Gujarat Ki Capital Kya Hai | गुजरात Ka निबंध |

0
156
GUJARAT KI CAPITAL KYA HAI. ESSAY OF GUJARAT

Gujarat Ki Capital Kya Hai. गुजरात, जिसे “महापुरुषों की धरती” (the land of legends) के नाम से भी जाना जाता हैं, भारत देश का एक बहुत ही महत्वपूर्ण राज्य हैं. यह भारत के पश्चिम में स्तिथ हैं. अगर इसके क्षेत्रफल की बात करे तो इसके हिसाब से ये भारत के 5वां सबसे बड़ा राज्य हैं. गुजरात एक ऐसा राज्य हैं जो अपनी संस्कृति, व्यंजन, पर्यटन स्थल, कला, प्राकृतिक, आदि की वजह से दुनियां भर में मशहूर हैं.

इन्ही सबको समझने और देखने के लिए साल भर गुजरात में tourist घुमने के लिए आते हैं. आज हम “GUJARAT KI CAPITAL KYA HAI” And Essay Of Gujarat Ki Ware Me Janenge. इसी के साथ-साथ इन्ही से जुड़ी कुछ ऐसे विषय पर भी चर्चा करेंगे जो आपके लिए जानना बेहद जरुरी हैं. तो आइए, शुरू करते हैं.

गुजरात की राजधानी क्या है – GUJARAT KI CAPITAL KYA HAI :

गुजरात की राजधानी गांधीनगर हैं जिसे हरितनगर (Green city) भी कहते हैं. गांधीनगर का नाम भारत के राष्टपिता महात्मा गाँधी जी के नाम पर रखा गया था. यह अहमदाबाद, गुजरात का सबसे बड़े शहर से 35 किलोमीटर पूरब उत्तर दिशा में साबरमती नदी के तट पर बसा हुआ हैं. हालांकि गांधीनगर से पहले अहमदाबाद गुजरात की कैपिटल हुआ करती थी

गुजरात का प्राचीन इतिहास : History Of Gujarat

गुजरात शहर का इतिहास सबसे पुराने शहरों में से एक माना जाता हैं. करीबन 2000 साल पुराना इसका इतिहास हैं. अगर विश्व की सबसे प्राचीन सम्भ्यता की बात की जाएं तो सिंधु घाटी सभ्यता का मुख्य केंद्र गुजरात ही था. इसके सबसे प्रसिद्ध नगर लोथल, धोलावीरा और डिनो थे.

ऐसा कहा जाता हैं कि पुराने भारत का पहला बंदर गाह गुजरात के लो थल में ही स्थित था। अगर धार्मिक दृष्टिकोण से गुजरात का इतिहास देखे तो ये भी कम नहीं हैं. ऐसा माना जाता हैं कि जब कृष्णा ने मथुरा नगरी छोड़ी थी तो गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र को ही अपनी राजधानी बनाया था. जिसे बाद द्वारका नगरी के नाम से जाना गया. यहाँ पर द्वारिक धीश का मंदिर हैं जो पूरी दुनिया में फेमस हैं.

गुजरात की कुल जनसंख्या कितनी हैं?

साल 2021 की गणना के अनुसार गुजरात की कुल जनसँख्या करीबन 64.8 मिलियन हैं. गुजरात में लोगों का लिंगानुपात 919 प्रति 1000 पुरुषों पर है. नीति आयोग 2016 की रिपोर्ट के अनुसार, कुल प्रजनन दर 2.2 है.

गुजरात में रहने वाले लोग गुजराती के नाम से जाने जाते हैं. यहाँ का प्रमुख धर्म हिन्दू धर्म हैं क्यूंकि यहाँ की सबसे बड़ी आबादी, करीबन 88.57% लोग हिन्दू धर्म को मानते हैं. इसके बाद मुस्लिम आबादी आती हैं जो कम से कम 9.6% हैं. इसके बाद गुजरात में तीसरी सबसे बड़ी आबादी जैन धर्म की आती हैं. करीब 0.96% लोग जैन हैं.

इन सबके बाद इसाई, बौद्ध धर्म, पारसी, आदि लोग आते हैं जिनकी कुल आबादी 2% से भी कम हैं.

गुजरातके ऐतिहासिक और प्रमुख पर्यटन स्थल कौन-कौन से हैं?

  • वडोदरा
  • कंकरिया झील
  • रन ऑफ कच्छ
  • सोमनाथ मन्दिर
  • गिर नेशनलपार्क
  • लक्ष्मी विलास पैलेस
  • खिजडिया पक्षी अभयारण्य
  • पोरबंदर बीच
  • मरीन नेशनल पार्क
  • जूनागढ़
  • सापुताराहिलस्टेशन
  • सूरत
  • पाटन
  • अंबाजी मंदिर
  • गिरवन
  • साबरमती आश्रम
  • अहमदाबाद
  • गिरनार
  • महाराज फतेह सिंह संग्रहालय
  • नागेश्वर ज्योतिर्लिंग
  • पोलोवन
  • पोरबंदर
  • प्रागमहल
  • गांधीनगर
  • चंपानेर पावागढ़

शिक्षित लोगों का प्रतिशत (पुरुष और महिला) – Percentage Of Educated People (Male &Female ) :

गुजरात की कुल 79.31% आबादी साक्षर हैं जिसमे से 87.23% पुरुष और 70.73% महिला रेट हैं.

गुजरात के प्रसिद्ध लोग :

गुजरात अपनी कला, संस्कृति, खूबसूरती, आदि से तो दुनियाभर में मशहूर हैं ही लेकिन गुजरात में कुछ बड़े महानुभावों ने भी जन्म लिया हैं जिनकी वजह से भी गुजरात केवल देश भर में नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में लोकप्रिय हैं.

देश के राष्ट्रपिता: महात्मा गाँधी

महात्मा गाँधी, देश के राष्ट्रपिता का जन्म गुजरात के पोरबंदर में हुआ था. महात्मा गाँधी ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी थी और पुरे देश को अहिंसा का पाठ पढाया था. उन्हें हमारे देश में राष्टपिता के रूप में जानते हैं.

महात्मा गाँधी ने वकालत की पढाई की थी और अंग्रेजो के खिलाफ अहिंसक प्रतिरोध कुछ इस प्रकार किया कि कुछ ही साल में आजादी अभियान ने तेज़ी पकड़ ली और भारत देश अंग्रेजो की गुलामी से मुक्त हुआ था.

Gujarat Ki Capital Kya Hai

महात्मा गाँधी ना केवल भारत देश में, बल्कि पूरी दुनिया में प्रेरणा बन गए. उन्होंने देश में भाईचारे का सन्देश दिया, छुआ-छूत, ऊँच-नीच का फर्क ना करना सिखाया हैं. साथ ही गरीबों की मदद करने का भी सन्देश दिया.

देश को आज़ादी दिलाने के लिए उन्होंने बहुत से अभियान भी चलाए थे. अपने विचारो की वजह से पूरी दुनिया में उनका नाम जाना जाने लगा. भारत की आजादी के केवल 7 महीने बाद ही उनकी हत्या कर दी गई थी और 30 जनवरी 1948 में उनकी मृत्यु हो गई थी.

देश के प्रधानमंत्री: नरेंद्र मोदी

देश के वर्तमान प्रधानमंत्री और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जन्म गुजरात के मेहसाणा जिले के वडनगर में हुआ था. यही पर उनका पालन-पौषण भी हुआ हैं. नरेंद्र मोदी गुजरात में सबसे ज्यादा समय तक रहने वाले मुख्यमंत्री हैं.

Gujarat Ki Capital Kya Hai

इन्होने 13 साल तक गुजरात की सेवा मुख्यमंत्री रहकर की हैं. इन्ही को गुजरात के विशाल आर्थिक विकास के लिए जिम्मेदार माना जाता हैं. फोर्ब्स की magzine के अनुसार वे दुनिया के 15वें सबसे शक्तिशाली व्यक्ति हैं.

बराक ओबामा के बाद नरेंद्र मोदी ही सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा फॉलो किये जाने वाले व्यक्ति हैं. इन्होने देश के साथ-साथ गुजरात का नाम पूरी दुनिया में ऊँचा किया हैं.

देश के प्रमुख व्यवसाई: धीरूभाई अम्बानी

भारत के सबसे सफल उद्योगपति में से एक धीरूभाई अम्बानी का जन्म गुजरात के जूनागढ़ के चोरवाड़ में हुआ था. ये रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक रह चुके हैं. ये दुनिया के सबसे आमिर परिवारों में से एक थे.

Gujarat Ki Capital Kya Hai

महानतम वैज्ञानिक: विक्रम साराभाई

भारत के महान वैज्ञानिको में से एक विक्रम साराभाई  का जन्म अहमदाबाद में हुआ था. इन्हें “भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक” केरूपमें भारत सरकार द्वारा सम्मानित भी किया गया हैं. ये इसरो के संस्थापक थे.

साराभाई का अहमदाबाद की स्थापना करने में एक बहुत बड़ा योगदान माना जाता हैं. इन्हें 1966 में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था और मृत्यु के बाद 1972 में पद्मा विभूषण से सम्मानित किया गया था. 

बिज़नस टाइकून और निवेशक: अजीम प्रेम जी

अजीम प्रेम जी मुंबई में एक मुस्लिम गुजराती परिवार में जन्मे थे. इन्होने अपनी पहचान एक बिजनेस टाइकून, निवेशक और परोपकारी व्यक्ति के रूप में बनाई हैं. ये Wipro के चेयरमैन होने के साथ-साथ वर्तमान भारत के 15वें सबसे धनी व्यक्ति हैं.

Ajim Prem Ji

साल 2010 में इन्हें एशियावी क द्वारा दुनियाके 20 सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों में चुना गया था। भारत सरकार द्वारा प्रेम जी को कई अवार्ड से सम्मानित किया गया हैं जिनमे पद्मभूषण, पद्मविभूषण और ईटीलाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड सबसे ख़ास हैं.

बॉलीवुड अभिनेत्री, निर्देशक और निर्माता: आशा पारेख

बॉलीवुड अभिनेत्री आशा पारेख एक मुंबई में रहने वाले मिडिल क्लास गुजराती जैन परिवार में जन्मी थी. इनके पिता अहमदाबाद में पिराना के पास पालड़ी में रहते थे. आशा पारेख अब तक की सबसे सफल बॉलीवुड अभिनेत्री में से एक मानी जाती हैं. अभिनेत्री के साथ इन्होने निर्देशक और निर्माता का भी काम किया हैं.

इसके अलावा इन्होने गुजरात की तीन फिल्मो में भी अभिनेत्री का काम किया हैं. आशा पारेख भारत के केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सेंसर बोर्ड) की पहली महिला अध्यक्ष बनी थी. इन्हें फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) से “लिविंग लीजेंड” पुरस्कार से भी नवाज़ा गया हैं. साल 1992 में पद्मा धरी और 2002 में फिल्म फेयर लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था.



भारत के लौहपुरुष के नाम से जाने वाले: सरदार वल्लभ भाई पटेल

सरदार वल्लभभाई पटेल भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री थे और एक सफल राज नेता रह चुके हैं. इन्हें प्यार से सरदार की उपाधि दी गई थी. इनका जन्म नडियाद, गुजरात में हुआ था. उस समय ये एरिया बॉम्बे प्रेसीडेंसी का एक हिस्सा हुआ करता था. सरदार पटेल एक भारतीय  बैरिस्टर थे.

इन्होने भारत देश की आज़ादी में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं. ये भी गाँधी जी के अच्छे follower थे और उन्ही की तरह अंग्रेजो के खिलाफ शांति से विरोध प्रदर्शन किया. इसकी वजह से सरदार को गुजरात में व्यापक के रूप से प्रेरित भी किया गया. आगे चलकर ये “भारत के लौह पुरुष” के नाम से भी जानने लगे.

Ballav Bhai Patel

साल 2014 में मोदी सरकार द्वारा 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की गई थी क्यूंकि इसी दिन सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्मदिन होता हैं. सरदार जी की याद में गुजरात में दुनिया की सबसे ऊँची प्रतिमा बनाई गई थी. इसका उद्घाटन 31 अक्टूबर 2018 में किया गया था. इसकी ऊंचाई लगभग 182 मीटर हैं.

टाटा संस के अध्यक्ष: रतन टाटा

भारत के रत्न रतन टाटा का जन्म गुजरात में हुआ था. उनका पालन-पौषण भी यही पर हुआ हैं. ये एक भारतीय व्यवसायी, निवेशक, परोपकारी और टाटासंस के मानद अध्यक्ष हैं.

Mr Ratan Tata

रतन टाटा 1991-2012 औरफिर 2016-2017 तक टाटा समूह के अध्यक्ष रह चुके हैं.उन्हें भारत सरकार द्वारा साल 2008 में पद्मविभूषण और 2000 मेंपद्मभूषण अवार्ड से नवाजा जा चूका हैं.

ये अपनी आधी से ज्यादा कमाई दान में दे देते हैं जो देश की सेवा करने के काम आती हैं. अगर ये ऐसा ना करे तो ये दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हो सकते हैं.

Gujarat Ki Capital Kya Hai गुजरात का कुल क्षेत्रफल कितना हैं?

गुजरात राज्य में आपको 5 अलग-अलग भू-आकृतियाँ देखने को मिलेगी क्यूंकि यहाँ पर मैदान, पहाड़ियाँ और पर्वतीय क्षेत्र, पठार, रेगिस्तान और तटीय मैदान, सभी मोजौद हैं.

गुजरात का कुल क्षेत्रफल 196,024 वर्ग किमी है जिसकी वजह से यह भारत का पांचवा सबसे बड़ा राज्य हैं.

गुजरात कौन से साल में बना था?

अगर गुजरात की ऐतिहासिकता और प्राचीनता की बात करे तो इन दोनों के अनुसार गुजरात भारत का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण राज्य हैं. गुजरात राज्य की स्थापना 1 मई, 1960 को हुई थी.

भारत की आजादी के समय गुजरात मुम्बई का हिस्सा हुआ करता था. लेकिन तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने मुंबई को देश की आर्थिक राजधानी बनाने के लिए महाराष्ट्र और गुजरात को अलग करना ही बेहतर समझा. 

इसीलिए गुजरात और महाराष्ट्र का स्थापना दिवस एक ही दिन, यानी 1 मई को मनाया जाता हैं.

गुजरात का नाम पहले क्या था?

गुजरात में 6ट्ठी सदी से लेकर 12वी सदी के बीच गुर्जरों का साम्राज्य हुआ करता था. तब गुजर्र आबादी ज्यादा होने के कारण लोग गुर्जरत्रा के नाम से जानते थे. 

गुजरात का प्रसिद्ध खाना क्या हैं?

जैसे गुजरात की संस्कृति यहाँ का एक महत्त्वपूर्ण अंग हैं ऐसे ही गुजरात के खाने के बैगैर बात पूरी नहीं हो सकती. यहाँ के प्रसिद्ध व्यंजन दुनियाभर में मशहूर हैं और पकाने के ढंग भी बेहद अलग हैं जिसकी वजह से इनके रंग भी बेहद खुबसूरत होते हैं.

Gujarati Food

गुजरात में घूमते समय एक जगह से दुसरे जगह बदलते ही गुजरात का खाना भी बदल जाता हैं जैसे कि सूरत, काठियावाड़, कच्छ और उत्तरी गुजरात का खाना बेहद अलग हैं. ये वो जगह हैं जहाँ पर आपको शुद्ध शाकाहारी व्यंजन मिलेंगे. गुजरात में अलग तरह के मसाले उपयोग किये जाते हैं जिनका स्वाद आप  खाते समय महसूस भी कर सकते हैं.

गुजरात की परम्परा हैं कि यहाँ पर खाना धातु की थाली में ही परोसा जाता हैं. यहाँ के प्रसिद्ध भोजन कुछ इस प्रकार हैं:-

  • ढोकला
  • थेपला
  • फाफड़ा
  • कचौरी
  • खांडवी
  • हांडवो
  • गंठिया
  • औंधिया
  • देबरा
  • सूरतपौन
  • पूरनपोली
  • श्रीखंड
  • घेवर
  • मालपुआ

Gujarat Ki Capital Kya Haiगुजरात के जिले कौन-कौन से हैं?

  • अहमदाबाद (Ahamadabad),
  • आनंद (Anand),
  • अरावली (Aravalli),
  • अमरेली (Amreli),
  • भावनगर (Bhavnagar),
  • बनासकांठा (Banaskantha),
  • गांधीनगर (Gandhinagar)
  • बोटाड (Botad),
  • भरूच (Bharuch),
  • जामनगर (Jamnagar),
  • जूनागढ़ (Junagadh),
  • छोटा उदयपुर (Chhota Udayapur),
  • डांग (Dang),
  • देव भूमि द्वारका (Dev bhumi Dwarka),
  • दाहोद (Dahod),
  • गिर सोमनाथ (Gir Somnath),
  • महीसागर (Mahisagar),
  • नवसारी ( Navsari),
  • नर्मदा (Narmada),
  • कच्छ (Kachchh),
  • खेड़ा (Kheda),
  • मेहसाणा ( Mehsana),
  • मोरबी (Morbi),
  • ,सुरेंद्रनगर (Surendra Nagar),
  • साबरकांठा (Sabarkantha),
  • तापी (Tapi),
  • वडोदरा (Vadodara),
  • पंचमहल (Panchmahal),
  • वलसाड( Valsad),
  • पोरबंदर (Porbandar),
  • राजकोट (Rajkot)
  • सूरत (Surat)

गुजरात के पड़ोसी राज्य कौन-कौन से हैं?

जैसा कि हमने आपको पहले बताया हैं कि गुजरात भारत के पश्चिम तट पर बसा हुआ हैं. इसके पडोसी राज्य की बात करे तो उत्तर में पाकिस्तान, उत्तर-पूर्व में राजस्‍थान, पश्चिम में अरबसागर और और दक्षिण में महाराष्‍ट्र है।

आज हमने क्या सिखा?

आज हमने Gujarat Ki Capital Kya Hai, के साथ-साथ गुजरात के बारे में और भी बहुत कुछ जान लिया हैं. उमीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here