MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI | Essay Of Madhya Pradesh |

0
55
MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI

MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI. मध्य प्रदेश एक ऐसा राज्य हैं जिसने देश के सबसे सम्रध और उन्नत राज्यों की सूचि में अपनी जगह बनाई हुई हैं. इस राज्य में अच्छी मात्रा में अन्नाज पैदा होता हैं. 1 नवंबर, 1956 को मध्य प्रदेश की स्थापना हुई थी.

आपको जानकर हैरानी होगी कि 1 नवंबर, 2000 तक मध्य प्रदेश क्षेत्रफल के मामले में देश का सबसे बड़ा राज्य था. इसी दिन इस राज्य से छत्तीसगढ़ अलग हो गया था. भारत नक़्शे में बिल्कुल मध्य में स्तिथ होने की वजह से इसका नाम मध्य प्रदेश पड़ा.

इस राज्य में सबसे ज्यादा हिंदी बोली जाती हैं इसीलिए ये भारत देश का हिंदी भाषा राज्य के नाम से भी famous हैं. इसे भारत का हृदय भी कहा जाता हैं. मध्य प्रदेश में ही सफ़ेद शेर पाए जाते हैं. मध्यप्रदेश का जिला रिवा में सफ़ेद शेर सरंक्षित करके रखे हुए हैं.

मध्य प्रदेश के शहर उज्जैन की बात करे तो यह शहर हिन्दू समुदाय के लोगो के लिए आस्था का एक बहुत बड़ा केंद्र हैं. विश्व भर में famous कुंभ मेला इस शहर में भी लगता हैं जिसमे देश भर से लोग आते हैं.

मध्य प्रदेश खनिज पदार्थ की खान हैं. यहाँ पर अधिकतर हर खनिज पदार्थ होता हैं. इस राज्य की मिट्टी बहुत ही उपजाऊ हैं. भारत में एक मात्र यही राज्य हैं जहाँ पर हीरे और तांम्बे के बहुत बड़े-बड़े भंडार हैं.

मध्य प्रदेश के पन्ने जिले में हीरे की खान हैं. ये राज्य धार्मिक और इतिहासिक जगहों का एक अद्भुत मिश्रण हैं जिसे हर व्यक्ति को एक बार देखना चाहिए. इस राज्य में पर्यटन बढ़ाने के लिए साल 2010-11 में राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार दिया गया था.

ऐसे राज्य के बारे में हर व्यक्ति को जानकारी होनी चाहिए. साथ ही जो व्यक्ति general knowldge में interest रखते हैं, उनके लिए आज का लेख लाभदायक होने वाला हैं. चलिए, मध्य प्रदेश के बारे में और जानकारी लेते हैं.

MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI

साल 1950 तक मध्य प्रदेश राज्य की राजधानी नागपूर हुआ करती थी लेकिन जब फिर से 1956 में मध्य प्रदेश राज्य का गठन हुआ तो नागपूर को महाराष्ट्र का हिस्सा बना दिया गया और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल को बनाया गया.

मध्य प्रदेश की राजधानी का चयन करते समय सरदार पटेल के सामने कई शहरों के नाम आए जिनमे ग्वालियर, इंदौर तथा जबलपुर शहर शामिल थे. लेकिन तब देश के हालातों और माहौल को देखते हुए सरदार ने भोपाल को मध्य प्रदेश की राजधानी चुना.

भोपाल कुल 285 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला होने के कारण देश का 16वां सबसे बड़ा शहर हैं. यह शहर अपनी प्राकृतिक सुंदरता की वजह से दुनिया भर में फेमस हैं. इतिहास में इस शहर को नाम भोजपाल के नाम से जाना जाता था जिसे परमार राजाभोज ने ग्यारहवी शताब्दी में बसाया था. लेकिन आगे चलकर इसका नाम भोपाल पड़ा.

इस शहर में बहुत ज्यादा झील हैं जिनकी वजह से इसे “तालोंकाशहर” (City of Lakes) के नाम से भी जाना जाता हैं. यह शहर पहाड़ो पर बसा हुआ हैं लेकिन फिर भी आपको ये जानकार हैरानी होगी कि भोपाल का temperature फिर भी गर्म ही रहता हैं.

मध्य प्रदेश की कुल जनसंख्या कितनी हैं?

साल 2011 की जनगणना के हिसाब से मध्य प्रदेश 8,45,36,775हैं. लिंग अनुपात के हिसाब से 1000 पुरुषों पर 930 महिलाएं हैं. जनसँख्या के हिसाब से यह राज्य देश का पांचवा सबसे बड़ा देश हैं. भारत के विकास में ये राज्य बहुत ही महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं. इसके अलावा राज्य की जनसंख्या वृद्धि 24.34% हैं.

सबसे ज्यादा जनसँख्या वाला शहर इस राज्य का इंदौर हैं. अगर, इंदौर, भोपाल तथा जबलपुर की जनसंख्या को मिला दिया जाए तो कम से कम 1 मिलियन बैठती हैं. मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा हिन्दू समुदाय के लीग रहते हैं.

मध्य प्रदेश के ऐतिहासिक और प्रमुख पर्यटन स्थल कौन-कौन से हैं? Historic Places Of Madhya Pradesh :

मध्य प्रदेश एक ऐसा राज्य हैं जहाँ कई National Park और wildlife Sanctuary हैं. यहाँ पर आपको वो जीव और प्रजाति के वनस्पति भी देखने को मिलेंगे जो लगभग लुप्त हो चुके हैं. इसके अलावा मध्य प्रदेश में कई historical स्मारक, मंदिर, मस्जिद, किले और महल आदि हैं जो पर्यटकों को अक्सर आकर्षित करते आए हैं.

खजुराहो– khajuraho

खजुराहो मध्य प्रदेश का एक बहुत ही ख़ास शहर हैं. ये विश्व भर में अपने प्राचीन और मध्यकालीन मंदिरों की वजह से इतना famous हैं कि इसने UNESCO की विश्वधरो हर स्थलों की list में अपना नाम शामिल करवा लिया हैं.

MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI

यहाँ पर famous प्रसिद्ध खजुराहो मंदिर mainly हिंदू और जैन मंदिरों का एक संग्रह है जिन्हें चंदेल वंश के राजा ओं ने 950 और 1050 केबीच के बीच बनवाया था. खजुराहो में घुमने के लिए बहुत सी जगह हैं. जैसे-

  • लक्ष्मण मंदिर
  • चित्रगुप्त मंदिर
  • कंदरिया महादेव मंदिर

पचमढ़ी– panchmarhi

पचमढ़ी एक hill-station हैं जो दूसरे hill-station के मुकाबले काफी सस्ता हैं. यह मध्यप्रदेश राज्य के होशंगाबाद जिले में स्थित हैं. अपने खुबसूरत पहाड़, झरने और हरियाली की वजह से ये पूरी दुनिया में famous हैं. ये सतपुड़ा की पहाड़ियों में स्थित हैं जिसकी वजह से इसे मध्य क्षेत्र का कश्मीर भी कहा जाता हैं.

  • हांडीखोह, पचमढ़ी का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल
  • पचमढ़ी में महादेव पहाड़ियों की सैर करें
  • पचमढ़ी में डचेसफॉल्स घूमने लायक जग हें


ग्वालियर– Gwalior

तानसेन को भला कौन नहीं जानता, इनका जन्म ग्वालियरमें ही हुआ था. इस शहर को राजा सूरज सेन ने बनाया था. इसकी खूबसूरती पुरे संसार में famous हैं. इस शहर में बेहद खुबसूरत मंदिर, मस्जिद, और मूर्तिकला संरचना ओं का जमावड़ा हैं. ग्वालियर में घुमने की जगह कुछ इस प्रकार हैं:-

  • ग्वालियर का किला
  • जय विलास पैलेस
  • तेलीका मंदिर
  • तानसेन का मकबरा

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान– Kanha National Park

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के मंडला जिले में स्तिथ मध्य भारत का सबसे बड़ा national park हैं. यहाँ पर पशु बाघ और दूसरे कई जानवरों का बसेरा होने की वजह से ये famous हैं. इसकी स्थापना साल 1955 में की गई थी. यहाँ पर अब तक की लुप्त हुई प्रजातियों को सुरक्षित करके रखा गया हैं. घुमने के लिए कुछ जगह:-

  • सूर्यास्त बिंदु
  • कान्हा राष्ट्रीय उद्यान के बाघ
  • कान्हा राष्ट्रीय उद्यान में पक्षी

ओरछा– Orchha

ओरछा किला बुंदेलावंश के राजा रुद्रप्रताप सिंह ने 16वीं शताब्दी में मध्य प्रदेश में झाँसी से 16 किमी दूर बेतवा नदी के किनारे बनवाया था. इस किले में राजा महल बना हुआ हैं. इसके अलावा शीश-महल, फूल बाग़, राय प्रवीण महल और जहांगीर महल जैसे कई चीज़े हैं जो पर्यटकों के लिए घुमने के लिए अच्छी जगह हैं.

  • ओरछा किले की वास्तुकला
  • ओरछा किले में कार्यक्रम
  • ओरछा किले का समय

ओंकारेश्वर– Omkareshwar

इस शहर का नाम ‘ओंकार” शब्द से लिया गया हैं. ओंकारेश्वर मांधाता द्वीप पर बना हुआ हैं. ये 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक हैं. हर साल हजारो भक्तो की भीड़ इनके दर्शन करने आते हैं. ये पूरा शहर पहाड़ो से घिरा हुआ हैं और जूमप्रतीक के आकार जैसा दिखता है. ये मध्य प्रदेश के पवित्र शहरों में से एक हैं.

  • श्री ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंगम मंदिर मांधाता
  • ओंकारेश्वर पर्यटन स्थल के दारेश्वर मंदिर
  • सिद्धनाथ मंदिर

Essay Of Madhya Pradesh

उज्जैन– Ujjain

उज्जैन महाकाल की नगरी से भी दुनिया भर में जाना जाता हैं. ये मध्य प्रदेश की सबसे धार्मिक जगह हैं. यहाँ पर बने हुए मंदिरों को देखने लोग दूर-दूर से आते हैं.

  • चिंतामन गणेश मंदिर
  • महाकालेश्वर मंदिर
  • सिद्धावत
  • संदीपनी आश्रम
  • वेदशाला (वेधशाला उज्जैन)

इंदौर– Indore

  • स्नोसिटी
  • थीमपार्क
  • टॉरने डोवाटर पार्क
  • पिपलि यापाला क्षेत्रीय उद्यान
  • जनपव कुटी

भोपाल– Bhopal

  • भोपाल का बड़ा तालाब
  • वन विहार राष्ट्रीय उद्यान
  • साँची का स्तूप
  • भीम बेट का गुफाएं

अमरकंटक

  • नर्मदा कुंड और मंदिर
  • मिल्क स्ट्रीम फॉल्स
  • श्रीयंत्र मंदिर
  • कपिल धारा फॉल
  • कबीर कोठी

महेश्वरी

  • श्री अहिल्येश्वर मंदिर
  • महेश्वर किला
  • श्री राजराजेश्वर सहस्त्रबाहु मंदिर

जबलपुर– Jabalpur

  • भेड़ाघाट धुंधार जलप्रपात
  • सागर विश्वजल

हनुवंतिया– Hanuwantiya

  • इंदिरा सागर दाम
  • घंटाघर, खंडवा
  • बर्ड वॉचर्स के लिए सर्व श्रेष्ठ
  • गर्म हवा के गुब्बा रोंके लिए सर्वश्रेष्ठ

Percentage Of Educated People (Male & Female ) :

मध्य प्रदेश का साक्षरता दर (literacy rate) 82% हैं जिसमे अभी काफी सुधार की जरूरत है. जहाँ 87.44% पुरुष और 76.59% महिलाएं educated हैं.

मध्य प्रदेश के 15 प्रसिद्ध लोग :

मध्य प्रदेश ना केवल अपनी प्राचीन सभ्यता, मंदिर, मस्जिद, ऐतिहासिक इमारतों की वजह से दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं बल्कि यहाँ पर जन्मे कुछ ऐसे व्यक्तित्व की वजह से भी विश्व भर में जाना जाता हैं जिन्होंने अपने व्यक्तित्व और talent की पहचान विश्वभर में कर वाई हैं और नाम कमाया हैं.

  • बिरजू महाराज ( Birju Maharaj ) – शास्‍त्रीय नृत्‍य कत्‍थक
  • अन्‍नू कपूर ( Annu Kapoor ) – अभिनेता, संचालक तथा आयोजक
  • अली अकबर खाँ ( Ali Akbar Khan ) – सर्वश्रेष्‍ठ सरोद वादकों
  • अशोक कुमार ( Ashok Kumar ) – अभिनेता
  • कुमार गन्‍धर्व ( Kumar Gandharva ) – गायक
  • तानसेन (रामतनु पाण्‍डे) ( Tansen ) – महान संगीतकार
  • जावेद अख्‍तर ( Javed Akhtar ) – फिल्‍म लेखक
  • ओम प्रकाश चौरसिया ( Omprakash Chaurasiya ) – सन्‍तूर वादक
  • मकबूल फिदा हुसैन ( Maqbool Fida Husain ) – चित्रकार
  • अमजद अली खान ( Amjad Ali Khan ) – सरोद वादक
  • मुश्‍ताक अली ( Mushtaq Ali ) – क्रिकेटर
  • कैलास नाथ काटजू ( Kailash nath Katju ) – मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री व वकील
  • श्री रविशंकर शुक्‍ल ( Pandit Ravishankar Shukla ) – म. प्र. के प्रथम मुख्‍यमंत्री
  • अटल बिहारी वाजपेयी ( AtalBihari Vajpayee ) – भारत के 3 बार प्रधानमंत्री रहे
  • नरेन्‍द्र हिरवानी ( Narendra Hirwani ) – क्रिकेटर

मध्य प्रदेश का कुल क्षेत्र फल कितना हैं?

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया हैं कि मध्य प्रदेश राज्य भारत के बिल्कुल मध्य में स्तिथ हैं. इसका कुल क्षेत्रफल 3,08,252 वर्ग किलोमीटर हैं. क्षेत्रफल के आधार से देखे तो यह राज्य राजस्थान के बाद भारत का सबसे बड़ा दूसरा राज्य हैं जो भारत के कुल क्षेत्रफल का 9.38% हैं. 

MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI

मध्य प्रदेश कौनसे साल में बना था?

मध्य प्रदेश साल 1950 में बना था. आजादी से पहले ये राज्य 4 हिस्सों में बंटा हुआ था. उस वक्त मध्य प्रदेश की राजधानी नागपूर हुआ करती थी. लेकिन 1 नवंबर 1956 को फिर से गठन किया गया और इसमें मध्यभारत, विंध्यप्रदेश और भोपाल राज्यों को भी इसमें शामिल कर दियाथा.

मध्य प्रदेश का नाम पहले क्या था?

मध्य प्रदेश को पहले मालवा नाम से जाना जाता था.

मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध खाना क्या हैं?

Madhya Pradesh Famous Foods
  • पोहा
  • जलेबी
  • दाल बाफला
  • सीक कबाब
  • भुट्टे का कीस
  • भोपाली गोश्त कोरमा
  • पलक पुरी
  • चक्की की शाक
  • बिरयानी पिलाफ
  • कोपरा पैटीज़
  • शाही शिकंजी
  • मावा-बाटी
  • श्रीखंड
  • खोपरापक
  • मालपुआ

मध्य प्रदेश के जिले कौन-कौन से हैं : MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI

मध्य प्रदेश में कुल 52 जिले हैं. : 

  1. जबलपुर
  2. कटनी
  3. भोपाल
  4. सीधी
  5. बड़वानी
  6. ग्वालियर
  7. धार
  8. उज्जैन
  9. हरदा
  10. शिवपुरी
  11. मंदसौर
  12. रायसेन
  13. शाजापुर
  14. विदिशा
  15. श्योपुर
  16. अशोक नगर
  17. सतना
  18. गुना
  19. खंडवा
  20. डिंडोरी
  21. होशंगाबाद
  22. सिंगरौली
  23. उमरिया
  24. रतलाम
  25. राजगढ़
  26. देवास
  27. छतरपुर
  28. अलीराजपुर
  29. बुरहानपुर
  30. भिंड
  31. सागर
  32. नीमच
  33. दतिया
  34. पन्ना
  35. सीहोर
  36. खरगोन
  37. रीवा
  38. सिवनी
  39. शहडोल
  40. दमोह
  41. टीकमगढ़
  42. झाबुआ
  43. इंदौर
  44. मुरैना
  45. नरसिंहपुर
  46. बालाघाट
  47. मंडला
  48. छिंदवाड़ा
  49. बैतूल
  50. अनूपपुर
  51. आगर
  52. निवारी

मध्य प्रदेश के पड़ोसी राज्य कौन-कौन से हैं?

मध्य प्रदेश 5 राज्यों से घिरा हैं. पश्चिम में गुजरात, दक्षिण में महाराष्ट्र, पूर्व में छत्तीसगढ़, उत्तर में उत्तरप्रदेश और उत्तर पश्चिम में राजस्थान से घिरा हैं.

आज हमने क्या सिखा?

तो आज आपने MADHYA PRADESH KA CAPITAL KYA HAI से लेकर मध्य प्रदेश के बारे में बहुत ही जरुरी रोचक जानकारी ले ली हैं. हम उम्मीद करते हैं कि ये जानकारी आपके काम जरुर आएगी. अगर आप और भी राज्यों के बारे में पढने के लिए interested हैं तो हमारे पेज पर बने रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here