malware Kya Hota Hai ?

Computer Virus क्या हैं.मालवेयर का पूरा नाम मलिसीअस सॉफ्टवेयर है।मालवेयर समाज के कुछ गलत लोगों द्वारा बनाया गया हानिकारक सॉफ्टवेयर है जो हमारे कंप्युटर को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। जैसे की हमारे कंप्युटर से डाटा चोरी करना, छिपकर हमारी निगरानी करना, हमारे कंप्युटर के सॉफ्टवेयर को डैमेज करना आदि।

मुख्यतः मालवेयर तीन तरह के होते हैं-

    • वायरस
    • वर्म
    • ट्रोजेन हॉर्स

इनके अलावा कुछ अन्य मालवेयर भी होते हैं जैसे ट्रैपडोर्स, रैन्समवेयर, स्पाइवेयर, ऐडवेयर आदि।

आपके कंप्युटर में वायरस घुसने के लक्षण.

जाने-अनजाने में यदि आपके कंप्युटर में वायरस घुस जाए तो आप कोई एक्शन ले सकते हैं लेकिन यदि पता ही ना चले तो आप कुछ नहीं कर पाएंगे। इसलिए कंप्युटर वायरस के कंप्युटर में घुसने के लक्षण की जानकारी होना जरूरी है ताकि जब भी वायरस आपके कंप्युटर में घुसे तो जान सकें और कोई एक्शन ले सकें।

चलिए कंप्युटर वायरस के कुछ पहचान के बारे में जानते हैं-

    • बिना वजह आपके कंप्युटर का परफॉरमेंस कम होना
    • आपके स्क्रीन पर बेवजह और अनजान बहुत सारे पॉप-अप खुलना
    • कोई भी प्रोग्राम अपने से चलने लगना
    • आपके कंप्युटर का कोई भी फाइल अपने से डबल हो जाना या अधिक संख्या में हो जाना
    • आपके कंप्युटर में उपस्थित कोई फाइल या फ़ोल्डर अपने से मिट जाना
    • आपके कंप्युटर में बिना आपकी मर्जी के नए-नए फाइल या फ़ोल्डर का बनना
    • आपके कंप्युटर में कोई भी ऐसी गतिविधि होना जा आपने नहीं किया और वो स्वाभाविक रूप से नहीं होना चाहिए

कंप्युटर में वायरस के घुसने के ये लक्षण दिखने पर आपको सतर्क हो जाना चाहिए और तुरंत इसे हटाने के जरूरी कदम उठाने चाहिए जो हम आपको आगे बताने वाले हैं। यदि आपके कंप्युटर में ये लक्षण नहीं हैं तो ये जरूरी नहीं की आपके कंप्युटर में वायरस ना हो,कंप्युटर वायरस इनके अलावा भी लक्षण दिखा सकते हैं और कभी-कभी वो बैकग्राउंड में ही आपको बिना कोई समस्या दिए चल सकते हैं। लेकिन ये वायरस आपका डाटा चुरा सकते हैं।

कंप्युटर वायरस से कैसे बचें?

कंप्युटर वायरस से बचने के लिए आपको सावधानी से कंप्युटर का इस्तेमाल करना चाहिए। कंप्युटर वायरस से बचने के लिए आप नीचे दिए गए सुझाव और तरीके अपना सकते है।

    1. इंटरनेट पर हमेशा विश्वानीय वेबसाईट पर ही जाएं और अनजान वेबसाईट से बचें
    2. यदि आपको किसी भी तरह का अनजान ईमेल आए तो उसे ओपन ना करें और यदि उसके साथ कोई अटैच्मन्ट हो तो उसे भी ना खोलें
    3. किसी भी फाइल में यदि दो extension हो जैसे की .vbs हो तो उसे ओपन ना करें क्योंकि इसमें वायरस हो सकता है। वायरस के अधिकतर फाइल ऐसे ही होते हैं।
    4. यदि आपको अनजान पते से ईमेल आता है और आपको उस पर संदेह है तो उसे बिना ओपन किए ही मिटा दें
    5. यदि आप किसी से कोई फाइल लेने के लिए कोई बाह्य स्टोरेज अपने कंप्युटर से कनेक्ट करते हैं तो जिससे भी आपने वो स्टोरेज लिए है उससे ये निश्चित करें की इसमें वायरस नहीं है या तो आप खुद अपने कंप्युटर में एंटिवाइरस रखें और उसे स्कैन करने के बाद इस्तेमाल करें।

कंप्युटर वायरस को कैसे हटायें?

Computer Viruses क्या हैं.एक बार आपके कंप्युटर में वायरस घुस जाए तो उसे हटाना थोड़ा मुश्किल काम होता है।क्योंकि आपके कंप्युटर में बहुत सारी काम की फाइल होती जो नष्ट हो सकती हैं।लेकिन फिर भी यदि आपको अपना कंप्युटर ठीक करना है तो इन वायरस को हटाना ही पड़ेगा ,तो चलिए जानते हैं कंप्युटर वायरस को हटाने के तरीके-

a) एंटीवायरस का इस्तेमाल करिए

कंप्युटर वायरस को हटाने के लिए आप एंटी वायरस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आपके कंप्युटर में पहले से एंटीवायरस नहीं था और आपके कंप्युटर में वायरस घुस गया है तो अब उसे हटाने के लिए आप एंटीवायरस का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेकिन ये तभी संभव जब आपके कंप्युटर में घुसा वायरस किसी सॉफ्टवेयर को इंस्टाल करने अनुमति दे।जैसे की मान लीजिए यदि आपके कंप्युटर में घुसा वायरस आपके कंप्युटर को लॉक कर दे तो आप उसमें एंटीवायरस इंस्टाल नहीं कर पाएंगे और तब ये रास्ता आपके लिए बंद हो जाएगा।

b) कंप्युटर वायरस को ढूंढिए और उसे खत्म करिए

यदि आपको पता चल जाए की वायरस किस फाइल में है तो उसे मिटाकर वायरस से छुटकारा पा सकते हैं।लेकिन ये तरीका इतना आसान नहीं है क्योंकि बिना एंटीवायरस के ये पता करना की वायरस किस फाइल में है बड़ा मुश्किल काम है।

लेकिन यदि आपको शक है की शायद इस फाइल में वायरस हो सकता है तो आप ऑनलाइन कुछ फ्री टूल्स की मदद से उस फाइल को स्कैन करके पता कर सकते हैं की उसमें वायरस है या नहीं। ये सुविधा कुछ एंटीवायरस कंपनियां देती हैं लेकिन मुफ़्त में आप केवल छोटे फाइल ही बस स्कैन कर सकते हैं।

c) कंप्युटर को फॉर्मैट कर दीजिए

यदि और कोई तरीका काम नहीं कर रहा है तो आप अपने कंप्युटर को फॉर्मैट कर सकते हैं।इसके लिए आप या तो अपने कंप्युटर को पूरी तरह से फॉर्मैट कर दें और सारे प्रोग्राम फिर से इंस्टाल करें और या तो तो ऑपरेटिंग सिस्टम को फिर से इंस्टाल करें।इन दोनों तरीकों से आपके कंप्युटर के सभी प्रोग्राम उड़ जाएंगे और साथ में वायरस भी,उसके बाद आप अपने जरूरी सभी प्रोग्राम को फिर से इंस्टाल कर लें।

निष्कर्ष:Conclusion

Computer Virus क्या हैं.इस लेख में कंप्युटर वायरस और उससे बचने के तरीके पर विस्तृत चर्चा की गई है। कम्प्यूटर वायरस के प्रकार और इससे होने वाले नुकसान के बारे में भी आपको अच्छी जानकारी हो गई होगी। इसके साथ ही हमने मालवेयर के बारे में भी थोड़ी सी चर्चा की है।

यदि आप एक कंप्युटर यूजर हैं तो आपको कंप्युटर वायरस से सावधान रहना चाहिए और इससे जरूरी कदम जैसे एंटीवायरस इंस्टाल करके रखना चाहिए। हमें उम्मीद है की आपको कंप्युटर वायरस से संबंधित पूरी जानकारी मिली होगी लेकिन फिर भी यदि आपका कोई सवाल हो तो आप कमेन्ट बॉक्स में लिखकर हमसे पूछ सकते हैं।

 

 
Animesh Bhaumik
Hello Friends, Welcome to our site techbagz.com. मे Animesh Bhaumik a Commerce Graduate and Techbagz की टेक्निकल ऑथर एंड फाउंडर हे. नई नई टेक्नोलॉजी एंड others information ब्लॉग में पोस्ट करता रहता हु. अगर आपको इ सब आर्टिकल पसंद आता हे तो हमें बहुत खुसी होगा.We Techbagz Support Digital India.

Related Articles

NFC Kya Hai.NFC Details In Hindi.

NFC Kya Hai.आज के समय में wireless devices या gadgets का इस्तेमाल काफी बढ़ रहा है। क्योंकि wireless होने का फायदा ये होता है...

UPI Kya Hai.UPI Details In Hindi

UPI Kya Hai.आजकल यूपीआई (UPI) का इस्तेमाल कर digital transaction करना काफी आसान हो गया है। नोटबंदी के बाद से ही सरकार digital payment...

Captcha Code Kya Hai

Captcha Code Kya Hai.कैप्चा कोड भरते समय आपके भी मन में आता होगा की ये क्या है और आपसे ये क्यों भरवाया जाता है।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

251FansLike
200FollowersFollow
200FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

Latest Articles

%d bloggers like this: