Bengali Bengali English English Hindi Hindi Marathi Marathi

Operating System क्या है

Operating System क्या है.माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ (Microsoft Windows) अर्थात विंडोज़ (Windows), सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम (Software Operating System) की एक श्रृंखला (Series) है।

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ एक सिस्टम प्रोग्राम (System Program) है जो कंप्यूटर हार्डवेयर (Computer Hardware) का प्रबंधन करता है, यह कंप्यूटर एप्लिकेशन को आधार भी प्रदान करता है और कंप्यूटर हार्डवेयर तथा कंप्यूटर के उपयोगकर्ता के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है।

1985 में माइक्रोसॉफ्ट ने लोगो में ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस (Graphical User Interface) और Operating System के प्रति बढ़ती उत्सुकता को देखकर MS – DOS के बाद MS – WINDOWS की पेशकश की।

समय के साथ Technology में बदलाव आने और यूजर डिमांड्स पर Windows Operating System ने खुद में बहुत सारे बेहतरीन बदलाव किये और एक के बाद एक अपडेटेड वर्शन (Updated Version) की पेशकश की।

Windows Operating System क्या है.

WINDOWS 1.X:

Microsoft Windows का प्रथम संस्करण, WINDOWS 1.0 की पेशकश बिल गेट्स ने 20 November 1985 को किया । Windows 1.0 को ‘इंटरफ़ेस मैनेजर’ (Interface Manager) के नाम से भी जाना जाता था।

Windows 1.0 को MS-DOS के बाद प्रस्तुत किया गया जिससे की इसने थोड़ी-बहुत  लोकप्रियता भी प्राप्त की। Windows 1.0 एक पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम (Complete Operating system) नहीं था, बल्कि एक ‘Operating Environment’ था, जिसने MS-DOS को बढ़ावा दिया और साथ-ही-साथ कुछ खामियों और त्रुटियों को दूर भी किया।

यह MS-DOS स्थापना (Installation) पर एक Graphical User Interface, 16-BIT (बिट) मल्टीटास्किंग शेल (Multitasking Shell) के रूप में काम करता था।

Windows के पहले संस्करण में

  • विंडोज राइट (Windows Right),
  • वर्ड प्रोसेसर (Word Processor),
  • विंडोज पेंट (Windows Paint) नामक एक ग्राफिक्स पेंटिंग प्रोग्राम,
  • नियुक्ति कैलेंडर  (Appointment Calendar),
  • कार्ड-फाइलर,
  • नोटपैड, घड़ी, Control Panel,
  • एक कंप्यूटर टर्मिनल,
  • क्लिपबोर्ड (Clipboard)
  • और RAM Driver शामिल किया गया था।
  • इसमें गेम्स (Games) को भी शामिल किया गया जिनका नाम रिवर्सी और MS-DOS Executive था।

MS-DOS एक ऐसा Operating Environment प्रदान करता है जो Windows के लिए बनाये गए सचित्र कार्यक्रम (Pictorial Programs) के साथ मौजूद MS-DOS Software को भी Execute कर सकता है।

Windows 1.X के सीरीज में Windows 1.0 के साथ-साथ Windows 1.02, Windows 1.03, Windows 1.04 भी शामिल थे।

WINDOWS 2.X:

History Of Microsoft Windows.9th December 1987 को माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की एक नयी श्रृंखला की पेशकश की, जो की MS-DOS पर ही आधारित एक ऑपरेटिंग वातावरण ‘Operating Environment’  था, जिसे WINDOWS 2.0 के नाम से जाना गया। यह WINDOWS 1.0 का Updated Version था ।

विंडोज 1.0 के तरह विंडोज 2.0 भी 16- BIT का Graphical User Interface पर आधारित माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग वातावरण है।

विंडोज 2.0 पेश करने के छह महीने के अंदर ही माइक्रोसॉफ्ट ने 27th मई 1988 को विंडोज/286 2.0 और विंडोज/386 2.0 को पेश किया।

हालांकि माइक्रोसॉफ्ट ने दिसंबर 1987 में विंडोज 2.0 आने के पहले ही विंडोज/386 के पुराने संस्करण जैसे – विंडोज 2.01 को सितम्बर 1987 में ही पेश कर दिया था।

ये संस्करण Intel- 80286 और Intel- 80386 प्रोसेसर्स (Processors) के विशिष्ट सुविधाओं का लाभ उठा सकते थे।

यह प्रथम बार हुआ था जब विंडोज को स्थापना (Installation) के लिए एक हार्ड डिस्क (Hard Disk) की जरूरत पड़ी। Windows 2.X के सीरीज में Windows 2.0 के साथ-साथ Windows 2.03, Windows 2.10, Windows 2.11 भी शामिल थे।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग-Software Engineer

WINDOWS 3.0:

यह माइक्रोसॉफ्ट के सभी बड़े ऑपरेटिंग सिस्टमस एनवायरनमेंट में से एक है, जिसे माइक्रोसॉफ्ट ने 22 मई 1990 को प्रस्तुत किया।

पहले के दो ऑपरेटिंग एनवायरनमेंट वर्शन के तरह ही WINDOWS 3.0 भी एक ऑपरेटिंग एनवायरनमेंट था जो की MS-DOS पर आधारित और उसके ही सिस्टम प्रोग्राम पर काम करता था।

इस ऑपरेटिंग एनवायरनमेंट ने एक नया ग्राफिकल यूजर इंटरफेस प्रस्तुत किया था जहाँ एप्लीकेशन प्रोग्राम को क्लिक कर के उसे एक योग्य आइकॉन (Icon) के रूप में दर्शया जाता था, इसके पूर्ववर्तियों में दिखने वाले फाइल्स (Files) के नामों की सूची के विपरीत।

इसके बाद के अपडेट सॉफ़्टवेयरस के कार्य क्षमताओं में विस्तार हुआ, जिनमें ध्वनि मुद्रण (Sound Recording) और प्लेबैक (Playback) के लिए एक मल्टीमीडिया (Multimedia)  और साथ-ही-साथ सीडी-रोम (CD-ROM) के लिए समर्थन (Support) भी शामिल थे।

विंडोज 3.0 को, Apple Macintosh और Commodore के लिए एक चुनौती मना गया। इसकी मुख्य विशेषताएं बेहतर अनुकूलन (Customisable), बेहतर मल्टीटास्किंग (Multi-tasking) और मुख्य रूप से कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory) की उपयोगिता प्रबंधन थी जो की Windows 3.0 के पहले के संस्करणों के लिए उपलब्ध नहीं थे।

WINDOWS 3.1:

Windows Operating System क्या है.विंडोज 3.1 की पेशकश माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा 6th अप्रैल 1992 को की गई।

पहले के संस्करणों के तरह विंडोज 3.1 भी 16- बिट ऑपरेटिंग वातावरण पर आधारित था तथा यह भी MS-DOS के प्लेटफार्म पर काम करता था और साथ-ही-साथ इसने MS-DOS पर बहुत सारे  सुधार भी पेश किये.

जिसमे मल्टीमीडिया, ट्रू टाइप फ़ॉन्ट (True Type fonts), सिस्टम की स्थिरता में सुधार और वर्कग्रूप नेटवर्किंग (Work group Networking) को शामिल किया गया था। 31 दिसंबर, 2001 को इसका आधिकारिक समर्थन देना समाप्त हो गया।

WINDOWS NETWORK SERVER (NT) 3.1:

विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) 3.1 ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) की पेशकश माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा 27 जुलाई 1993 को की गई। इसका सांकेतिक-नाम (Code Name) रज़्ज़ल (Razzle) रखा गया था। यह विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) का पहला रिलीज़ था।

विंडोज एन.टी. के पहले के सभी ऑपरेटिंग एनवायरनमेंट (Operating Environment), MS-DOS के प्लेटफार्म पर चलने वाले थे और उनका आर्किटेक्चर 16-बिट था लेकिन विंडोज एन.टी. 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम था.

और साथ-ही-साथ इसमें विंडोज 3.1 का डेस्कटॉप वातावरण (Desktop Environment) भी था ताकि WINDOWS 3.1 के उपयोगकर्ताओं को विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) 3.1 चलाने में सुविधा हो।

WINDOWS NETWORK SERVER (NT) 3.5:

विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) 3.5 ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) की पेशकश माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा 21 सितंबर 1994 को की गई। यह विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) का दूसरा रिलीज़ था।

इसका सांकेतिक-नाम डेटोना (Daytona) रखा गया था। इसके श्रृंखला में विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) 3.51 भी शामिल था। 31 दिसंबर, 2001 को इसका आधिकारिक समर्थन देना समाप्त हो गया।

WINDOWS 95:

History Of Microsoft Windows.इसका सांकेतिक-नाम शिकागो (Chicago) था। यह माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पेश किया गया विंडोज 9X परिवार का पहला सदस्य था।

इसका विनिर्माण (Manufacture) 15 अगस्त, 1995 और खुदरा बिक्री 24 अगस्त 1995 को उपलब्ध किया गया। इसने MS-DOS और माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ उत्पादों को एक साथ मिला दिया।

माइक्रोसॉफ्ट ने पहले के विंडोज संस्करणों से ज्यादा सुविधाजनक इसे बनाया। इसमें 16-बिट आर्किटेक्चर के जगह 32-बिट आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया।

WINDOWS NETWORK SERVER (NT) 4.0:

विंडोज नेटवर्क सर्वर (एन.टी) 4.0 ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पेश किया गया। इसका विनिर्माण (Manufacture) 31 जुलाई 1996 और खुदरा बिक्री 24 अगस्त 1996 को उपलब्ध किया गया।

यह Windows 2000 के आने के पहले तक माइक्रोसॉफ्ट का सबसे प्राथमिक व्यवसाय-उन्मुख (Primary Business-Oriented) ऑपरेटिंग सिस्टम था।

WINDOWS 98:

इसका सांकेतिक-नाम मेमफिस (Memphis) था। यह माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पेश किया गया और यह विंडोज 9X परिवार का दूसरा सदस्य था। इसका विनिर्माण (Manufacture) 15 मई 1998 को किया गया।

विन्डोज़ 98, विंडोज 95 का अपडेटेड वर्शन है। इसमें हाइब्रिड 16-बिट/32-बिट आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया।

WINDOWS 2000:

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम था । इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 15 दिसंबर 1999 और खुदरा बिक्री 17 फरवरी 2000 को उपलब्ध किया गया।

इसका सांकेतिक-नाम WINDOWS NETWORK SERVER (NT) 5.0 था।

विन्डोज़ 2000, विंडोज एन.टी 4.0 का अपडेटेड वर्शन है। यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया 21st सदी का सबसे पहला ऑपरेटिंग सिस्टम था।

Windows Millennium (ME):

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम था। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 19 जून 2000 को उपलब्ध किया गया। यह माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पेश किया गया विंडोज 9X परिवार का सदस्य और उस श्रृंखला का अंतिम ऑपरेटिंग सिस्टम था।

जिसको मुख्य रूप से होम पीसी के लिए बनाया गया था। इसमें इंटरनेट एक्सप्लोरर 5.5 (Internet Explorer 5.5), विंडोज मीडिया प्लेयर 7 (Windows Media Player 7) और विंडोज मूवी मेकर (Windows Movie Maker) सॉफ्टवेयर शामिल थे।

Windows eXPerience (XP):

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम था। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 24 अक्टूबर 2001 को उपलब्ध किया गया।

इसका सांकेतिक-नाम व्हिस्टलर (Whistler) था। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज़ एक्स पी (XP) के मुख्य अवतरण को पेश किया,जो इस प्रकार थे:

    • विंडोज़ एक्स पी होम (Windows XP Home)
    • विंडोज़ एक्स पी प्रोफेशनल (Windows XP Professional)
    • विंडोज़ एक्स पी 64-बिट (Windows XP 64-bit Edition)
    • विंडोज़ एक्स पी स्टार्टर (Windows XP Starter)
    • विंडोज एक्स पी एम्बेडेड ” कोडनेम्ड मैंटिस” (Windows XP Embedded “Codenamed Mantis”)
    • विंडोज फंडामेंटल्स फॉर लिगेसी पीसी (Windows Fundamentals for Legacy PCs)

Windows Vista:

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम था। इसका सांकेतिक-नाम लोंगहॉर्न (Longhorn) था। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 8th नवम्बर 2006 को उपलब्ध किया गया।

विंडोज विस्टा को सबसे ज्यादा लोकप्रियता उसके त्रिआयामी ग्राफिक्स (Three dimensional Graphics) , एनीमेशन (Animation) के कारण मिली और इसे सबसे सुरक्षित ऑपरेटिंग सिस्टम भी माना गया। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज विस्टा के मुख्य अवतरण को पेश किया,जो इस प्रकार थे:

    • विंडोज विस्टा  स्टार्टर (Windows Vista Starter)
    • विंडोज विस्टा  होम  प्रीमियम (Windows Vista Home Premium)
    • विंडोज विस्टा  होम  बेसिक (Windows Vista Home Basic)
    • विंडोज विस्टा  एंटरप्राइज (Windows Vista Enterprise)
    • विंडोज विस्टा  अल्टीमेट (Windows Vista Ultimate)
    • विंडोज विस्टा  बिज़नेस (Windows Vista Business)

Windows 7:

Windows Operating System क्या है.यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है था। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 23 अक्टूबर 2009 को उपलब्ध किया गया।

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 7 को उसके पिछले ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज विस्टा से ज्यादा उपयोक्ता मैत्रीपूर्ण (User Friendly) बनाने के लिए उसमे कई सारे आवश्यक सुधार किये।

माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार ये उसके बनाये गए ऑपरेटिंग सिस्टम्स में से सबसे बेहतरीन और आसान ऑपरेटिंग सिस्टम है। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज-7 के मुख्य अवतरण को पेश किया, जो इस प्रकार थे:

    • विंडोज 7 स्टार्टर (Windows 7 Starter)
    • विंडोज 7 होम  बेसिक (Windows 7 Home Basic)
    • विंडोज 7 होम  प्रीमियम (Windows 7 Home Premium)
    • विंडोज 7 प्रोफेशनल (Windows 7 Professional)
    • विंडोज 7 अल्टीमेट (Windows 7 Ultimate)
    • विंडोज 7 एंटरप्राइज (Windows 7 Enterprise)
    • विंडोज थिनं  पीसी  (Windows Thin PC)

Windows 8:

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 1 अगस्त 2012 को उपलब्ध किया गया है।

इस ऑपरेटिंग सिस्टम में IA-32 और X-64 आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया है। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज-8 के मुख्य अवतरण को पेश किया, जो इस प्रकार हैं:

    • विंडोज  8 (Windows 8)
    • विंडोज  8 प्रो (Windows 8 Pro)
    • विंडोज  8 एंटरप्राइज (Windows 8 Enterprise)
    • विंडोज  8 ओईएम (Windows 8 OEM)

NB: OEM-Original Equipment manufacturer.

Windows 8.1:

यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 27 अगस्त 2013 को उपलब्ध किया गया है।

इसका सांकेतिक-नाम ब्लू (blue) था। इसमें भी विंडोज 8 के तरह ही आईए-32 (IA-32) और एक्स-64 (X-64) आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया है। है। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज-8.1 के मुख्य अवतरण को पेश किया, जो इस प्रकार हैं:

    • विंडोज  1 (Windows 8.1)
    • विंडोज  1 प्रो (Windows 8.1 Pro)
    • विंडोज  1 एंटरप्राइज (Windows 8.1 Enterprise)
    • विंडोज  1 ओईएम (Windows 8.1 OEM)
    • विंडोज  1 विथ बिंग (Windows 8.1 with Bing)
Windows 10:

Windows Operating System क्या है.यह माइक्रोसॉफ्ट द्वारा पेश किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का विनिर्माण (Manufacture) 15 जुलाई 2015 को उपलब्ध किया गया है।

इसका सांकेतिक-नाम ब्लू (blue) था। इस ऑपरेटिंग सिस्टम में आईए-32 (IA-32), एक्स-86 (X-86) (32 bit) – 64 (64 bit) आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया है।

माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पेश किये गए ऑपरेटिंग सिस्टमस में से यह अब तह का सबसे नया और आखिरी ऑपरेटिंग सिस्टम है। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज-10 के मुख्य अवतरण को पेश किया, जो इस प्रकार हैं:

    • विंडोज 10 होम (Windows 10 Home)
    • विंडोज 10 प्रो (Windows 10 Pro)
    • विंडोज 10 प्रो  फॉर  वर्कस्टेशन्स (Windows 10 Pro for Workstations)
    • विंडोज 10 प्रो  एजुकेशन (Windows 10 Pro Education)
    • विंडोज 10 एंटरप्राइज (Windows 10 Enterprise)
    • विंडोज 10 एंटरप्राइज LTSC (Windows 10 Enterprise LTSC)
    • विंडोज 10 एजुकेशन (Windows 10 Education)
    • विंडोज 10 आईओटी  कोर (Windows 10 IoT Core)
    • विंडोज 10 आईओटी एंटरप्राइज (Windows 10 IoT Enterprise)
    • विंडोज 10 ऐश (Windows 10 S)  
Conclusion :

Operating System क्या है.माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाये गए सभी ऑपरेटिंग सिस्टम जो की 1985 से 2015 तक के बिच बनाये गए, हर एक में माइक्रोसॉफ्ट ने बेहतरीन आर्किटेक्चर (Architecture) और ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस (Graphical User Interface) का प्रयोग किया और हमें एक से बढ़कर एक विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की सुविधा प्रदान की।

जहाँ एक तरफ माइक्रोसॉफ्ट ने MS-DOS में कई Updation करके हमें विंडोज के कई सीरीज दिए जैसे की – विंडोज 1x, विंडोज 2x, विंडोज NT, वही दूसरी ओर विंडोज विस्टा (Vista) के द्वारा हमें बेहतरीन त्रिआयामी ग्राफिक्स (Three dimensionalGraphics) , एनीमेशन (Animation) वाला ऑपरेटिंग सिस्टम भी प्रदान किया ।

माइक्रोसॉफ्ट ने 21st सदी का सबसे पहला ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 2000 बना कर, उपयोगकर्ता को काफी सुविधा प्रदान की। विंडोज मिल्लीनियम (Windows Millennium) से ऑपरेटिंग सिस्टम में काफी बदलाव आये, इसे माइक्रोसॉफ्ट ने मुख्य रूप से होम पीसी के लिए बनाया था।

इसके बाद के सभी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम्स (XP, VISTA, 7, 8, 8.1, 10) में माइक्रोसॉफ्ट ने बहुत सारे अवतरण को पेश किया, जैसे की – विंडोज होम, विंडोज स्टार्टर पैक, विंडोज़ प्रोफेशनल, इत्यादि, पर हर एक में एक से बढ़ कर एक Updation प्रदान करता गया, और अभी का सबसे अंतिम विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम Windows 10.

Windows 10 में माइक्रोसॉफ्ट ने सबसे बेहतरीन आईए-32 (IA-32), एक्स-86 (X-86) (32 bit) – 64 (64 bit) आर्किटेक्चर का उपयोग किया गया है और साथ-ही-साथ इसमें –

विंडोज 10 एंटरप्राइज LTSC (Windows 10 Enterprise LTSC),

विंडोज 10 एजुकेशन (Windows 10 Education),

विंडोज 10 आईओटी कोर (Windows 10 IoT Core),

विंडोज 10 आईओटी एंटरप्राइज (Windows 10 IoT Enterprise),

विंडोज 10 ऐश (Windows 10 S) का भी उपयोग किया गया है, जो की आज के टेक्नोलॉजी फील्ड की सबसे बड़ी डिमांड है और ये काफी यूजर फ्रेंडली भी है। माइक्रोसॉफ्ट का ये दवा है के आने वाले समय में वो और भी बेहतरीन ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस और आर्किटेक्चर का उपयोग करेगा।

Animesh Bhaumik
Hello Friends, Welcome to our site techbagz.com. मे Animesh Bhaumik a Commerce Graduate and Techbagz की टेक्निकल ऑथर एंड फाउंडर हे. नई नई टेक्नोलॉजी एंड others information ब्लॉग में पोस्ट करता रहता हु. अगर आपको इ सब आर्टिकल पसंद आता हे तो हमें बहुत खुसी होगा.We Techbagz Support Digital India.

Related Articles

NFC Kya Hai.NFC Details In Hindi.

NFC Kya Hai.आज के समय में wireless devices या gadgets का इस्तेमाल काफी बढ़ रहा है। क्योंकि wireless होने का फायदा ये होता है...

UPI Kya Hai.UPI Details In Hindi

UPI Kya Hai.आजकल यूपीआई (UPI) का इस्तेमाल कर digital transaction करना काफी आसान हो गया है। नोटबंदी के बाद से ही सरकार digital payment...

Captcha Code Kya Hai

Captcha Code Kya Hai.कैप्चा कोड भरते समय आपके भी मन में आता होगा की ये क्या है और आपसे ये क्यों भरवाया जाता है।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

251FansLike
200FollowersFollow
200FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

Latest Articles

%d bloggers like this: