PHP Kya Hai

PHP Kya Hai,अगर आप भी एक सफल Web Developer बनना चाहते है तो आपको PHP Program के बारे में सीखना जरूरी है| क्योंकि आज के समय में कोई ऐसी Website वहीं है जहाँ PHP का इस्तेमाल ना किया गया हो| पीएचपी की मदद से आप अपनी Website को जैसा चाहे वैसा बना सकते है|

इस लेख में हम आपको PHP Kya Hai बताने के साथ ही PHP Full Form, PHP Uses, PHP Advantages and Disadvantages और PHP Courses के बारे में पूरी जानकारी दे रहे है| तो चलिए जानते है PHP Details in Hindi विस्तार से|

PHP Full Form – PHP Kya Hai. Details in Hindi

PHP Full Form “PHP: Hypertext Preprocessor” है| PHP एक Open-Source, Interpreted और Object-Oriented Scripting Language है, जिसे Server Side पर Execute किया जाता है|

PHP Kya Hai एक Server Side Scripting Language है, यानी कि Developer द्वारा PHP में लिखा गया प्रोग्राम Server में Run होता है और HTML के रूप में Output प्रदान करता है|

Server Side होने की वजह से आप HTML और CSS की तरह PHP के Code को नहीं देख सकते| क्योंकि ये Code सिर्फ Server पर होते है और Client के System तक नहीं पहुँचते|

अभी के समय में PHP Program एक बहुत ही Powerful Scripting Language है, जिसका इस्तेमाल Social Networks से लेकर E-Commerce Sites तक लगभग सभी करते है|

उदाहरण के रूप में Joomla, WordPress, Drupal जैसे सभी CMS Platforms PHP से ही बने हुए है| वहीँ Yahoo, Facebook, Wikipedia, Tumblr, Flickr, MailChimp और Canva जैसी Popular Websites भी PHP Coding से ही बनी हुई है|

आपको ये जानकर हैरानी होगी की PHP को 1994 में Rasmus Lerdorf ने अपनी Online Resume Website के Visitors को Count करने के लीजये PHP को बनाया था| तब पीएचपी का नाम (PHP Full Form) Personal Home Page Tools रखा गया था|

फिर 1995 में इस Programming Language को PHP 7.4.0 के नाम से मार्केट में पेश किया गया| समय चलते इसमें Development होती गई और आखिर में इसका नाम PHP: Hypertext Preprocessorरख दिया गया|

पीएचपी कैसे काम करता है – PHP Tutorial in Hindi

एक Survey के मुताबिक़ जितनी भी बड़ी Websites है, उन में से 78.9% Websites अपनी Server Side Language के रूप में PHP का ही इस्तेमाल करती है| तो आइये जानते है PHP Tutorial In Hindi ये काम कैसे करता है|

सबसे पहले PHP Software को Web Server में इनस्टॉल किया जाता है| जो की Web Developer द्वारा Codes के रूप में दिए गए कार्यों को करता है| और Output को सिर्फ कुछ milliseconds में User के Browser/Application पर Show करता है|

Web Developer PHP के Code को HTML के साथ लिखते है, फिर Website Server पर इस Code का Execution होता है|

जब भी User अपने Web Browser कोई ऐसी फाइल देखने का प्रयत्न करते है जो PHP Document के रूप में उपलब्ध होती है, तो Web Browser द्वारा Server को Request जाती है, फिर Server उस Document को ढूंढकर PHP Processor पर Send करता है| PHP Processor का काम दो प्रकार के Operation Perform करने का होता है|

पहला है Copy Mode Operation: इस Operation में PHP Processor Plain HTML को Final Output पर Copy कर देता है|

दूसरा है Interpret Mode Operation: इसमें Processor पीएचपी कोड को Interpret यानी Execute करता है और Execution के बाद मिलने वाले Output को Final Result में जोड़ देता है|

पीएचपी के फायदे और विशेषताएँ – PHP Program Advantages and Features in Hindi

PHP अपनी Simplicity और Open Source स्वभाव की वजह से दुनियाभर में लोकप्रिय है| इसलिए PHP Kya Hai Details in Hindi आर्टिकल के इस भाग में हम आपको बता रहे है PHP के फायदे और विशेषताएँ.

Faster Performance: JSP और ASP में लिखी गयी Scripts के मुकाबले PHP Script तेजी से Execute होती है| क्योंकि पीएचपी खुद की मेमोरी का इस्तेमाल करती है, जिस वजह से Server workload और Loading time कम हो जाता है| जिसका Result तेजी Processing Speed और बेहतरीन Performance के रूप में दिखाई देता है|

Open Source: PHP Program के Source Codes और Software’s इन्टरनेट पर फ्री में मौजूद है| और आप अपनी Requirement के हिसाब से PHP के किसी भी Version को Free में Download और Use कर सकते हो|

Easy to Learn: PHP का Syntax बहुत ही आसान है और इसे आप थोडा समय देकर बड़ी आसानी से सेख सकते है|

Embedded Code: PHP के Code को बड़ी ही आसानी से HTML tags और Scripts के साथ Embed किया (जोड़ा) जा सकता है| 

Platform Independency: पीएचपी Windows, Unix, Linux और Mac जैसे सभी Operating Systems के लिए मौजूद है| ख़ास बात ये है की एक OS में बनी Application विभिन्न ऑपरेटिंग सिस्टम्स में Execute की जा सकती है|

Amazing Database Support: PHP Full Form सभी लोकप्रिय Databases जैसे की MySQL, SQLite, ODBC को Support करता है|

Error Reporting: Coding करते हुए कई बार Web developer से गलतियां हो जाती है, लेकिन अच्छी बात ये है की PHP Program में Runtime के दौरान ही Error warning देने का फीचर मौजूद है| जो की  E_ERROR, E_WARNING, E_STRICT, E_PARSE जैसे Codes के रूप में Error notice दे देता है|

Loosely Typed Program Language: PHP हमें Datatype को Declare किये बिना Variable का उपयोग करने की अनुमति देता है| क्योंकि ये Execution के समय ये खुद Value के आधार पर Data Type को Automatically जान लेता है|

Server Support: लगभग सभी Modern Hosting Servers पीएचपी लैंग्वेज को सपोर्ट करते है| जहाँ ASP Language से बनी Website के लिए सिर्फ Dedicated Hosting की ही जरूरत होती है, वहीँ PHP Website के लिए कोई भी Normal Hosting का इस्तेमाल किया जा सकता है|

PHP is Secure: जी हाँ, Website बनाने के लिए पीएचपी सबसे सुरक्षित Scripting Language मानी जाती है| क्योंकि इसमें Threads और Malicious Attacks से बचने के लिए Multiple Security Layers को शामिल किया जाता है|

Efficient Control: जिस काम को करने के लिए अन्य Scripting Languages में Long Codes की जरुरत होती है, उसी काम को PHP की मदद से कुछ ही लाइनों के Small Codes की मदद से किया जा सकता है| वहीँ PHP आपको Website का Maximum Control देती है, जिससे आप जहाँ चाहें, जैसे चाहें वैसे बदलाव आसानी से कर सकते है|

Helpful Community: PHP Program के Developers की बड़ी Community है, जो की PHP Tutorial, Problem Solving और FAQs के Internet पर लगातार Updates Post करते रहते है|

इसीलिए अगर Developer को किसी Code को बनाने या Execute करने में परेशानी आती है तो उसे उसका समाधान जल्द मिल जाता है|


Also Read :IoT Solution In Hindi


पीएचपी के नुस्कान – Disadvantages of PHP Language in Hindi.

किसी भी Programming Language के अनेक फायदे होने के साथ कुछ नुकसान भी होते है, इसलिए उन्हें भी ध्यान में रखना जरुरी है| तो आइये जानते है PHP Kya Hai आर्टिकल में PHP के नुकसान

Popularity Decreasing: अभी के समय में Web Applications बनाने के लिए PHP के अलावा काफी Languages ने ले ली है|

हालाकि Websites बनाने के लिए PHP अभी भी सबसे आगे है, लेकिन PYPL Popularity of Programming Language के मुताबिक़ जहाँ 2007 में दुनियाभर में PHP Program का Market Share करीब 20% था वो अभी 6.13% हो गया है|

हालाकि अभी भी PHP दुनिया की 6th सबसे Popular Programming Language है, और Future में इसका Market Share बढ़ सकता है|

https://pypl.github.io/PYPL.html (Link for Chart)

Not Suitable for Modern and Large Apps: अन्य Programming Languages जैसे की Python के मुकाबले PHP के पास Machine Learning जैसी Modern Needs के लिए Presets Library नहीं है|

वहीँ Highly Modular ना होने की वजह से इससे बड़े Application को Develop और Manage करना काफी मुश्किल है, इसीलिए ज्यादातार Developers इस सेगमेंट में PHP की जगह Python को Prefer करते है|

Security Issues: PHP Full Form एक Open Source Scripting Language है, जिस वजह से इसका Source Code कोई भी देख सकता है| ऐसे में अगर किसी Code में Bug हो तो उसका गलत उपयोग किया जा सकता है|

पीएचपी के उपयोग – Uses of PHP Program in Hindi

1. फाइल्स को create, open, read, write, और close करने जैसे System Functions Perform करने के लिए PHP का इस्तेमाल किया जाता है|

2. किसी भी प्रकार की Dynamic Websites बनाने के लिए PHP का उपयोग होता है|

3. PHP Language Forms को हैंडल करने का भी काम करती है| यानी ये Forms में से डाटा को इकठ्ठा करने, फाइल के रूप में सेव करने, ईमेल के रूप में डाटा को Send करने और User के फिर से आने पर उसकी Past Activity की Data को Return करने का काम करती है|

4. PHP Kya Hai के जरिये Database से Elements को Add, modify और Delete किया जा सकता है|

5. Data को Encrypt करने में PHP का इस्तेमाल होता है|

6. User से Permission लेकर Cookies को Save और Access करने के Function को PHP के जरिये बनाया जाता है|

7. PHP Program की मदद से आप User को Website के कुछ Specific Pages तक पहुँचने से रोक सकते है|

8. Web Applications को Database से Connect करने के लिए PHP Language का प्रयोग किया जाता है|

9. PHP का इस्तेमाल Emails Send और Receive करने के लिए भी किया जाता है|

10. PHP की मदद से आप अपनी Website पर User के लिए Login Page बना सकते है|

Minimum Hardware Requirements to Use PHP in Hindi

PHP Kya Hai आर्टिकल में आइये जानते है PHP चलाने के लिए Minimum Hardware Requirements क्या क्या है.

Operating System:Windows 7 to 10, Unix, Linux, Mac
Processor:X86 or x64
RAM:Minimum 512 Mb for Small Site/ Recommended 2/4 GB
Hard disk Space:Minimum 200 Mb
Web Browser:Any Modern Web Browser Which Supports ECMAScript 6

PHP Program Courses, Fees, Duration, Salary Details in Hindi.

PHP Kya Hai,Details in Hindi जानने के बाद अब सवाल आता है की PHP सीखे कैसे और इसमें हमारा कितना खर्चा आएगा, साथ ही इसे करने के बाद हमें कितनी Salary मिलेगी| तो PHP Courses की जानकारी निम्न मुताबिक है|

1. PHP Certification Courses: 10+2 के बाद आप 6 महीने की अवधि का PHP Certificate Course कर सकते है| इन Courses की Fees 2,000 से 40,000 रुपये के बीच होती है और इन्हें करने के बाद आप 1,50,000 रुपये से 3,00,000 रुपये के Annual Package वाली जॉब कर सकते है|

2. Web Designing Diploma Course: 10+2 के बाद आप 1 से 2 साल की Duration वाले Web Designing Diploma Courses कर सकते है| जिन्हें करने के बाद आप 2 लाख से 8 लाख रुपयों के बीच की Annual Salary वाली Job कर सकते है| इन Diploma Courses की Fees 1 लाख से 12 लाख रुपयों के बीच होती है|

3. Under Graduation: PHP सीखने के लिए आप 12वी पास करने के बाद BSc.IT, BCA और B Tech जैसे Under Graduation Courses भी कर सकते है| जिसके लिए आपको 3 से 4 साल की पढाई करनी होगी और डिग्री पाने के बाद आप सालाना 2.50 से 5.50 लाख रुपये तक कमा सकते है| बात करें Fees की तो UG की फीस 30,000 से 3,00,000 रुपये के बीच हो सकती है|

4. Post Graduation: BSc.IT, BCA और B Tech जैसे UG Courses करने के बाद अगर आप आगे पढना चाहें तो MSc.IT, MCA और M.Tech जैसे Post Graduation Courses कर सकते है|

जिसकी डिग्री पाने के लिए आपको 10,000 से 2,00,000 रुपये के बीच खर्चा करके दो साल तक पढना होगा| इसे करने के बाद आप 5 लाख से लेकर 8 लाख रुपये के बीच की Annual Income वाली Job कर सकते है|

5. Online Courses: PHP Tutorial सिखाने वाले कई Free और Paid Online Courses मौजूद है, जिन्हें करने के बाद आप किसी कंपनी में जॉब कर सकते है या फिर individual PHP Developer बनकर Clients की Websites के Projects पर काम कर सकते है|

निष्कर्ष

उम्मीद करते है आपको PHP Kya Hai आर्टिकल में PHP Tutorial In Hindi से लेकर PHP Program Advantages एंड Disadvantages के साथ PHP Uses और PHP Courses के बारें में पूरी जानकारी मिल गयी होगी.

फिर भी PHP को लेकर अगर आपके दिमाग में कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है, हमें आपकी मदद करने में ख़ुशी मिलेगी, आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने सभी दोस्तों को जरुर शेयर करें, धन्यवाद|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here