FASTTAG KYA HAI

Fastag Kya Hai.अगर आप गाड़ी के मालिक है या रोड पर आपकी गाड़ी चलती है तो आपको fastag के बारे में पता होना बहुत ही जरूरी है। अगर आपको fastag के बारे में जनकारी नही है तो toll के लिए आपको दुगनी कीमत चुकानी पर जाएगी, इसी कारण आपको toll के बारे में जागरूक होना बहुत ही जरूरी है।

Fastag से आपको अब toll पर अपनी गाड़ी रोक कर toll चुकाने के जरूरत नही होगी, इसकी मदद से आप बिना अपनी गाड़ी रोके और line में लगाए अपना toll tax pay कर सकते है। यह सुविधा अब हर जगह उपलब्ध है। 1 दिसंबर से सरकार ने highway पर fastag को लागू किया है।

आपकी गाड़ी पर radio frequency identification card आपकी गाड़ी की windscreen पर लगाया जाएगा। जो कि आपके payment wallet से जुड़ा होगा जैसे ही आप toll से अपनी गाड़ी लेके गुजरोगे ये आपके windscreen पर लगे कार्ड को स्कैन करेगा और आपके wallet में से आपके पैसे काट जायेगे।

fastag के कारण हमारा बहुत ही समय बचेगा और हमे इसे सपोर्ट भी करना चाहिए और इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगो को जागरूक भी करना चाहिए, ताकि जब वह toll से गुजरे तब उन्हें वह fastag न होने के कारण दुगना amount न देना पड़े।

तो चलिए अब विस्तार से जानते है कि Fastag Kya Hai और यह कैसे कार्य करता है। तथा इसके क्या फायदे है और आपको क्यो fastag लगवाना चाहिए।

Fastag Kya Hai. Fastag की जानकारी Hindi में।

Fastag एक National electronic toll connection है। इसमे रेडियो frequency identification का इस्तेमाल किया जाता है। इसमे आपकी गाड़ी पर एक sticker लगाया जाता है।

और toll पर एक sensor लगा होता है जैसे ही आप अपनी गाड़ी टोल प्लाजा के करीब लाओगे toll प्लाजा पे लगा sensor आपके वाहन के fastag को scan कर लेगा और automatic आपके account से जितना भी टोल प्लाजा का टैक्स होगा वो कट जाएगा।

इस से आपको सबसे बड़ा फायदा ये है कि आप अपनी गाड़ी को toll plaza पर बिना रोके अपना toll टैक्स दे सकते है, नही तो पहले हमें लंबी lines में लग के toll चुकाना पड़ता था जिसमे हमारा काफी टाइम खराब होता था।

इस तकनीक के माध्यम से toll चुकाना अब काफी आसान हो गया है। इतना ही नही इसमे आपको recharge भी करवाना पड़ता है अगर आपका fastag का रिचार्ज खत्म हो गया है तो, आप इसे दुबारा रिचार्ज करवा सकते है।

Fastag In Hindi को एक prepaid account से link किया गया होता है जिस से की आपकी राशि automatic deduct हो जाती है।  फिलहाल के लिए अभी यह technology हर जगह उपलब्ध नही है, लेकिन बहुत ही जल्द इसके पूरे देश मे लागू किया जाएगा। बहुत से लोगो को इसकी जानकारी नही है जिसकी वजह से उन्हें दुगना toll pay करना पड़ रहा है।

सरकार ने fastag को यातायात को मध्यनजर रखते हुए इसे सुविधाजनक बनाने के लिए किया है। इस से आपको अपनी pocket में पैसे रखने की जरूरत नही रहेगी और आपको ज्यादा इसके बारे में सोचना भी नही पड़ेगा। ये एक automatic process है जो कि बहुत ही सरल है।

जहाँ दूसरी तरफ पूरा देश स्मार्ट बन रहा है ऐसी technology से हमे काफी मदद मिलेगी। आपको बता दु की fastag की कुल अवधि 5 साल की होती है, इनके बाद आपको recharge करवाने की जरूरत होती है।

Fastag की आवश्यक्ता किसको जरुरत होते है।

अगर अपने नई गाड़ी खरीदी है या आप किसी नई गाड़ी के मालिक है तो आपको इसके बारे में tension लेने की जरूरत है, इसका एक बहुत बड़ा कारण यह है कि इसे registration से समय से ही provide करवाये जायेगे। बस आपको करना ये है कि अपने fastag account बनवाना है और उसमें रिचार्ज करवाना है।

अगर आप किसी पुरानी गाड़ी के मालिक है तो आप किसी NETC से जुड़े बैंको से fastag खरीद सकते है। इसमे बहुत से बैंक शामिल है जिनसे आप बहुत ही आसानी से इसे खरीद सकते है उनमें से icici bank, state bank of india, axis bank, hdfc bank यह तक कि paytm भी आपको fastag उपलब्ध करवाता है।

आप इन सभी बैंकों से बड़े ही आसानी से खरीद सकते है। अगर आप fastag के बारे में अच्छे से जानते है तो आपको इसे खरीदने के लिए कोई ज्यादा मेहनत नही करनी पड़ेगी।

लेकिन इसको जानने की जरूरत नए लोगो को है जिसको इसके बारे में नही आता है। fastag को बैंक से offline बड़े ही आसानी से खरीदा जा सकता है लेकिन अगर आप इसे online खरीदना चाहते है तो आप वो भी कर सकते है इस से आपका काफी समय भी बचेगा।


Also Read : Data टाइप क्या हैं.Data Type In Hindi


Fastag को Online कैसे खरीदे।

Fastag Kya Hai को online apply करना बेहद ही आसान है बस आपको इसके लिए थोड़ी सी internet knowledge होनी चाहिए। आप इसे paytm से बहुत से आसानी से खरीद सकते है बस आपके पास paytm app होना चाहिए। तो चलिए जान लेते है इसे कैसे paytm से खरीदा जा सकता है।

Paytm

  • सबसे पहले आपको paytm को open करना होगा। वहाँ बाहर ही list में आपको fastag मिल जाएगा, नहीं तो आप recharge वाले option पे क्लिक करे।
  • इसके बाद आपको page को right की तरफ swipe करना है और manage fastag वाले option को find करना है।
  • इसके बाद आप manage fastag वाले option पर click करेंगे।
  • अब आपके पास दो option मिलेंगे buy fastag for car, jeep and van और दूसरा option for commercial use तो आप जिसके लिए भी करने वाले है उस option को चुन लें।
  • इसके बाद आपको अपना vehicle registration नंबर डालना होगा। जो कि आपकी गाड़ी की number plate पर लिखा होता है।
  • अब आपको एक option मिल जाएगा नीचे की तरफ upload your RC front and back side, आपको अपनी RC की दोनों front और back की photo click करके upload कर देनी है।
  • इसके बाद आपको नीचे total transaction amount show हो जाएगा और अब आपको buy वाले option पर click करना है।
  • अब आपको pay करने का option select करना होगा यह आपको paytm का और आपके card का भी option मिल जाता है। आप जिस से भी pay करना चाहे तो कर सकते है।
  • अब आप pay पर click करेंगे, इसके बाद आपको अपना fastag के लिए address को भी select करना होगा। जहाँ आप अपना fastag का parcel मंगवाना चाहते है।

आप fastag मोबाइल app का भी use करके fastag को खरीद और recharge कर सकते है।

तो आप जान गए होंगे कि fastag को कैसे खरीदना है। मैने step by step आपको ऊपर सारी चीज़ें बताई है बस आपको इसे अच्छे से follow करना है और इसे buy करना है बिल्कुल ही simple से process है।

अगर आप offline buy करना चाहते है तो उसमें आपको बहुत समय लग जायेगा, इसलिए आपको online process करना चाहिए इस से आपका काम बहुत ही आसान हो जाएगा।

Fastag Kya Hai के कितने App है।

Fastag Kya Hai के लिए NATIONAL HIGHWAY AUTHORITY INDIA ने दो मोबाइल apps को अभी तक launch किया है। Myfastag और fastag इसको आप play store से आसानी से download कर सकते है।

इन apps को launch करने का मकसद बस इतना है कि आप आसानी से घर बैठे fastag खरीद सके और recharge कर सके। इनका इसको लांच करने का ये भी motive है कि आपको internet पर इसको ज्यादा ढूंढने की जरूरत ना पड़े आसानी से आप इसका इस्तेमाल कर सके।

Fastag लेने के लिए आपको किन किन documents की जरूरत होगी।

अगर आप fastag account खोलने जा रहे है तो आपको पता होना चाहिए कि आपको किन documents की जरूरत है अपना fastag account खुलवाने के लिए। fastag खुलवाने के लिए आपको कुछ निम्नलिखित documents की आव्यशकता होती है।

  • Vehicle registration certificate (RC)
  • Vehicle owner passport size photograph
  • Vehicle owner KYC document and address proof

आपको बता दे कि अब वाहन खरीदने के समय ही fastag लेना अनिवार्य कर दिया गया है ताकि बाद में वाहन के मालिक को कोई दिक्कत का सामना न करना पड़े।

कितने Percent लोगो ने Fastag Registration करवा लिया है।

Fastag KYa Hai. अगर हम percentage के हिसाब से बात करे तो अब तक करीब 90 percent लोगो ने अपना fastag का registration करवा लिया है। लेकिन हमे उम्मीद है बाकी के लोग भी अपना registration जल्द ही करवा लेंगे।

100 percent registration न होने का एक कारण ये भी है कि लोगो मे अभी इसकी जागरूकता नही है और जैसे जैसे लोग इसके बारे में जानेंगे वैसे ही सभी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर देंगे। इसके लिए सरकार ने जगह जगह पर इनकी registration करना शुरू कर दिया है।

आप toll नाको पर भी अपना registration करवा सकते है, साथ ही अगर आपका fastag recharge खत्म हो गया है तो उसे भी आप यह से करवा सकते है। आपको बता दे toll plaza पर 24 घंटे इसकी बिक्री शुरू है।

जगह जगह पर बहुत से fastag counter भी खोल दिये गए है ताकि आप वह से रिचार्ज भी करवा सके। यह आपको recharge के लिए online सुविधा भी प्रदान कराई गई है।

NHAI के मुताबिक अपने जहाँ से fastag खरीदा है आप वही से इसे रिचार्ज करवाये अन्यथा आपको इसके लिए कुछ टैक्स भी pay करना पर सकता है।

Fastag Kya Hai के फायदे.

Fastag के बहुत ही अच्छे फायदे है पहले जहाँ हमे लाइन में लग कर wait करना पड़ता था वही अब हमारा ये time बच जाएगा। पहले toll को देने के लिए cash की जरूरत होती थी लेकिन अब हमें इन सब की जरूरत नहीं है।

ना ही अब हमें line में अपनी गरिया लगा कर wait करना होता है बल्कि हमारा इस से बहुत ही कीमती समय भी बचता है। toll पर हमें खुल्ले पैसे की भी समस्या होती थी जिसके कारण काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता था, fastag से ये भी समस्या solve हो गई है।

इस से आपको एक फायदा ये भी होगा आपका diesel और petrol की भी बचत होगी। इतना ही नही fastag use करने पर आपको कुछ cashback भी मिलेगा जिस से आपके कुछ पैसे भी बचेंगे।

India में कब शुरू हुआ था Fastag – Fastag Kya Hai

भारत मे Fastag Kya Hai का इस्तेमाल पहली बार साल 2014 में शुरू किया गया था। इससे पहले अहमदाबाद और मुम्बई highway के बीच शुरू किया किया गया था। बाद में इसे और भी जगहों पर शुरू किया गया जैसे कि चेन्नई बंगलोर highway और  समय के साथ साथ इसे पूरे भारत मे शुरू किया जा चुका है।

आपको बता दू fastag का headquarter दिल्ली में है। जिसके owner National highway authority of india है। और इसकी official website nhai.gov.in#/national-electronic-toll-collection है। आप इस website पर visit करके इसके बारे में जानकारी ले सकते है।

1 January 2021 से भारत मे fastag सबके लिए अनिवार्य कर दिया गया है। अब तक 600+ toll plaza fastag के साथ जुड़ चुके है बहुत ही जल्द और भी toll plaza इसके साथ जुड़ जाएंगे।

Conclusion

आज आप ने इस पोस्ट में जाना कि Fastag Kya Hai और यह कैसे काम करता है। इसके क्या फायदे है और आप कैसे fast tag को अपनी गाड़ी पर लगवा सकते है।

आज के समय मे time को बहुत एहमियत दिया जाता है। और time पर कोई काम हो जाये तो उसकी important और भी बढ़ जाती है। इसी को लेकर भारत सरकार कई सालों से toll पर लगने वाले जाम को लेकर कई बड़े कदम उठा रही है।

और अब fastag अनिवार्य करने से toll पर लगने वाला जाम भी कम हुआ है। क्योंकि fastag की मदद से आपकी toll की payment automatic toll cross करते ही हो जाती है। और आपको रुक कर slip नही कटवाना पड़ता है।

इसका एक और बड़ा फायदा है कि इससे काफी पैसो की बचत होती है। क्योंकि जाम में लगने से तेल भी गाड़ियों में अधिक use होता था। तथा time की बचत होना भी  शुरू हो गया है।

अगर आप लोगो को हमारी यह जानकारी पसंद आयी हो तो आप इस post को ज्यादा से ज्यादा share करे ताकि अधिक से अधिक लोगो को Fastag Kya Hai के बारे में जानकारी हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here