Router क्या है और काम कैसे करता है

Router क्या है और कैसे काम करता है। यदि आप के घर में broadband के द्वारा internet लिया गया है तो अपने router को जरूर देखा होगा और यदि आपके घर में broadband के द्वारा internet नहीं लिया गया है तो भी अपने router के बारे में पिछले कुछ सालो से काफी सुना भी होगा। क्योकि जब से jio का fiber internet launch हुआ है तब से ही dual band routers काफी चर्चा में है।

लेकिन क्या आपको पता है कि यदि आपके घर में broadband के माध्य्म से internet चलता है तो आप बिना router के अपने घर में internet का उपयोग multiple devices में direct mobile या computer में नहीं कर सकते है। क्योकि router ही एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा आपका computer और mobile internet से जुड़ सकता है और आप internet को access कर सकते है।

लेकिन क्या आपको पता है की एक router कितने प्रकार के complicated चीज़ो को solve करता है आप तक internet को सही रूप से पहुंचाने में, यदि नहीं तो आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े.

क्योकि हम इस पोस्ट में बहुत से महत्वपूर्ण बिन्दुओ के बारे में उल्लेख करने वाले है जिससे की आपको routers के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी हो जाएगी। तो चलिए विस्तार से आपको Routers के बारे जानकारी देते है।

Router क्या है और कैसे काम करता है।

Router एक network device है जोकि hardware और software से मिलकर बना होता है। और यह data packets को send और receive करने का काम करता है। यह जब भी किसी data packet को receive करता है तो उसके बाद उसे analyze करता है और  मौजूद जानकारी को देखता है उसके बाद वो data packet को Destination IP Address की तरफ भेज देता है।

आज के समय में घरो में internet को multiple devices में access करने के लिए wireless routers का इस्तेमाल अधिक किया जाता है क्योकि यह आसानी से connect हो जाते है और काफी शुभिधाजनक भी होते है। इसके इलावा इसमें काफी सारे  I/O ports भी मौजूद है।

Router कैसे काम करता है।

Router  का मुख्य काम data packets को send और receive करना होता है। जिसमे की data को कहाँ भेजना है के बारे में जानकारी शामिल होती है। जैसे कि आप मान लीजिये कि आपको अपने किसी client को email किया है तो सबसे पहले वो email छोटे छोटे data packets के रूप में divide हो जाता है। 

और वो packet router के पास पहुंच जाता है तथा इस data में जहां packet को पहुँचना है उसका IP Address मौजूद होता है।

अब Router, Routing Protocol से Routing Table को check करता है और Routing table में आस पास मौजूद जितने भी Router हैं उन सब का Ip Address और path Distance रहता है और router packet को अपने shortest distance वाले router तक पहुँचता है, ऐसे ही करते करते data receiver के router से होते हुए computer तक पहुँचता है। 

Router क्या है और कैसे काम करता है। – Modem और Router में क्या अंतर है।

हालांकि कुछ internet  providers एक ही device में router और modem को जोड़ सकते हैं, लेकिन वो समान नहीं हैं। प्रत्येक चीज़ network को एक दूसरे से और internet से जोड़ने में एक अलग, लेकिन समान रूप से महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Router computer, mobile, tablets आदि devices को जोड़ कर एक network बनता है और data के flow को manage करता है जबकि modem का काम उस network को internet से जोड़ने का होता है।

Modem ISP के signal को digital signals में बदल कर internet से एक connection बनते है। जिसको किसी भी connected device के द्वारा interpreted किया जा सकता है।

एक device को internet से connect करने के लिए modem से connect किया जा सकता है लेकिन multiple devices को internet से connect करने के लिए router बेहतरीन विकल्प होता है।

इसको आप ऐसे भी समझ सकते है मान लीजिये कि object A modem है और object B एक router है, तो object A एक device जैसे कि mobile को internet से connect कर सकता है लेकिन  laptop को नहीं, वही object B जोकि router है वो local area network बना कर सभी devices को आपस में जोड़ सकता है.

लेकिन उन devices को internet से नहीं जोड़ सकता है। उम्मीद है कि अब आपको modem और routers में अंतर पता लग गया होगा।


OTT Full Form.Details of OTT in Hindi

Broadband Kya Hai? Best Broadband 2021.

Data टाइप क्या हैं.Data Type In Hindi

Bhim App Se Paise Kaise Kamaye.


Components Of Router

Router भी एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता है जो कि केवल एक specific कार्य के लिए design किया गया होता है और इसका इस्तेमाल केवल LAN और internet को access करने के लिए किया जाता है। चूकि यह भी एक प्रकार का computer ही होता है तो इसमें भी CPU, RAM, Memory आदि parts लगे होते है। जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया है।



Router Parts

CPU (Central Processing Unit) – जैसा कि आपको पता ही है कि CPU किसी भी computer device का brain होता है वैसे ही router में भी CPU लगा होता है जो कि router के OS को कि Run, Control और manage करता है।

तथा Routers में मुख्य तौर पर companies अपना OS डाल कर देती है जैसे कि unos, Juniper Routers को चलाते है तथा Cisco IOS Cisco Routers को चलाते है लेकिन यह मुख्य रूप से Linux OS पर ही based होते है।

Non-Volatile RAM- यह अलग प्रकार का RAM होता है जिसमे कि Permanent रूप से Operating System का Back up और startup Version store होता है और जब भी आप router को boot करते है तो सभी programs इसी memory से load होते है।

और यदि आप router को restore या reset करते है तब भी Fresh OS यही से load होता है। 

RAM- RAM जैसे कि computer में काम करता है बिलकुल वैसे ही routers में भी काम करता है। जब आप router को start करते है तो उसके बाद OS RAM में load होता है इसके बाद router routes को निर्धारित करता है तथा दुसरे Routers से ये Routes की जानकारी को check करता है (via RIP RIP (v1 and v2), OSPF, EIGRP, IS-IS or BGP).

और RAM में ही routing tables, ARP tables, routing metrics और अन्य प्रकार के data को store किया जाता है। routing tables, ARP tables, routing metrics इन सभी के मदद से data Packet Forwarding Process Speed होता है।

Flash Memory– प्रतेक computer को memory store करने के लिए एक Memory storage device चाहिए होता है ताकि  OS को store कर सके, वैसे ही routers में भी एक Flash memory card लगा होता है जो कि OS को store करके रखता है।

जिसमे कि router का Program होता है जैसे algorithm, Routing Protocol, Routing Table आदि।

Network Interfaces– एक router में बहुत से network interface होते है तथा OS में बहुत से प्रकार के drivers होते है जोकि routers को पता लगाने में मदद करते है कि कौन सा PORT किस network के wire से जुड़ा  हुआ है तथा यह दूसरे routers से routes को सिखने में भी  काबिल होते है तथा data packet को सही जगह पर transmit करते है।

Console – किसी भी Router को Configuring और manage करने का पूरा  काम Console के द्वारा ही किया जाता है। Configuration और troubleshooting commands console  द्वारा ही दिए जाते है।

Router के कार्य क्या है

  • यह सभी devices को आपस में जोड़ कर एक local area network बना सकता है।
  • यह LAN को broadcast करने से रोकता है।
  • यह data packets को senders और receivers को पहुंचाने का काम करता है।
  • यह wire और wireless रूप से दो और उससे अधिक devices को जोड़ने और internet access करने में मदद करता है।
  • अपने खाश प्रकार के designed algorithms की मदद से यह data packets को deliver करने के लिए सबसे shortest path को खोज निकालता है।
  • यह एक default Gateway की तरह कार्य करता है
  • यह network के बीच route बनाने का कार्य करता है ताकि सही जगह data packets को secure रूप से deliver किया जा सके।
  • ये network के बीच loop रहित path बनाने  में लगा रहता है ताकि data packets बीच में ही न घूमते रहे।

Routing Table

जैसा कि आपको नाम से ही पता लग रहा होगा कि इसमें table का इस्तेमाल किया जाता है और यह table के रूप में मौजूद होता है। तथा इसका उपयोग यह तय करने के लिए किया जाता है कि data packet किस तरफ जा रहा है।

इस routing table में वो सभी जानकारी मौजूद होती है जिससे कि data packet को सही Destination पर deliver करने के लिए बेहतरीन और shortest path को चुना जा सके। इसके बाद network उसको देखता है और प्राप्त information को routing table entry के साथ मिलता है। इसके बाद आगे किस network device को भेजा जायेगा यह निर्धारित करता है और data packet को send कर देता है।

Routing Table तालिका

  • Destination- data Packet को किस Destination पर भेजना है उसका IP Address मौजूद होता है।
  • Routes- इसमें Routers के साथ जितने भी connected Network या Devices हैं, उन सभी की जानकारी तथा Routes की जानकारी मौजूद होती है ताकि data सही स्थान पर जाए। 
  • Next hop– इसमें अगले network device का IP ADDRESS मौजूद होता है। ताकि data packet को सही जगह deliver किया जा सके।
  • Metric– routing Table में जितने भी Route मौजूद हैं उन सभी का क्या Cost होगा ताकि इससे यह जानने में मदद होती है कि data Packet को किस path के द्वारा भेजने में कम cost आएगा।
  • Interface- इसमें data Packet को जिस Network में भेजा जाता है उसके Interface की जानकारी मौजूद होती है।

Importance Of Router – Router के प्रकार (Types of Router)

अगर देखा जाये तो बहुत से प्रकार के routers होते है जैसे कि dual band routers, single band routers, broadband routers, wireless routers आदि। तो चलिए आपको इन सभी routers के बारे में संछेप में बताते है।

Broadband Router – broadband router का इस्तेमाल computers को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। तथा ये ही आपके computer को internet से भी जोड़ते है। यदि आप अपने घर में jio या airtel का  FTTH broadband  लगवाते है तब आपको companies free voice calls करने की शुभिधा देते है जो कि Voice Over IP Technology पर based होता है और आपका receiver wire या  के द्वारा  या wireless रूप से router से जुड़ा होता है। जिसके द्वारा आप IP calls को कर पाते है।

Wireless Router- आज के समय में अधिकतर लोग wireless routers के बारे में जानते है और अपने देखा भी होगा बड़े या छोटे offices, home, stores आदि में लगा हुआ। यह काफी शुभिधा जनक  होते है और आप इसके द्वारा multiple devices जैसे कि mobile, computer, tablet, gaming console आदि को एक साथ connect करके internet को access कर सकते है।

तथा  इसके द्वारा आप OTT services को भी जोड़ सकते है और इस्तेमाल कर सकते है। लेकिन अगर अपने कभी wifi के द्वारा अपने devices को network से connect किया होगा, तो आपको पता होगा कि उनमे security के लिए password system दिया गया होता है ताकि हर कोई उस wifi network का इस्तेमाल न कर सके। और user protracted रहे।

Router क्या है और कैसे काम करता है – कुछ अन्य प्रकार के Routers

Edge Router-एक Edge Router, जिसे gateway router या short में “gateway” भी कहा जाता है, इंटरनेट सहित बाहरी नेटवर्क के साथ नेटवर्क का सबसे बाहरी connection है।

Edge Router को bandwidth के लिए optimized किया गया है और end user तक data को वितरित करने के लिए  तथा अन्य routers से connect करने के लिए design किया गया है। Edge Router में आमतौर पर Wi-Fi नहीं होता है। उनके पास आमतौर पर केवल Ethernet ports होते हैं internet से connect करने के लिए एक input और अतिरिक्त router को जोड़ने के लिए कई output.

Inter Provider Border Router- इस प्रकार के routers का इस्तेमाल करके सभी ISPs को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है और यह Boarder Gateway Protocol session को maintain करता है।

Subscriber Edge Router- यह routers organization के अंतर्गत आते है और इसको external BGP broadcast करने के लिए configure किया होता है AS provider के रूप में।

Core Router- Core router का काम different  Distributed routers को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। मतलब कि यदि कोई बड़ी company है जिसके अलग अलग जगहों पर routers लगे है, तो ऐसे में इनको आपस में जोड़ने के लिए core router का use किया जाता है। और यह router आगे internet से जुड़ा होता है।



Dual-Band routers और Single-Band routers में अंतर क्या है।

Dual Band routers और single band routers में खाश फर्क नहीं होता है। dual band routers में दो bands जो कि 2.4 GHz और 5.0 GHz  दिए गए होते है ताकि आप बेतरीन internet speed के साथ साथ ज्यादा से ज्यादा और पुराने तथा नए दोनों ही devices को connect कर सकते है।

वही single band routers में केवल एक band जो कि 2.4 GHz दिया गया होता है जो कि 5.0 GHz के मुकाबले ज्यादा area तो cover करता है लेकिन इसमें internet speed 5.0 GHz के मुकाबले कम मिलती है। लेकिन मै आपको यही suggest करुगा की यदि आप नया router खरीद रहे है तो आप dual band router  ही ले।

Router का उपयोग क्या है

  • Router  का उपयोग Computer, mobile और अन्य devices को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है।
  • यह LAN के लिए बेहतरीन option है। 
  • Router के उपयोग से आप internet को multiple devices में access  करने के लिए कर सकते है।

TP Link routers दूसरे routers से अलग नहीं है बल्कि ये भी वैसे routers होते है जैसे दूसरे सभी होते है लेकिन TP Link routers को TP link कंपनी बनती है और इसको market में बेचती है। यह एक brand का name है।

जैसे कि दूसरे brands होते है। लेकिन TP link routers की popularity काफी ज्यादा है और लोग इसे ही लेना पसंद करते है। क्योकि इसके routers काफी बेहतरीन होते है और ये नियमित समय से अपने routers में update भी देते रहते है जिससे device और भी secure हो सके और समय के साथ update रहे।

Router क्या है और कैसे काम करता है – List Of Best Brand Routers

आज के समय में बहुत से routers मौजूद है जिनमे में से कुछ routers बेहतर है और इनमे आपको काफी बेहतरीन security features भी मिलते है तथा निमियत रूप से इनमे update भी दिया जाता है ताकि आपका device malware और attackers से बचा रहे। तो चलिए आपको बताते है कुछ बेहतरीन routers के बारे में।

  • TP-link N300 WiFi Wireless Router TL-WR845N
  • TP-Link Archer C6 Gigabit MU-MIMO Router
  • TP-Link AC750 Dual Band Wireless Router
  • TP-Link TD-w8961N N300 ADSL2+ Wi-Fi Modem Router
  • TP-Link Archer A5 AC1200 WiFi Dual Band
  • D-Link DIR-615 Wireless-N300 Router
  • Tenda AC10 AC1200 Wireless Smart Dual-Band Gigabit WiFi Router
  • Tenda N301 Wireless-N300
  • iBall Baton iB-WRD12EN 1200M Dual Band Wireless Router
  • Mi Smart Router 4C.

FAQ’s

Q) Router कितने तरह के होते है?

Ans. अगर हम routers को categories करे तो यह कई प्रकार के होते है जैसे dual band routers, single band routers, Broadband Routers, Wireless Router, Edge Router आदि। लेकिन आज के समय में हम लोग अपने घरो में अधिकतर dual band routers या single band routers ही इस्तेमाल करते है।

Q) क्या router internet speed increase कर सकता है।

Ans. जी हाँ, यदि आपके पास एक single band router जोकि 2.4GHz पर काम करता है तो वह कम internet speed को transmit करता है वही 5.0GHz वाले routers ज्यादा powerful होते है और ज्यादा internet speed को transmit करने में सक्षम होते है। इसके साथ साथ आपका internet connection भी इसके लिए जिम्मेदार होता है।

Q) Dual band routers के फयदे

Ans. Dual Band routers, दो bands को support करते है जोकि 2.4 GHz और 5.0 GHz होता है। और  इस  router के साथ आप  बेहतर internet speed प्राप्त कर सकते है तथा ये ज्यादा area cover करने में भी सक्षम होते है।

Q) घर में wifi signal को क्या block करता है।

Ans. घर में wifi signals को अधिकतर मोटी सीमेंट की  दीवारे ही block करती है इसके साथ साथ अलग अलग प्रकार की radio Frequency भी इन पर थोड़ा असर डालती है।

Q) क्या 5GHz WiFi dangerous?

Ans. जी नहीं , यह इंसानो के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है और सभी प्रकार के test होने के बाद ही government ऐसे devices को market में बेचने और इस्तेमाल करने की इजाजत देती है।

Q) Internet नहीं चल रहा तो क्या करे।

Ans. ऐसे तो internet बंद होने के कई कारण हो सकते है लेकिन कई बार router के कारण भी internet बंद तो जाता है तो ऐसे में router को बंद करे और  फिर से start करे (Restart).

यदि फिर भी internet नहीं चलता है

तो आप अपने internet provider से बात करे,

हो सकता है internet पीछे से बंद हो,

लेकिन यदि उनकी तरफ से सब ठीक है परन्तु आपका internet फिर भी  काम नहीं कर रहा है

तो आप अपने router को reset करके try करे,

इन तरीको से अधिकांश मामलो में problem solve हो जाती है। लेकिन यदि इन सब के बाद भी internet नहीं चलता है तो आपको router replace करने की जरुरत है।


HDMI Cable Kya Hai| HDMI Ki Fayda.

वाईफाई.कैसे काम करता है

OTT Full Form.Details of OTT in Hindi

Waste Management Kaise Kare|कचरा प्रबंधन.


अंतिम राय

अपने इस पोस्ट के माध्यम से Router क्या है और कैसे काम करता है, तथा dual band और single band routers  में क्या अंतर है जैसे महत्वपूर्ण चीज़ो के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की है। और अब आपको routers के बारे में काफी कुछ पता चल चूका होगा।

दोस्तों routers का काम बहुत complicated और काफी महत्वपूर्ण होता है जिसके कारण ही आप तक सही information पहुंच पाती है। वही यह data को सही जगह पर send और receive करने के इलावा आपको protection भी देता है। ताकि कोई hacker आपका data बीच में पढ़ या बदल न सके।

जिसके लिए आपको हमेशा यह भी कहा जाता है कि यदि आप किसी public network से connect है तो आप अपने confidential जानकारी को काफी भी शेयर न करे, ताकि  network से जुड़े लोग आपकी जानकारी को चोरी न कर सके।  और आपके computer के साथ किसी प्रकार की छेड़ छड़ न कर सके।

क्योकि अगर देखा जाये तो router भी एक छोटा computer ही होता है जो network का काम करता है तथा सभी devices को internet से जोड़ने और data को send और receive करने का काम करता है। तो ऐसे में इसको भी hack किया जा सकता है और कोई आपका data भी चुरा सकता है यदि वो encryption से secure न हो तो।

उम्मीद करते है कि आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी और आपको बहुत कुछ सिखने और जानने को भी मिला होगा। तो आप इस पोस्ट को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि आपके दोस्तों को और दूसरे लोगो को भी router क्या होता है और कैसे काम करता के बारे में जानकारी हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here