OTT Full Form

OTT Full Form.पहले के समय में entertainment के सिर्फ दो ही माध्यम थे पहला television और दूसरा रेडियो। लेकिन समय के साथ-साथ मोबाईल आया और इनका इस्तेमाल कम हो गया। लेकिन आज के समय में entertainment का उभरता हुआ माध्यम है OTT.

Television पर जहां आपको जबरदस्ती ads देखना पड़ता है वहीं OTT पर थोड़े से पैसे देकर आप बिना ads के आपके program देख सकते हैं।

इसके साथ ही आप अपनी मनचाही विडिओ या movie भी देख सकते हैं।इसके अलावा भी इसके बहुत सारे फायदे और नुकसान भी हैं।

यदि आप भी OTT के बारे में और अधिक जानकारी चाहते हैं तो इस आर्टिकल के साथ बने रहें।

OTT Full Form – OTT kya hai:

OTT, इंटरनेट के जरिए media streaming की सुविधा देने वाला एक माध्यम है। ये मीडिया content को इंटरनेट के माध्यम से सीधे यूजर तक पहुंचाता है। ये video और टीवी पर आने वाले फिल्म आदि को इंटरनेट के माध्यम से अपने यूजर को उपलब्ध कराता है।

हालांकि OTT का असल में मतलब ये होता है की किसी भी content को इंटरनेट के जरिए यूजर तक पहुंचाने का माध्यम। इसलिए OTT के अंदर विडिओ के अलावा messaging apps जैसे की whatsapp आदि भी शामिल होते हैं।

OTT प्लेटफॉर्म पर कोई भी विडिओ या अन्य मीडिया access करने के लिए आपके पास इंटरनेट का connection होना जरूरी है। इसके अलावा आपके पास उस OTT प्लेटफॉर्म का subscription भी होना चाहिए जिसका कंटेन्ट आप देखना चाहते हैं।

OTT Full Form :

OTT का फूल फॉर्म “over the top” होता है। इसका मतलब है की इसके जरिए कोई भी media stream करने के लिए आपके पास सिर्फ इंटरनेट का कनेक्शन होना चाहिए। इसमें किसी तरह के cable या satellite का इस्तेमाल नहीं होता है जैसा की traditional टीवी में होता है।  

Types of OTT:

OTT Kya Hai, आम लोगों में ओटीटी को लेकर एक भ्रम है की सिर्फ movie और video की सर्विस देने वाली कम्पनियाँ ही इसके अंतर्गत आती हैं लेकिन असल में ओटीटी को हम चार प्रकार से बाँट सकते हैं।

1.Service based OTT –

OTT Kya Hai – ऐसी कम्पनियाँ जो इंटरनेट के जरिए अपना सेवा देती हैं उन्हें service based OTT की श्रेणी में रखा जा सकता है। जैसे की uber, robinhood और paytm.

यदि आप paytm इस्तेमाल करते होंगे तो आपको पता होगा की इसके इस्तेमाल के लिए इंटरनेट का होना जरूरी है। और कोई भी सेवा जो सिर्फ इंटरनेट के माध्यम से दी जाती हो उसे ओटीटी की श्रेणी में ही रखा जा सकता है।

2.Content based OTT –

OTT Full Form,Content bases OTT में  विडिओ या फिल्म सामग्री की सेवा दी जाती है। और यही सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले OTT प्लेटफॉर्म हैं। इसके कुछ उदाहरण है Netflix, amazon prime, Hotstar, you tube आदि।

इसमें आपको जिस ओटीटी की सेवा का लाभ उठाना है उसका subscription लेना पड़ता है। इसके भी दो प्रकार होते हैं।

या तो आपको महीने का subscription लेना पड़ता है और जो भी content उस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है उसे आप देख पाते हैं। और या तो किसी निश्चित movie या video को खरीदने का पैसा देना होता है।

3.Messaging and call based OTT –

इंटरनेट के माध्यम से मैसेज या voice call करना भी ओटीटी के अंतर्गत आता है। क्योंकि इसमें जो भी data का transfer होता है वो इंटरनेट के जरिए होता है। इसमें messaging app whatsapp, skype आदि शामिल हैं।

4.Devices based OTT –

यदि कोई डिवाइस जो ना तो कंप्युटर है और ही स्मार्टफोन है लेकिन उसका इस्तेमाल सिर्फ ओटीटी पर उपलब्ध movies या videos को देखने के लिए किया जाता है तो उसे ओटीटी डिवाइस के अंर्तगत रखा जाता है। उदाहरण : amazon fire sticks, smart tvs, apple tvs आदि।



 

Free OTT services kya hoti hain: OTT Full Form. 

ये वो ओटीटी platform हैं जिन्हें इस्तेमाल करने के लिए आपको कोई भी पैसा नहीं देना पड़ता है। इनका subscription आपको free में मिल जाता है.

लेकिन उसके बदले आपको विडिओ के बीच-बीच में ads दिखाया जाता है। क्योंकि जब ये आपको free में content दिखा रहे हैं तो इनकी कमाई भी तो कहीं ना कहीं से होनी चाहिए।

फ्री ओटीटी platform के उदाहरण: you tube, mx player, hotstar, jio cinema आदि।

इन ओटीटी platform पर आप free में video या movies देख सकते हैं लेकिन इनका पूरा content देखने के लिए आपको इनके भी paid plans का subscription लेना पड़ता है।



ये ऐसे ओटीटी प्लेटफॉर्म हैं जिनपर किसी भी तरह की video streaming करने के लिए आपको पैसे देकर subscription लेना पड़ता है।

इनके monthly और yearly प्लान में से आपको जो भी पसंद आए आप उस प्लान को ले सकते हैं।

इनपर किसी भी तरह का ads नहीं दिखाया जाता है और आपको विडिओ देखते समय किसी भी तरह की समस्या नहीं होती है।

पेड ओटीटी के उदाहरण: Netflix, Amazon Prime Videos, Disney+ hotstar, sony liv, Eros Now, ZEE5, ALTBalaji, You tube आदि।

OTT platforms in India:

भारत में सबसे पहले reliance entertainment के द्वारा BIGFLIX नाम का एक ओटीटी प्लेटफॉर्म 2008 लॉन्च किया गया।

उसके बाद 2010 में Digivive के द्वारा nexGTv नाम का एक ओटीटी ऐप लॉन्च किया गया। इसमें live TV और ondemand content उपलब्ध था। उसके बाद 2013 में Ditto tv और sony liv को लॉन्च किया गया।

उस समय ओटीटी प्लेटफॉर्म तो शुरू हो गए थे लेकिन internet का इस्तेमाल भारत में काफी कम था और internet pack भी काफी महंगा हुआ करता था। लेकिन 2016 में जब जिओ आया तब से इनके यूजर की संख्या में काफी वृद्धि हुई।

OTT Full  Form – Famous OTT Platform:

OTT Kya Hai,भारत में इस समय ओटीटी प्लेटफॉर्म का growth rate दुनिया भर में सबसे अधिक है। इसके पीछे जिओ के सस्ते Internet pack का होना है।

इस समय भारत में कई सारी ओटीटी प्लेटफॉर्म अपना सेवा देती हैं। तो चलिए जानते हैं की कौन से ओटीटी प्लेटफॉर्म मशहूर हैं और उनका subscription charge कितना है

    • नेटफ्लिक्स- Netflix

नेटफलिक्स अमेरिका की एक ओटीटी कंपनी है। इसकी शुरुआत  Reed Hastings और Marc Randolph द्वारा 1997 में की गई थी। ये subscription model पर चलने वाला over the top platform है।

वर्तमान समय में विश्व स्तर पर Netflix के 200 million user हैं। Netflix के monthly प्लान 199 से लेकर 799 रुपये तक है। इसमें आप जब चाहें subscription ले सकते हैं और जब चाहें छोड़ सकते हैं।

    • हॉटस्टार-Hotstar

हॉटस्टार, star India द्वारा चलाया जाने वाला एक over the top platform है। star india, Walt Disney Company India का ही एक हिस्सा है। 2019 के आंकड़ों के अनुसार इसके कुल 150 मिलियन monthly active user हैं।

Hotstar पर कुछ कंटेन्ट मुफ़्त भी उपलब्ध है। इसके अलावा इसपर दो तरह के paid subscription plan हैं पहला, VIP और दूसरा premium.

इसके VIP plan का cost 399 रुपये प्रतिवर्ष है और premium plan का cost 1499 रुपये प्रतिवर्ष है।  

    • Amazon prime video

ये अमेरिका के amazon कंपनी द्वारा दिया जाने वाला सुविधा है। ये subscription पर आधारित चलने वाली ओटीटी प्लेटफॉर्म है।

इसमें ज्यादातर film और tv serials दिखाए जाते है। इसकी शुरुआत united states में पहली बार 7 सप्टेंबर 2006 को की गई।

इसमें एक महीने का free trial मिलता है उसके बाद आप चाहें तो इसका subscription लें या नहीं ये आपकी मर्जी है।

इसके एक महीने का subscription fees 129 रुपये है और यदि आप सलाना subscription लेते हैं तो 999 रुपये पड़ता है।    

    • सोनी लीव – Sony liv

सोनी लीव भारत की एक on demand OTT प्लेटफॉर्म है जो की मुंबई में स्थित है। ये Sony Pictures Networks India Pvt. Ltd के द्वारा चलाया जाता है।

इसकी शुरुआत 23 जनवरी 2013 को की गई। सोनी लीव, सोनी कंपनी द्वारा चलाए जाने वाले कई टीवी चैनल्स का एक हिस्सा है।

सोनी लीव पर तीन तरह के premium plan हैं। जिसमें 299 रुपये प्रतिमाह , 699 रुपये छः महीने के और 999 रुपये के annual plan हैं।

सोनी लीव के premium plan पर आपको इनके सारे paid tv channels के साथ-साथ movies, sports, tv shows बहुत तरह के कंटेन्ट देखने को मिलता है।

    • Eros now

Eros now भारत में चलाई जाने वाली एक ondemand स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म है। लेकिन इसका संचालन eros डिजिटल द्वारा किया जाता है जो की अमेरिका के multinational कंपनी ErosSTX का एक हिस्सा है।

इस प्लेटफॉर्म पर कई तरह के movies और shows उपलब्ध हैं। इनके कुछ कंटेन्ट को free में देखा जा सकता है।

लेकिन इनका पूरा कंटेन्ट देखने के लिए आपको इनके paid plan का subscription लेना पड़ेगा।

वैसे तो इनके premium plan की कीमत 99 रुपये प्रतिमाह, 376 रुपये तीन माह और 950 रुपये एक साल का है।

लेकिन इस समय eros now पर offer के अंतर्गत आपको ये प्लान – 49,79 और 399 रुपये में मिल जाएंगे।

    • ZEE5

OTT Kya Hai, Zee5 भारत की on demand सर्विस देने वाली एक OTT है। ये Essel group के subsidiary Zee Entertainment Enterprises के द्वारा चलाया जाता है। zee5 को भारत में 14 फ़रवरी 2018 को लॉन्च किया गया।

इस पर original movies, web series और live tv जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। इनके premium plan में आप एक साथ 5 device पर लॉगिन करके इसका फायदा उठा सकते हैं। लेकिन इसके club plan में एक साथ सिर्फ दो लोग ही इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Zee5 के premium plan की कीमत 99 रुपये प्रतिमाह, 299 रुपये तीन माह और 999 रुपये एक साल के हैं। इसके club plan की कीमत 365 रुपये प्रतिवर्ष है।

Ott kaise istemal Karen :

ओटीटी प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने के लिए आपको इनका subscription लेना पड़ेगा। आप चाहें तो इनके free और premium प्लान में से चुन सकते हैं।

इनका इस्तेमाल करने के लिए आप उस प्लेटफॉर्म पर जाएं जिसका कंटेन्ट आपको देखना है उसके बाद वहाँ पर अपना account create करें।

अकाउंट बनाने के लिए आपसे फोन नंबर, ईमेल आइडी या अन्य सोशल आइडी मांगी जा सकती है। उसके बाद आप अपने प्लान के अनुसार कंटेन्ट देख पाएंगे।

Benefits of OTT: OTT Full Form 

ओटीटी प्लेटफॉर्म के फ़ायदों की वजह से इसका इस्तेमाल काफी बढ़ रहा है। इसलिए चलिए एक-एक कर इसके सभी फ़ायदों के बारे में जानते हैं।

    1. कोई भी नई movie, web series या अन्य कंटेन्ट आप अपने घर बैठे देख सकते हैं। यदि आप घर से दूर कहीं जाते हैं तो भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
    2. इन्हे देखने के लिए आपको कोई भी movie डाउनलोड करने की जरूरत नहीं। आप चाहें तो डाउनलोड कर भी सकते हैं यदि आपके ओटीटी provider डाउनलोड करने का option देते हैं।
    3. थिएटर की तुलना में ओटीटी पर आपको काफी सस्ते में नई movie देखने को मिल जाती है वो family के साथ। इससे आपका काफी पैसा बच जाता है।
    4. यदि आप ओटीटी के premium plan का subscription लेते हैं तो आपको बीच में किसी भी तरह के ads नहीं देखने पड़ते हैं।
    5. ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आपको जो मन करे सिर्फ वही देख सकते हैं। टीवी की तरह आपको wait नहीं करना है की कितने बजे कौन सी मूवी आ रही है।

Disadvantage of OTT: OTT Kya Hai   

ओटीटी के फ़ायदों के साथ-साथ नुकसान भी हैं तो चलिए उनके बारे में भी जान लेते हैं।

    1. ओटीटी पर ठीक से मूवी देखने के लिए आपके पास बेहतर internet connection या wifi होना चाहिए। यदि आपके इंटरनेट की speed अच्छी नहीं होगी तो आप कोई भी कंटेन्ट ठीक से नहीं देख पाएंगे।
    2. आपका मोबाईल ठीक-ठाक होना चाहिए जैसे की आपके मोबाईल का रैम कम से कम 3 gb का होना चाहिए और उसका प्रोसेसर भी अच्छा होना चाहिए।
    3. ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कुछ adult content भी होते हैं जो बच्चों के लिए ठीक नहीं है। हालांकि अब इसको भी सरकार के नियमों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा।

ओटीटी प्लेटफॉर्म का भविष्य:

आने वाले समय में OTT platform भारत में ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया में अपना जगह बनाएंगे।

और इस बात की संभावना भी है की ये OTT platform, traditional tv के अस्तित्व को ही खत्म कर दें।

इसमें में एक तो यूजर का पैसा कम लगता है और ऊपर से उसे movies के बीच-बीच में ads नहीं देखना पड़ता है।

इसके साथ ही यूजर का जो मन करे वो देख सकता है लेकिन टीवी में उसे वही देखना पड़ेगा जो उस टीवी पर आ रहा होगा।

निष्कर्ष: conclusion:

OTT Full Form -ओटीटी प्लेटफॉर्म को लेकर लोगों में बड़ा confusion रहता है लेकिन इस लेख के जरिए हमने ओटीटी के बारे में सटीक जानकारी देने की कोशिश की है ताकि आपको इसकी पूरी जानकारी मिल सके।

भारत में इंटरनेट सस्ता होने की वजह से OTT platform काफी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। आगे भी इनके काफी तेजी से बढ़ने की उम्मीद है।

हमने इस लेख OTT Full Form में कुछ मशहूर ott प्लेटफॉर्म के subscription charges के बारे में भी जानकारी दी है। यदि आपका कोई सवाल हो तो कमेन्ट करके हमसे जरूर पूछें। हम अतिशीघ्र उसका जवाब देने की कोशिश करेंगे।

 

                

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here