NFC Kya Hai

NFC Kya Hai.आज के समय में wireless devices या gadgets का इस्तेमाल काफी बढ़ रहा है। क्योंकि wireless होने का फायदा ये होता है की उसमे किसी तरह का तार नहीं होता। ऐसे ही एक technology है NFC.

NFC इस्तेमाल करने में काफी आसान है इसलिए इस लेख में आपको NFC के फूल फॉर्म, इसका इस्तेमाल, इसके काम करने का तरीका और इससे आप data transfer कैसे कर सकते हैं ये सब कुछ जानेंगे। 

NFC का फूल फॉर्म:

NFC का फूल फॉर्म है, NEARFIELD COMMUNICATION. इसका मतलब होता है पास के क्षेत्र में संचार।

NFC Kya Hai:

एनएफसी (NFC) कम दूरी में communication करने का एक wireless technology है जिसकी मदद से हम दो electronic यंत्र को पास में रखकर उनके बीच communicate या data transfer कर सकते हैं।

एनएफसी में electromagnetic radio waves का इस्तेमाल किया जाता है। ये अधिकतम 10cm तक की दूरी में काम कर सकते है लेकिन इसका ठीक से इस्तेमाल करने के लिए आपके दोनों devices को 4 cm से कम दूरी पर रखना चाहिए।

NFC का इस्तेमाल data sharing से लेकर communication, contactless payment और smart devices में किया जाता है। इस टेक्नॉलजी का speed काफी कम होता है और devices नजदीक होने पर ही काम करता है।

Types Of NFC Device: NFC In Hindi.

NFC डिवाइस दो प्रकार के होते हैं-

Active NFC Devices-

ऐक्टिव एनएफसी device वो होते हैं जिनमें electronic current का flow होता है। active nfc devices data को send करने के साथ-साथ receive भी कर सकते हैं।

कोई भी दो device जिनमे ऐक्टिव एनएफसी लगा हुआ हो वो एक दूसरे से connect हो सकते हैं और data transfer कर सकते हैं। एक ऐक्टिव NFC device किसी दूसरे passive device से भी data को receive कर सकता है।

उदाहरण: mobile phone जिसमे NFC लगा हो, smart devices में लगे हुए NFC.

Passive NFC Devices-

पैसिव एनएफसी devices में electric current का flow नहीं होता है। passive devices में data को receive नहीं किया जा सकता है लेकिन कोई दूसरा active device इससे data को receive कर सकता है।

एक passive NFC device को दूसरे passive NFC device से connect नहीं किया जा सकता है। इसके लिए हमेशा एक active device होना चाहिए।

उदाहरण: NFC tags,NFC Cards.

एनएफसी कैसे काम करता है?  

NFC Kya Hai.एनएफसी (NFC) devices में data transfer करने और communication करने के लिए inductive coupling का इस्तेमाल होता है।

इसकी मदद से इसमें से electromagnetic radio waves निकलते हैं जो NFC के communication और data transfer का काम पूरा करते हैं।

NFC mode

NFC तीन मोड में काम कर सकता है-

Peer to peer NFC mode: NFC In Hindi
इस मोड में दो nfc enabled devices आपस में communicate कर सकते हैं और आपस में data transfer भी कर सकते हैं।

यदि दो smartphone जिनमे NFC लगा हो उन्हें पास लाया जाए तो peer to peer mode में उनके बीच data transfer होता है।

Card emulator NFC mode
card emulator mode में एक nfc device को smart card की तरह use किया जा सकता है और इसके जरिए contactless payment किया जा सकता है।

इस मोड में आप smartphone को card की तरह इस्तेमाल करके payment कर सकते हैं।
NFC लगे हुए contactless card में भी इस mode से payment किया जा सकता है।

Reader/writer mode
इस मोड में एक nfc enabled device से दूसरे nfc device में store किए हुए information को पढ़ा जा सकता है।

इसका इस्तेमाल ज्यादातर nfc tag में store किये हुए information को पढ़ने के लिए किया जाता है।

NFC tag में information को feed करने के लिए भी इसी मोड का इस्तेमाल होता है।



Uses Of NFC In Hindi:

NFC Kya Hai में एनएफसी (nfc) का इस्तेमाल wireless data transfer, contactless payment, smart cards, nfc tag आदि में किया जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए nfc लगे हुए दो devices को एक पास रखना पड़ता है।

एनएफसी Nfc का इस्तेमाल आप किसी भी दो active nfc devices या एक active और दूसरा passive nfc device के बीच कर सकते हैं। दो passive nfc devices के बीच में communication नहीं हो सकता है।

एनएफसी (Nfc) का इस्तेमाल इस प्रकार से होता है-

  • डाटा भेजने के लिए-Data transfer

NFC In Hindi में NFC का इस्तेमाल किसी भी डाटा को एक nfc device से दूसरे nfc device मे भेजने के लिए किया जा सकता है। इसके मदद से आप photo, video या अन्य file भेज सकते हैं।

Nfc के जरिए data transfer की speed लगभग 106 kb/sec से लेकर 424 kb/sec होती है। चूंकि इसके data transfer करने की स्पीड कम है इसलिए इसका इस्तेमाल इसके लिए कम किया जाता है।

इसका सबसे बढ़िया उदाहरण है nfc लगे हुए एक smartphone से दूसरे smartphone में audio ,video photo या फाइल transfer करना।

  • कान्टैक्टलेस पेमेंट करने के लिए – contactless Payment

Contactless payment के लिए nfc का इस्तेमाल काफी अधिक हो रहा है। इसके लिए आपके nfc enabled smartphone या अन्य payment device को nfc reader के पास रखना होता है।

उसके बाद आपके फोन में save किया हुआ encrypted payment data उस nfc reader में transfer हो जाता है।

हालांकि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए payment wallet ,nfc reader से तभी data share करते हैं जब वो payment वाला app आप open करते हैं।

NFC के जरिए payment करने की सुविधा google pay और apple pay देते हैं।

  • अन्य वायरलेस कनेक्शन बनाने के लिए- configure other connection like Bluetooth,wifi etc.

किसी भी तरह का wireless connection बनाने के लिए आपको device को search करके pairing कराना पड़ता है उसके बाद connect होता है। nfc की मदद से ये सारे काम चुटकियों में हो जाएंगे वो भी बिना कुछ किए।

जैसे ही दो nfc devices को एक पास रखते हैं वो अपने आप ही connection बना लेते हैं। ऐसे में यदि Bluetooth के जरिए दोनों device को connect करना चाहते हैं तो आपको बस Bluetooth को on करके उन्हे एक पास रखने की जरूरत है।

उसके बाद उन दोनों device की pairing अपने से हो जाएगी। ठीक इसी तरह से आप wifi को भी configure कर सकते हैं।

  • एनएफसी टैग – Nfc tag

NFC Kya Hai में एनएफसी टैग को एक business card या अन्य कार्ड के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कुछ information जैसे की company का नाम , पता, मोबाईल नंबर आदि save होता है।

आप चाहें तो nfc tag में अपने data को save कर सकते हैं और उसे अपने office में लगा सकते हैं।

उसके बाद आप जिनको भी वो data देना चाहते हैं उन्हे उस nfc tag के पास अपना मोबाईल लेकर जाने को बोलें। यदि उनके फोन में nfc होगा तो वो data अपने से transfer हो जाएगा।

  • स्मार्ट लाकर – Smart Locker

जिस तरह से smart locker में आप password डालते है और वो locker close/open हो जाता है वैसे ही यदि उसी password को nfc device में feed कर दिया जाए तो आपको बार-बार password डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

जब भी आप उस nfc device को locker के पास लेकर जाएंगे तब वो अपने से close/open हो जाएगा। इसके लिए आपके smart locker में भी nfc होना चाहिए।



NFC Kya Hai में Data Transfer कैसे करें:

एनएफसी (Nfc) से data transfer करने के लिए आपको उन दोनों devices के nfc को on करके उनको एक पास रखना होगा जिनके बीच आप डाटा को transfer करना चाहते हैं। अब आप जो भी file या data transfer करना चाहते हैं उसे open करें।

जब आप उस file को एक device में open करेंगे तो वो दूसरे पास में रखे हुए nfc device में transfer होने लगेगा। जब दूसरे device में transfer पूरा हो जाए तो आपको उसे सेव करना होगा। 

जिओ फोन में एनएफसी:

अभी कुछ सालों पहले reliance द्वारा launch किये गए jio phone में भी nfc लगा हुआ है। ये jio phone के back cover में लगा हुआ है।

इसके इस्तेमाल से आप आस-पास में nfc communication कर सकते हैं। jio phone में settings में जाने पर आपको nfc का option देखने को मिल जाएगा। हालांकि इसके users का कहना है की ये ठीक से काम नहीं करता है।

NFC Kya Hai के फायदे:

एनएफसी इस्तेमाल करने से पहले आप इसके फ़ायदों के बारे में जरूर जानना चाहेंगे। तो चलिए जानते हैं इसके क्या-क्या advantages हैं-

1.इस्तेमाल करने में आसानी:

एनएफसी (nfc) device एक दूसरे के पास रखने पर अपने से connect होने लगता है। इससे आपका वो समय बच जाता है जिसमे आप password डालकर दोनों device को कनेक्ट करते हैं।

2.विभिन्न रूप में इस्तेमाल होना:

Nfc technology को कई तरह के devices में कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे की smartphone , debit card, credit card, smart locker, business card आदि।

3.दूसरे Wireless Technology को भी Pairing कराना:

अगर आपको अपना Bluetooth या wifi on करके किसी device से connect कराना हो तो nfc ये काम तुरंत कर देता है।

Normally, आपको Bluetooth on करने के बाद search करना पड़ता है उसके बाद device से pairing करानी पड़ती है।

लेकिन यदि आप nfc की मदद लेते हैं तो आपको ये सब नहीं करना पड़ेगा और pairing अपने से हो जाएगी।

4.कम Battery Power लेना:

अन्य wireless technology की तुलना में ये काफी कम battery का इस्तेमाल करता है। इससे आपके device की बैटरी की बचत होती है।

NFC In Hindi के नुकसान:

हर चीज के फ़ायदों के साथ नुकसान भी होते हैं वैसे ही nfc के भी कुछ नुकसान या disadvantage हैं जो नीचे दिए गए हैं-

    • Nfc सिर्फ कम दूरी पर ही काम करता है इसलिए इससे communication करने के लिए दोनों devices का पास होना जरूरी है।
    • Nfc technology अन्य wireless technology की तुलना में महंगा है ऐसे में इसे इस समय आम लोगों तक पहुंचाना मुश्किल है।
    • यदि आप सावधानी से इस्तेमाल नहीं करते तो आपका device hack हो सकता है।

NFC Kya Hai की सुरक्षा:

यदि आप चाहते हैं की आपका nfc device सुरक्षित रहे तो आप इसे हमेशा on करके ना छोड़ें। जब आपको इसका इस्तेमाल करना हो तभी on करें उसके बाद off कर दें।

कहीं भी public place पर यदि आप इसे on करते हैं तो ध्यान रखें की आपके पास कोई अन्य व्यक्ति भी अपना device लेकर ना आए नहीं तो वो आपके device से communicate कर सकता है और आपकी security को नुकसान पहुंचा सकता है।

NFC Fraud:

ऐसे होता है NFC Kya Hai में Fraud-

मान लीजिए आपने अपने डिवाइस के nfc को on करके छोड़ दिया है और आप कहीं भीड़-भाड़ वाली जगह जैसे bus या train में हैं।

ऐसे में यदि कोई अन्य व्यक्ति चाहे तो वो बिना आपकी जानकारी के आपके जेब में रखे हुए device को अपने जेब में रखे हुए device से touch कर सकता है।

इतना करने के बाद आपका device उसके device से connect हो जाएगा और आप उसके शिकार हो सकते हैं। वो आपके device को hack कर सकता है और अन्य नुकसान पहुँचा सकता है।

NFC vs Bluetooth:

एनएफसी और ब्लूटूथ में यदि comparison करें तो कुछ जगह पर nfc बेहतर है और कुछ जगह पर ब्लूटूथ। जैसे-

NFC BLUETOOTH
  • इसमे Devices पास लाने पर अपने से कनेक्ट हो जाते हैं.
  • इसमें Devices को Search करके Pairing करानी पड़ती है तब डिवाइस Connect होता है.
  • इसकी स्पीड Bluetooth से कम होती है.
  • इसके नए Version की डाटा Transfer की Speed अधिक होती है 1 से 2 mb/sec तक.
  • इसका Range 10 cm तक ही होता है.
  • इसकी रेंज 400 मीटर तक है.
  • ये महंगा है.
  • ये सस्ता है.
  • ये कम Power Consume करता है.
  • ये अधिक Power Consume करता है.
निष्कर्ष:

Nfc एक नई Technology है जो अभी बहुत ही कम लोगों तक पहुँच पाई है। क्योंकि ये अन्य की तुलना में महंगा है। लेकिन इसके आसान इस्तेमाल करने के तरीके से इसे भविष्य में अपनाया जा सकता है।

यदि इसे सही से इस्तेमाल किया जाए तो इसे सुरक्षित तरीके से हर जगह Apply किया जा सकता है। इसके काम करने का तरीका और इस्तेमाल इस लेख से आपको पता चल ही गया होगा।

हमें उम्मीद है की आपको ये आर्टिकल NFC Kya Hai पसंद आया होगा लेकिन यदि फिर भी आपका कोई सवाल सवाल हो तो comment करके जरूर पूछें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here