Mobile Phone का इतिहास.
Mobile Phone

Mobile Phone का इतिहास – आज हम दुनिया के चाहे किसी भी कोने में हो, लेकिन हम अपने परिवार, रिश्तेदारों, अपने दोस्तों के साथ हर वक़्त जुड़े रहते है.

ये सब मुमकिन हुआ है सिर्फ ओर सिर्फ एक डिवाइस की वजह से, तो शायद आप जान ही गए होंगे कि हम किसकी बात कर रहे है.हाँ आपने सही सोचा वो है ‘Mobile Phone’ जो हमारी हर जरूरत को पूरा करता है.

Contents hide

क्या आप जानते है मोबाइल का आविष्कार किसने किया था ?

Mobile Phone का इतिहास-Mobile यानी एक उपकरण जिसने हमे आज पूरी दुनिया से मिला रखा है, इसका आविष्कार किसने किया था?तो दोस्तो Mobile Phone का आविष्कार 3 April 1973 को एक अमेरिकी इंजीनियर मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने किया था.

Martin Cooper ने ही दुनिया का सबसे पहला mobile Phone लॉन्च किया था ओर आज उन्ही की बदौलत हम सबसे जुड़े हुए है.

Mobile Phone को बनाने की जरूरत क्यों पड़ी ?

दोस्तो आप सभी जानते है कि Mobile Phone से पहले Telephone का आविष्कार स्कॉटलैंड के वैज्ञानिक अलेक्जेंडर ग्राहम बेल (Alexander Graham Bell) ने 2 जून, 1875 में किया था.

लेकिन Telephone के साथ Wire जुड़ा होता था जिस कारण उसको एक जगह से दूसरी जगह ले जाना मुश्किल था.

दुनिया के इंजीनियर को लगा कि क्यो ना हम एक बिना तार वाला डिवाइस बनाये ओर उस उपकरण को हम एक जगह से दूसरी जगह लेकर भी जा सकते है.इसलिए Mobile Phone का आविष्कार किया गया ओर कहा भी जाता है कि ‘आवश्यकता आविष्कार की जननी है’

अतः इसलिए mobile का आविष्कार किया गया था.

विश्व का पहला Mobile Phone कोनसा था, ओर उसकी क्या क्या विशेषताएं थी ?

Mobile Phone का इतिहास – दुनिया का सबसे पहला Mobile Phone मोटोरोला कंपनी की तरफ से 3 अप्रैल 1973 को बनाया गया था.इस Phone का कुल वजन लगभग 2 kg था.

आज के समय में हम लंबे समय तक Phone का use कर सकते है लेकिन इस mobile पर सिर्फ 30 मिनट तक ही बात की जा सकती थी.

इस phone को वापिस charge कर के पर लगभग 10 घंटे का समय लगता था.उस समय इस Mobile Phone की कीमत लगभग 2700 अमरिकी डॉलर (₹200000) थी.

सबसे पहले कोनसा मोबाइल आम लोगो के लिए बाजार मे लाया गया ?

दुनिया के पहले Mobile Phone के आविष्कार के बाद उसी कंपनी Motorola ने 1983 में आम लोगो के लिए Motorola DynaTAC 8000X Mobile Phone को बाजार में लॉन्च किया था.

एक बार इस Mobile Phone को चार्ज करने पर 30 मिनट तक बात हो सकती थी.इस मोबाइल फोन की एक खूबी यह थी कि इसमें 30 Mobile Number भी Save किये जा सकते थे ओर इसकी price लगभग 3995 अमरिकी डॉलर (₹ 295669) थी.

Computer क्या हे?

India में सबसे पहले कब और कोनसा mobile phone आया था ?

First Mobile In India.आप ये तो जानते ही है कि दुनिया का पहला मोबाइल कब ओर किसने बनाया था तो चलिये जानते है India में mobile फोन कब और इसे किसने लॉन्च किया था.

इंडिया का पहला मोबाइल 31 जुलाई 1995 को भारत के उद्योगपति श्री भूपेन्द्र कुमार मोदी जी द्वारा उन्ही की कंपनी ‘Modi Telstra’ द्वारा लॉन्च  किया गया था.

इस मोबाइल पर पहला call भी उन्ही की कंपनी के नेटवर्क की मदद से कोलकाता से दिल्ली किया गया था.आज हम लोग इस कंपनी को ‘Spice Mobiles’ के नाम से जानते है.

India में आने वाले पहले mobile की call Rate क्या थी ?

Mobile Phone का इतिहास – आज हम कम call Rate पर अपने दोस्तों, रिस्तेदारों से बात कर लेते है, लेकिन जब India में पहला mobile phone लॉन्च किया गया था तब उसकी कॉल रेट 16 रुपये प्रति मिनट थी.

इसमे हैरान करने वाली बात यह है कि इस phone में सिर्फ outgoing कॉल के पैसे के साथ साथ incoming call के पैसे भी लगते थे.

इसका मतलब है कि call Rate दोनों तरफ से लगती थी.

भारत के सबसे पहले मोबाइल service provider कौन है ?

आप सभी जानते है की mobile phone को सुचारू रूप से काम लेने के लिए और उससे call करने के लिए service provider की जरूरत पड़ती है.

भारत के उद्योगपति भूपेंद्र कुमार मोदी जी की कंपनी मोदीटेल्स्ट्रा भारत में इस सर्विस को शुरू करने वाली पहली कंपनी थी.

इसी company ने भारत में सबसे पहले Mobile Service Provider की शुरुवात की थी ओर इसका नाम ‘मोबाइलनेट’ रखा गया था.

इस service को लोगो तक पहुंचाने के लिए नोकिया के हेडसेट का use किया गया था.

Mobile Phone से Smart Phone की तरह बढ़ते कदम

दोस्तो मोबाइल फोन में सिर्फ बात ही हो सकती थी, जिसके कारण लोगो की रुचि उनमे कम होने लगी.मोबाइल फोन में storage की कमी, battery की कमी ओर खास कर उसकी price के कारण इंजिनियर को कुछ नया लाना था जिससे ग्राहकों की रुचि बढ़े.

तो चलिए जानते है किस तरह मोबाइल फोन को एक स्मार्टफोन बनाया गया.

    • दुनिया का पहला स्मार्टफोन :

23 नवंबर 1992 को इंटरनेशनल बिजनेस मशीन कॉरपोरेशन (आईबीएम) ने अमेरिका में दुनिया का पहला स्मार्टफोन पेश किया था.इस स्मार्टफोन की कीमत लगभग 900 डॉलर थी ओर इसकी bettery की Capacity 1 घंटे की थी.

    • भारत का पहला स्मार्टफोन :

आज हर भारतीय के पास स्मार्टफोन है लेकिन जो सबसे पहला स्मार्टफोन था जिसने भारत में कदम रखा वो पहला स्मार्टफोन 22 अक्टूबर 2008 को लॉन्च किया गया था.

यह स्मार्टफोन एचटीसी (HTC) कंपनी द्वारा लॉन्च किया गया था.इस स्मार्टफोन का नाम HTC t-Mobile G1 था जो एंड्रॉयड ओएस पर काम करता था.जिसकी कीमत लगभग 179 डॉलर ( 13000 ) रुपये थी.

दुनिया का पहला touchscreen फोन :

दोस्तों जैसे जैसे इंसान को कुछ मिलता जाता है वैसे वैसे उसका लालच ओर बढ़ता जाता है.

जब लोगो को लगने लगा कि कुछ नया होना चाहिए तो स्मार्टफोन कंपनियों ने अंगुली के इशारों पर चलने वाला mobile phone बनाने की सोची.

दुनिया का पहला Touchscreen Phone वर्ष 1992 में आईबीएम सिमॉन कंपनी द्वारा लॉन्च किया गया लेकिन लोगो के लिए ये 1994 में बाजार मे उतारा गया था. इसकी price 900 डॉलर थी.

स्मार्टफोन की खुबी :

आप नाम से ही समझ सकते है कि स्मार्टफोन कितना स्मार्ट है.दोस्तो आज हर इंसान के पास एक या दो स्मार्टफोन होना तो एक आम बात हो गई है.स्मार्टफोन में आप अपने ऑफिस से लेकर पूरी दुनिया का काम उसमें कर सकते है वो भी बिना किसी रुकावट के.

स्मार्टफोन से आप किसी भी bank में अपने पैसे का लेन देन कर सकते है, जिससे चाहे आप कहा भी हो कभी भी आपको पैसों की दिक्कत नही आती.

आप अपने smart phone की मदद से अपने घर बैठे हुए दुनिया के किसी भी कोने से कुछ भी मंगवा सकते है जिसे हम online shopping कहते है.

आज का smartphone :

दोस्तो आज का स्मार्टफोन वाकई में बहोत स्मार्ट हो गया है.इसमे हम अपनी जरूरत के हिसाब से सब कुछ कर सकते है जैसे गाने सुनना, videos देखना या किसी अजनबी से social media के thru बाते करना.

आज smart phone के बिना शायद ज़िन्दगी अधूरी सी लगती है क्योंकि वो हमें किसी की कमी महसूस नही होने देता है.आज एक सबसे अच्छा स्मार्टफोन आपको लगभग 10000 से 15000 तक कि Price में आसानी से मिल जाता है.

दुनिया का सबसे छोटा Phone कौनसा है ?

Mobile Phone का इतिहास – दुनिया का सबसे छोटा phone जिसकी size एक Credit Card जितनी है, इस अद्भुत phone को दुनिया से मिलाने वाली यूनाइटेड किंगडम की कंपनी ‘Kingstarter’ ने लॉन्च किया है जिसका नाम ‘Zanco Tiny t1’ है.

अगर इस phone की खूबी की बात करे तो इसमें 200mAH की battery लगी है जिसका टॉकटाइम 180 घंटे है.इस फ़ोन का वजन मात्र 13gm है ओर इसमे 0.49 इंच की OLED डिस्प्ले भी लगी है.इसकी इनबिल्ट स्टोरेज 32gb And 32mb रेम भी दी गयी है.

Mobile Phone के advantage and disadvantages क्या क्या है?

दोस्तो इस दुनिया में चाहे कुछ भी हो अगर इंसान उसका एक Limit में रहकर use करे तो वो अच्छा है लेकिन अगर उसका उपयोग ज्यादा होने लगे तो वो बुरा भी साबित हो सकता है.तो चलिए देखते है आज स्मार्टफोन के advantage and disadvantages क्या क्या है ?

Advantage

1. लोगो से जुड़ने ओर काम को सरल बनाने में :

हम स्मार्टफोन की मदद से दुनिया के किसी भी कोने में बैठे किसी भी इंसान से बात कर सकते है.पहले लोगो को एक जगह से दूसरी जगह का रास्ता पूछना पड़ता था पर स्मार्टफोन की मदद से हम किसी भी जगह बिना पूछे जा सकते है.एक smart phone

2. बच्चो की शिक्षा में योगदान :

दोस्तो अगर आज की ही बात करे तो Corona Virus के कारण बच्चो की school बंद है लेकिन, बच्चो को समय पर अच्छी शिक्षा के लिए Smart phone का बहोत ही बड़ा योगदान है.

Smart phone की मदद से Teachers बच्चो को online Class देकर उनकी पढ़ाई पूरी करवा रहे है, क्योकि बच्चे ही एक देश का भविष्य होते है.

3. मानसिक विकास :

अगर स्मार्टफोन ना होते तो लोगो का इतना मानसिक विकास नही हो पाता, क्योकि smart phone की मदद से लोग नई नई चीज़ो के बारे में पढ़, सुन पाते है ओर अशिक्षित लोग अपने परिवार के साथ बैठकर समाचार, कृषि की नई तकनीक आदि की जानकारी ले पाते है.

अतः एक स्मार्टफोन आज कल मानसिक विकास के लिए भी जिम्मेदार है.

4. मनोरंजन की दुनिया में :

आज हम कही भी बैठे गाने सुन सकते है ओर सुनने के साथ साथ देख भी सकते है जिससे हमारा मनोरंजन हो जाता है.आज Youtube जैसे एक बेहतरीन Platform के कारण लोग अपने अंदर छुपे Talent को पूरी दुनिया तक पहुंचा सकते है.

अतः smart phone मनोरंजन करने के साथ साथ किसी के Art को बढ़ावा देने में भी सहायता करता है.

Smartphone के Disadvantages

1. Mobile Game एक बीमारी :

दोस्तो अगर किसी चीज़ का जहां तक सही उपयोग होता है वहाँ तक वो बिल्कुल ठीक है लेकिन अगर उसका Missuse होने लगे तो वो एक खतरा है.दोस्तो शायद आप भी इस बीमारी के शिकार है, ओर वो बीमारी ‘mobile game‘ है.

आज हर बच्चा Mobile पर game खेलता है, लेकिन वो उसमे इतना डूब जाता है की बाहर की दुनिया का उसे कोई पता नही रहता.

कुछ गेम तो जानलेवा भी है उदाहरण के लिए ‘Blue wahel’ ब्लू व्हेल Game एक मौत का game था जिसका अंत सर्फ मौत.

अतः mobile phone game जानलेवा भी साबित हो सकते है.

2. Social Media :

दोस्तो आज हम रोज़ Social Media का use करते है ताकि हम अपने परिवार, दोस्तो से हर वक़्त जुड़े रहे.हम social media का use photo share करने के लिए भी करते है लेकिन हम किसी के बहकावे में आकर कुछ गलती कर बैठते है जिनका परिणाम बहोत बुरा होता है.

आजकल social media पर गंदी photos share कर देते है लेकिन बाद में वही लोग खुद को कभी माफ नही कर पाते है.

अतः आपसे मेरी विनती है की कभी भी अपनी private photos किसी को share ना करे चाहे वो आपका कितना भी करीबी क्यो ना हो.

3. सड़क दुर्घटनाओं का एक कारण :

आपने देखा होगा Road पर लगे Bords पर लिखा होता है की ‘क्रपया मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना करे’ लेकिन कुछ लोग Drive करते समय Mobile Phone का use करते है जिससे Accident होने का खतरा बना रहता है.

दुनिया में हर साल हुए Accident का 30% हिस्सा केवल सड़क पर mobile चलाने की गलती होती है ओर इस एक गलती की वजह से ना जाने कितने लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है.

निष्कर्ष : Conclusion

दोस्तो Mobile Phone हमारे जीवन के लिए एक जरुरी Device है, क्योकि हम इससे हर काम को आसान कर सकते है, लेकिन अगर इसका उपयोग सही ठंग से किया जाए तो ये एक वरदान भी है.

आजकल हर इंसान Smartphone का शौकिन होने के साथ साथ उसमे कुछ नए बदलाव भी चहता है ताकि वो एक नई दुनिया से मिल सके.अतः smart phone एक बहोत ही उपयोगी Device है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here