Google Search Console Kya Hai

Google Search Console Kya Hai.पहले Google Webmaster tools के नाम से जाना जाता था। यदि आप जानते है कि Google Webmaster Tools क्या है तो आपका काम और आसान हो जाएगा क्योंकि इससे आपको Google Search console को समझने में आसानी होगी। और यदि आप नही जानते की Google Webmaster tools क्या थे या Google Search Console क्या है, तो घबराइए मत। हम इस article के माध्यम से आज आपको Google Search Console की सारी जानकारी देंगे।

Google Search Console Google का एक free tool है जो website owner को उसकी website की performance, उसमे आने वाले errors, और कैसे वह search results में अपनी website की performance को improve कर सकता है, इस बारे में बताता है। आसान शब्दों में समझे तो यह एक ऐसा tool है जो आपकी website पर नजर रखता है और आपको इसकी सारी जानकारी देता है।

Google Search Console Kya Hai से किस तरह की जानकारी प्राप्त कर सकते है?

Google Search Console आपको बहुत सारी information देता है, जैसे:

  • कितने लोग आपकी website को visit कर रहे है, जिसमे आप daily, weekly, monthly, quarterly , और yearly data देख सकते है।
  • यह आपको बताता है कि लोग आपकी website को कैसे ढूंढ रहे है। यह आपके visitors के आने के source को अलग अलग करके दिखाता है कि आपकी website के कितने visitors facebook से आये, कितने youtube से आये, कितने instagram से आये, कितने visitors direct google result पर आपकी website पर click करके आये, और कितने visitors अन्य माध्यम से आये।
  • साथ ही साथ Search Console आपको यह भी बताता है कि आपकी website को mobile पर ज्यादा views मिल रहे है या desktop computer पर।
  • आपकी website के कोनसे pages ज्यादा popular है और कोनसे कम।
  • किन pages को open करने पर visitor को error दिखाई देता है। कैसे आप उन errors को find कर सकते है, और कैसे उन्हें fix कर सकते है।
  • Search Console में आप अपनी website का sitemap submit कर सकते है, robots.txt file create कर सकते है, और check भी कर सकते है।

उम्मीद है आप यह तो जान ही गये होंगे कि Google Search Console क्या है और यह क्या करता है। लेकिन यदि आप अपनी website को Google Search console में register करना चाहते है तो ये कैसे होगी? चिंता मत कीजिये हम बताते है।

इस article में हम आपको Google Search Console में अपनी website को register करने से ले के, अपनी website की performance check करना और उसके errors find करना और उनको fix करना, इन सब चीज़ों की जानकारी देंगे। यदि आप भी अपनी website को search console में register करना चाहते है और search console के बाकी सभी features को भी इस्तेमाल करना चाहते है तो उसके लिए आपको केवल 5 steps को follow करना होता है।

चलिए जानते है कि इस process में वे 5 steps कोनसे है।

1.Add your Website to Google Search Console:

Google Search Console Kya Hai. जो सबसे पहला काम आपको करना होता है वो है अपनी website को Google Search Console में add करना। यदि आप अपनी website को Google Search Console में add करना चाहते है तो नीचे दिए गए steps को follow करके कर सकते है।

How to add your website

Step 1: सबसे पहले आपको अपने Google Account को sign in कर लेना है। आपको इस बात का ध्यान  रखना है कि आपको उसी Google account से sign in करना है जिस account से आपकी website बनी हुई है।

Step 2: अब आपको Google Search Console में जाना है और Start Now पर click करने के बाद URL Prefix में अपनी website का domain name(URL) enter करना है।

Step 3: अब आपको continue पर click करना है  और फिर आपको चुनना होता है कि आप किस method से अपनी website को verify करना चाहेंगे।

2. Verify your site ownership:

अब जो अगला काम आपको करना होता है वह है अपनी website को verify करना। जब आप अपनी website को Search Console में add करते है तो आपको उसे verify करने के लिए 5 options दिए जाते है।

वे 5 verifying methods कुछ इस तरह है:

i) HTML file

ii) HTML tag

iii) Google Analytics

iv) Google tag manager

V) Domain name provider

वैसे तो आप किसी भी method से अपनी website verify कर सकते है। लेकिन जो सबसे ज्यादा recommended और इस्तेमाल किया जाने वाला method है, वो है HTML tag का इस्तेमाल करके verify करना। लेकिन आप चिंता मत कीजिए, हम आपको सभी methods से verify करना सिखाएंगे।



i. HTML file:

इस method में आपको एक HTML file को अपनी website में एक specific location पर upload करना होता है। जब आप verification method में HTML file को चुनेंगे तो आपको एक file download करने का option दिखाई देगा।

सबसे पहले आपको वह file download कर लेनी है और उसे बताई गई जगह पर upload करना है। Upload हो जाने के बाद आपको वापस search console वाला tab open करना है और verify पर click करना है। यदि आपने सब कुछ सही से किया होगा तो कुछ ही समय मे आपकी website verify हो जाएगी।

 इसमें आपको दो बातों का ध्यान रखना होता है:

  • पहली ये की आपको उस file में कोई भी change नही करना होगा। आपको वही exact file upload करनी होती है।
  • दूसरा ये की आपकी website का verification complete हो जाने के बाद भी आपको उस file को वहां से remove नही करना है।

ii. HTML tag:

अपनी website को verify करने का दूसरा और सबसे popular method है , HTML tag का इस्तेमाल करना। जैसे कि HTML file में आपको एक file upload करनी होती है, ठीक वैसे ही इस method में आपको एक tag specific location पर लगाना होता है। चलिए इस method के बारे में और जानते है।

जब आप verification method में HTML tag को चुनते है तो वहां एक HTML tag show होने लगता है। आपको उस tag को copy करना होता है और अपनी website के homepage के <head> section में first <body> section से पहले paste करना होता है।

इसे paste करने के बाद आपको वापस verification tab open करना है और verify पर click करना है। यदि आपने tag को सही जगह paste किया है तो कुछ ही समय मे आपकी website verify हो जाएगी।

Website verify होने के बाद भी आपको उस tag को वहां से remove नही करना है।

iii. Google Analytics:

यदि आप पहले से Google Analytics का इस्तेमाल कर रहे है तो आप अपनी website को Search Console में verify करने के लिए Google Analytics Code का भी इस्तेमाल कर सकते है। इस method से अपनी website को verify करने के लिए दो requirements को fulfil करना होता है:

  • आपकी website के homepage पर Google Analytics snippet होना चाहिए।
  •  “Edit” permission in Google Analytics property.

इस method में आपको अपने Google Analytics code को अपनी website के homepage में <Head>  section में रखना होता है। और एक बार website verify हो जाने के बाद भी उसे वहां से हटाना नहीं होता।

iv. Google Tag Manager:

यदि आप पहले से ही Google tag manager का इस्तेमाल कर रहे है तो आप इस method को भी use कर सकते है अपनी website को verify करने के लिए। इस method को इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको अपना Google tag manager open करना है और उसकी settings में “View, Edit, and Manage” permission को enable करना है।

साथ ही आपको यह भी check करना है कि Google tag manager का code आपकी website के homepage के <body> section के बाद रखा हुआ है। इन दोनो conditions को पूरा करने के बाद आपको verification tab पर जाना है और verify पर click करना है। कुछ ही समय मे आपकी website verify हो जाएगी।

V. Domain Name Provider:

Google Search Console Kya Hai. अपनी website को verify करने का पांचवा और आखिरी method है Domain name method. जब आप verification method में Domain name provider option का चयन करेंगे उसमे एक txt दिखाई देगा। आपको उस txt को copy करना है और अपने domain name provider की site पर जा कर अपना account log in करना है ।

उसके बाद DNS configuration में उस txt को paste करना है। इसके बाद आपको verification tab पर वापस आना है और verify पर click करना है। कुछ समय मे आपकी website verify हो जाएगी।

उम्मीद है आपको अपनी website को Google Search Console में verify करना आ गया होगा। यदि आपको फिर भी कोई समस्या आती है तो आप निचे comment करके हमसे पूछ सकते है। 

अभी तक हमने जाना कि कैसे अपनी website को Google Search Console में add करना है और कैसे उसे verify करना है। अब आपको जो तीसरा काम करना है वो है अपनी website का sitemap Search console में submit करना। चलिए जानते है Search Console में sitemap कसे submit किया जाता है।

3. Submitting a sitemap:

Google Search Console Kya Hai में अपनी website का sitemap submit करना एक बहुत ही जरूरी और important step होता है। इससे web crawlers को पता चलता है कि आपकी website किस तरह से organize की गई है और इसमें किस तरह का content available है।

अपनी website का sitemap submit करके आप Google को अपनी website के content के बारे में बताते है ताकि वह उसे search results में show कर सके।

अपनी website का sitemap submit करने के लिए आपको सबसे पहले Google Search Console के dashboard में जाना होगा। अब आपको left side में “Sitemaps” को select करना है।

अब आपको Add/Test sitemap पर click करना है और अपनी website के link के आगे अपनी website का sitemap type करना है और submit sitemap पर click कर देना है। इससे Search console में आपकी website का sitemap successfully add हो जायेगा।



4. Checking robots.txt file:

Robots.txt file के जरिये हम Google और अन्य Search engine crawlers और bots को instructions देते है कि उन्हें हमारी website में किस पेज को crawl करना है और किसे नहीं। यदि आप अपनी website के कुछ pages से search engines को दूर रखना चाहते है तो आप robots.txt का इस्तेमाल करके यह कर सकते है। अक्सर इसमें admin panel के login पेज को रखा जाता है ताकी कोई आपकी वेबसाइट hack न कर सके।

Search Console आपको यह देखने में मदद करता है कि क्या robots.txt file ने Google bots को किसी URL पर जाने से रोका या नहीं। आप search console से ही अपनी robots.txt file को update कर सकते है।

5. Finding errors and fix them:

Index coverage report में आपको पुरी information मिल जाती है कि google ने आपकी website में किन किन pages को index किया और किन किन pages को index करने की कोशिश की। यदि Google को आपकी website को index करने में किसी भी तरह की दिक्कत आती है, या उसमें कोई भी error होता है तो वो यहां दिखाई देता है।

आप crawl errors में जा कर उन सभी errors के बारे में detail में जान सकते है, जिन्हें Google ने आपकी website को index करते हुए पाया है। और साथ ही साथ आप उस error की details जानकर उस error को fix भी कर सकते है।

आप Mobile usability report भी check कर सकते है। इसमे Search Console आपको वह errors या issues show करता है जिसकी वजह से आपकी website user को mobile में अच्छा experience नहीं दे पा रही है।

Google Search Console को इस्तेमाल करने के लिए यह 5 important steps थे। इनको सीखने के बाद आप Search Console के सभी features को आसानी से इस्तेमाल कर पाएंगे। अब आप आसानी से अपनी website की performance को monitor कर पाएँगे। और साथ ही साथ errors पर भी नजर रख पाएंगे।

Q. What is a sitemap?

Ans.Sitemap एक complete list होती है आपकी website पर available pages की. जब हम Google Search Console में sitemap submit कर देते है तो इससे search engine को पता चलता है कि आपकी website पर किस तरह का content available है।

Q. What are crawl errors?

Ans. जब google bots या अन्य किसी search engine के bots आपकी website  को crawl करते है लेकिन कुछ pages पर error होने की वजह से वह उन pages को crawl नहीं कर पाते, उन errors को crawl errors कहा जाता है।

Q. What are the important elements of Search Console?

Ans. Search Console के कुछ important elements इस तरह है:

  • Site Performance
  • Indexed pages
  • Sitemaps
  • Linked sites
  • Broken links
  • Crawl status
  • Spam link removal
  • Robot.txt

Q. How many types of sitemaps are there? Sitemaps कितने प्रकार के होते है?

Ans. SEO में दो तरह के sitemap होते है।

  • HTML Sitemap
  • XML Sitemap

Q. What is an HTML sitemap?

Ans. HTML sitemap आपके users को आपकी website के pages के बारे में समझने में मदद करता है।

Q. What is an XML sitemap?

Ans. XML sitemap search engine bots को आपकी website पर pages find करने और उन्हें index करने में मदद करता है।

Conclusion

उम्मीद है इस article को पूरा पढ़ कर आपको Google Search Console Kya Hai की पूरी जानकारी मिल गयी होगी।और साथ ही आपको अपने सारे सवालों के जवाब भी मिल गए होंगे।

लेकिन यदि फिर भी आपका कोई भी सवाल है या आपको कोई भी परेशानी आ रही है Search Console को इस्तेमाल करने में, तो आप निचे comment box में लिख सकते है। हम जल्द से जल्द आपकी समस्या का हल निकालने का पूरा प्रयास करेंगे।

ये भी पड़े :

SEO Kya Hai? How Does Search Engine Optimization Work?

SEO And Internet Marketing In Hindi.

SEO And Internet Marketing In Hindi.

10 Best DSLR Camera Under 50000.

Backlink Kya Hai. Backlink Kaise Banaye.

Google Sheet Kya Hai.

Instagram Se Paise Kaise Kamaye?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here