Fire Extinguisher In Hindi, fire extinguisher in hindi

Fire Extinguisher In Hindi.Fire Extingusher Shave Lives, बुरा वक्त कभी बताकर नहीं आता.दुर्घटना कभी भी और कहीं भी घट सकती है.

इसलिए बेहद जरूरी है कि हमें हमेशा दुर्घटनाओं से लड़ने की तैयारी पूरी रखनी चाहिए.आगलगी कि घटना उन घटनाओं में शामिल है, जो कहीं भी तथा कभी भी हो सकती है.इस लिए ज़रूरी है कि आग से बचाव के साधन हमेशा मौजूद होने चाहिए.

हमारे घर से लेकर ऑफिस तक ऐसी चीजें मौजूद होती हैं जो कि तेजी से आग को फैलाते हैं.अगर कभी दुर्घटनावश आग लग जाए तो उन पर काबू पाना मुश्किल होता है.

इसी स्थिति को संभालने के लिए अग्निशामक यानी अग्निशामक का इंतज़ाम हर जगह होना ज़रूरी है.तो चलिए आज इसी के बारे में हिंदी में बताते हैं.

साथ ही बताएंगे कि कैसे ए लोगों के जान बचा रहा है.Fire Extinguisher Use कैसे करें,Types क्या हैं, Price कितनी होती है.इसके अलावा आपको हम इस से जुड़ी कई बाते बताएंगे.तो चलिए, इस के बारे में विस्तार से जानते हैं.

Fire Extinguisher In Hindi – What is Fire Extinguisher in Hindi.

Fire Extinguisher In Hindi – इसका जवाब ये है कि यह एक यंत्र है.जिसका उपयोग आग लगने की स्थिति में आग को बुझाने के लिए किया जाता है.इसका Hindi Meaning अग्निशामक होता है.

इससे आपका सामना कहीं न कहीं हुआ ही होगा.क्योंकि ये लगभग हर जगह जैसे घर, गाड़ी, स्कूल, ऑफिस इत्यादि सभी जगह मौजूद होते हैं. ऑफिस, घर इत्यादि में आप जो दीवार पर एक सिलेंडर टँगा हुआ देखते हैं, वह Fire Extinguisher ही होता है.

कैसे जिंदगियां बचा रह है – How To Shave Lives.

Fire Extinguisher.पिछले कुछ वर्षों में घर से लेकर ऑफिस तक, सभी काफी Modern हो गए हैं.Modern होने के कारण इन सब जगहों की खूबसूरती तो खूब बढ़ती है. 

लेकिन साज सज्जा में अक्सर ऐसी ही पेंट्स तथा उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है, जो को आग के लिए भी बड़ा खतरा होते हैं.आग लगने की स्थिति में तेज़ी से फैलते हैं. 

आग को फैलने से रोकने तथा आग लगते ही शुरुआत में ही बुझाने के लिए ही आमतौर से अग्निशामक का उपयोग किया जाता है.

एक आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में 1 साल में लगभग 20 लाख छोटी-बड़ी आगलगी की घटना हुई. लेकिन इनमें से लगभग 83% आग लगने की घटना को तुरंत काबू कर लिया गया.

इन्हें काबू सिर्फ इसलिए किया जा सका क्योंकि वहां पर अग्निशामक मौजूद था. आंकड़ो से भी पता चलता है कि जैसे-जैसे Fire Extinguisher का उपयोग बढ़ा है. 

आग लगने की स्थिति में होने वाला नुकसान भी कम हुआ है.आर्थिक क्षति के अलावा Fire Extinguisher लोगों की जान बचाने में भी काफी कारगर साबित हुआ है. 

यही वजह है की Fire Extinguisher को  First Line of Defence भी कहा जाता है.

घरों और ऑफिस में Fire Extinguisher का महत्व – Importance Of Fire Extinguisher At Home & Workplaces.

Fire Extinguisher In Hindi.घर या ऑफिस के सुरक्षा की बात की जाए तो इन जगहों की सुरक्षा के लिए अग्निशामक काफी महत्वपूर्ण है.

यही कारण है कि अधिकतर कार्यस्थलों पर Fire Extinguisher का होना अनिवार्य है. वही अपार्टमेंट तथा बड़ी-बड़ी बिल्डिंगों में इसका होना ज़रूरी है. 

ऐसे में कई लोगों के जेहन में यह सवाल आता है कि. आखिर ऐसा क्या है कि इसका महत्व इतना ज्यादा है?

इसे आप इस उदाहरण से समझ सकते हैं.कि मान लीजिए, आप जहां रह रहे हैं.वहां  शॉर्ट सर्किट हुआ है.ऐसे में अगर आपके पास ये नहीं है तो आप काफी मशक्कत के बाद भी उस आग पर काबू नहीं कर पाएंगे.

इस तरह आग पूरे घर में फैल जाएगा.सब कुछ राख हो जाएगा. जब तक आप फायर फाइटर्स को फोन करेंगे या बुलाएंगे, तब तक काफी नुकसान हो चुका होगा.

लेकिन उसी जगह अगर आपके पास Fire Extinguisher मौजूद है.तो आप चंद मिनट में ही उस आग पर काबू पा लेंगे.और आग फैलने से रुक जाएगा.इस तरह आप समझ गए होंगे कि किसी घर या कार्यस्थलों पर Fire Extinguisher का महत्व इतना अधिक क्यों है. 

एक और बात ध्यान दें कि कहीं भी केवल एक ही अग्निशामक का होना काफी नहीं है.बल्कि इसके कई प्रकार होते हैं.और उन सभी का होना जरूरी है.इसकी बड़ी वजह यह है कि आग कई तरह के होते हैं. 

तथा अलग-अलग तरह के आग बुझाने के लिए अलग-अलग तरह के अग्निशामक की जरूरत होती है. यही वजह है कि अग्निशामक कई तरह के होते हैं। आगे बढ़ने से पहले ये जानते हैं कि आखिर आग (Fire) कितने तरह का होता है.

Smoke Detector Kya Hai?

आग के प्रकार -Types of Fire In Hindi.

जलने वाली चीजों के आधार पर आग को निम्नलिखित प्रकार में बांटा गया है –

1. Class A– ऐसे आग जिसमें लकड़ी, कपड़े, पेपर इत्यादि जैसे कार्बनिक पदार्थ जल रहे हों तो इसे Class A Fire कहा जाता है.

2. Class B – अगर पेट्रोल, डीज़ल, Paraffin इत्यादि में आग लगी हो तो इसे Class B Fire कहेंगे.

3. Class C – ज्वलनशील गैस (flammable gases) जैसे Butane, Propane या Methane इत्यादि जल रहा हो तो इसे Class C Fire कहेंगे.

4. Class D – Class D Fire के अंतर्गत Metals को रखा गया है। उदाहरण के तौर ओर अगर आग Aluminium, Lithium या magnesium इत्यादि में लगी हो तो ये Class D Fire कहलाएगा.

5. Class E – अगर आग Electrical Equipment में लगी हो तो ये Class E Fire होगा.

6. Class F – वसा (Fats) तथा खाना बनाने वाले तेल में (cooking oils) में आग लगी हो तो ये Class F के तहत आएगा.Class F Fire को Fire K भी कहा जाता है.

Fire Extinguisher के प्रकार- Types Of Fire Extinguisher.

चूंकि, आग अलग-अलग तरह के होते हैं.इस लिए इन्हें बुझाने के लिए भी अलग-अलग प्रकार के Fire Extinguisher की ज़रूरत पड़ती है.

Types Of Fire Extinguisher.

1. Water Fire Extinguisher – Fire Extinguisher In Hindi.इस तरह के Fire Extinguisher में आग बुझाने के लिए पानी का उपयोग किया जाता है.सबसे अधिक उपयोग इसी Fire Extinguisher का किया जाता है.

इसमें किसी विशेष मटेरियल की बजाय केवल पानी का उपयोग किया जाता है. Water Fire Extinguisher का उपयोग केवल Class A के आग को बुझाने के लिए किया जाता है.

Class E fire में बिजली कटने के बाद इसका उपयोग किया जा सकता है.

Water Fire Extinguisher के दो अन्य प्रकार हैं –

i) Water mist extinguishers :

इसमें Demineralised water का उपयोग आग बुझाने के लिए किया जाता है.ये Class A, B, C तथा F के आग बुझाने में सक्षम है.

ii) Water spray fire extinguishers – इसका उपयोग भी आमतौर से केवल Class A Fire के लिए होता है.

2. Foam Fire Extinguisher – यह भी काफी हद तक Water Fire Extinguisher की तरह ही होता है.ये Class A और B के लिए Use होता है.

3. Dry Powder Fire Extinguisher – इसमें एक विशेष प्रकार के पाउडर का प्रयोग किया जाता है.जो कि आग को धीमा करता है.तथा उसे फैलने से रोकता है.इसका उपयोग Class F Fire को छोड़ कर हर तरीक़े के आग बुझाने में किया जाता है.

4. CO2 Fire Extinguisher –  इसमें विशेष रूप से Carbon Dioxide का उपयोग किया जाता है.इसका छिड़काव करने पर आग तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता है.

जिस कारण आग बुझने लगती है.इसका उपयोग विशेष रूप से Class B तथा A के आग में किया जाता है.

5. Wet Chemical Fire Extinguisher – ये विशेष रूप से Class F Fire में Use किया जाता है.ये आमतौर से किचन में ही उपयोग होता है.

इस तरह के Extinguisher में पानी के साथ alkali salts के Pressurised Solution का उपयोग किया जाता है.आवश्यकता पड़ने पर इसका उपयोग Class F के अलावा Class A और Class B Fire पर भी किया जा सकता है.

उपयोग कैसे करें (How To use).

इसका उपयोग करना काफी आसान हैं.इसके उपयोग के लिए आमतौर से P.A.S.S. Technique का उपयोग किया जाता है.

PASS Technique In Hindi.

    • PULL – सबसे पहले सिलेंडर पर लगे सेफ्टी पिन को खिंचे.इसके अलावा वहीं पर लगे Tamper Seal को भी तोड़ दें.
    • AIM – जिधर आग लगा हुआ है, उस ओर extinguisher nozzle को घुमाकर पकड़ लें. 
    • SQUEEZE –  अब सिलेंडर के हैंडल को तेज़ी से Squeeze करें.इससे Extinguishing agent बाहर आएगा.इस तरह आग बुझना शुरू हो जाएगा.
    • SWEEP –  अब जितनी दूर में आग लगा हुआ है, पूरे हिस्से में Extinguishing agent का अच्छे से छिड़काव करते रहें.अगर आग बुझ भी गया है तो भी पूरे हिस्से में Extinguishing agent का छिड़काव करते रहें. 

एक बात हमेशा ध्यान रखें कि अगर आग बुझाने पर भी आपको लग रहा है कि आग बुझने की बजाय भड़क उठी है.तो अपनी सुरक्षा को देखते हुए सबसे पहले वहां से बाहर निकल जाएं.तथा पुलिस या फायर बिग्रेड को फोन करें. 

कीमत (Price).

Fire Extinguisher In Hindi.Fire Extinguisher की कीमत इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह का Extinguisher ले रहे हैं. इसके अलावा आपको कितनी क्षमता का Extinguisher चाहिए, इस पर भी कीमत निर्भर करता है.

उदाहरण के तौर पर बता दें कि अगर आपको 6 लीटर क्षमता वाले Foam Fire Extinguisher चाहिए तो आपको लगभग 2 हज़ार रुपए लगेंगे.कीमत क्षमता और Extinguishing Agent के आधार पर तय होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here