SIP Kya Hai

SIP Kya Hai. आज का हमारा topic है SIP. यदि आप Share market में या mutual funds में पैसे invest करते है तो आपको SIP का मतलब जरूर पता होगा। लेकिन यदि आप अभी investment करने के बारे में सोच रहे है और future में करना चाहते है तो आपको SIP का मतलब जरूर पता होना चाहिए।

तो आज के हमारे इस article में हम आपको SIP के बारे में पूरी जानकारी देंगे। आज हम आपको बताएंगे कि SIP क्या होती है, आप कैसे SIP start कर सकते है, इसके क्या फायदे होते है, क्या आपको SIP start करनी चाहिए या नही। तो यदि आप भी इन सभी सवालों के जवाब पाना चाहते है तो इस article को अंत तक जरूर पढ़िए। तो चलिए शुरू करते है  हमारा आज का article.

SIP Kya Hai

SIP की full form होती है, Systematic Investment Plan. जैसा कि इसके नाम से ही समझ आ रहा है कि यह पैसे invest करने का एक systematic तरीका होता है। SIP आपको अपने पसंदीदा mutual fund या किसी अन्य scheme में per month basis पर एक fixed amount invest करने का अवसर देती है।

आसान शब्दो मे कहें तो यह बचत करने का एक बहुत ही आसान तरीका है जिससे थोड़ा थोड़ा करके आप बहुत सारा पैसा इकठा कर सकते है। जिस तरह से हम Loan लेते है तो उसकी एक fixed amount की किश्त हमारे bank account से हर महीने अपने आप काट ली जाती है। ठीक उसी तरह आप SIP start कर सकते है.

जिसमे हर महीने एक fixed ammount आपके पसंदीदा mutual fund में अपने आप invest हो जाएगी। यह एक बहुत ही अच्छा तरीका होता ही जिसमे आप छोटी छोटी ammount जमा करवा सकते है और कुछ सालों बाद जब आप देखते है तो काफी पैसे इकठे हो गए होते है।

SIP Kaise Kam Karti Hai

SIP Kya Hai,अक्सर हमने देखा है कि जब भी कोई नया investor market में आता है जो अपने कुछ पैसे invest करना चाहता है तो वह अपने सारे पैसे एक ही बार मे एक ही scheme में लगा देता है। लेकिन क्या आप जानते है कि एक नए investor के लिए ऐसा करना बहुत ही खतरनाख हो सकता है।

यदि उस समय market अपने high पर हुआ तो उसके पैसे कम भी हो सकते है। और केवल share market में ही नही बल्कि mutual funds में भी आपको loss हो सकता है।

लेकिन एक नए investor के रूप में आपके पास इतनी knowledge नही होती कि आप decide कर पाए कि investment करने का सबसे best time कोनसा है। तो एक नए investor को कैसे decide करना चाहिए कि वो अपने पैसे कब लगाए ताकि उसे ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो सके?

इसका जवाब है SIP. जी हां, SIP के जरिये आप हर महीने  एक fixed amount अपनी पसंदीदा mutual fund scheme में invest कर सकते है। SIP की मदद से आप साल में हर महीने पैसे जमा करवाते है जिससे market high और low अपने आप average out हो जाता है और आपके नुकसान होने के chances बहुत कम हो जाते है।



यदि किसी महीने में price up होगा तो वहीं किसी ओर महीने down भी होगा, तो आपकी invest की हुई रकम साल के average price पर ही invest होगी।


Filmywap 2021 Movie Download.

WorldFree4u 2021 Movie Download In Hindi।

UWatchFree 2021 Movie Download.

Skymovies 2021 Movies Download|SkyMovies HD Apk Download.

E-Waste Kya Hai|E-Waste Kaise Kam Kiya Ja Sakta Hai.


SIP कैसे start कर सकते है?

SIP In Hindi, यदि आप भी SIP start करना चाहते है लेकिन समझ नही आ रहा है कि आप कैसे SIP start करे तो आपको चिंता करने की जरूरत नही है। हम आपको बताएंगे कि आप कैसे SIP start कर सकते हैं। SIP Kya Hai.

Step 1: SIP start करने के लिए सबसे पहले आपको यह decide करना होगा कि आप किस scheme में या mutual fund में पैसे invest करना चाहते है।

Step 2: उसके बाद आपको Direct plan और Regular plan में से कोई एक plan को चुनना होगा।

SIP In Hindi

  • Regular Plan: Regular Plan में आप एक middleman या broker के through अपना पैसा उस scheme में लगाते है। इसमे आपको 1% से 3% तक का commission middleman को देना पड़ता है।
  • Direct Plan: Direct Plan में आप बिना किसी middleman को include किये directly उस scheme में पैसे invest करके अपना 1% से 3% तक का खर्चा बचा सकते है।

Step 3: अब आपको यह चुनना होता है कि क्या आप जिस Mutual Fund में पैसे invest करना चाहते है, सीधा उनकी website पर जाकर investment करना चाहेंगे। या आप investment apps जैसे कि Groww, Kuvera, Paytm Money, आदि का इस्तेमाल करना चाहेंगे।

इन सभी apps के बारे में आपको detail information हम अपने किसी अन्य article में देंगे।

Step 4: इसके बाद आपको सबसे पहले One time (First Investment) करनी होती है। First time investment के लिए सभी schemes की अलग अलग minimum limit होती है। एकबार Investment करने के बाद आप SIP शुरू कर सकते है।

Step 5: SIP शुरू करने के लिए आपको, जहां आपने First time investment की होगी उसी app में जाना होगा और fund select करना होगा। वहीं आपको SIP start करने का option दिखाई देगा।

Step 6: वहां click करके आप आसानी से SIP start कर सकते है। SIP start करने के लिए आपके Bank के कुछ One Time charges भी होते है जिनके बारे में आप अपने Bank से पता कर सकते है।



SIP Bounce:

आप किसी भी वक़्त SIP बन्द कर सकते है या अपनी SIP की amount को कम या ज्यादा कर सकते है। साथ ही यदि किसी महीने आपके bank account में balance नही है तो आपकी SIP bounce हो जाती है। लेकिन इसमे आपको घबराने की आवश्यकता नही है।

SIP bounce होना cheque bounce होने जैसा नही होता। इसमे आपको कोई भी charges नही लगते है या फिर बहुत ही ना के बराबर charges लगते है। एक बार bank में balance आने के बाद आप अपनी SIP फर से continue कर सकते है।


Best English Learning Apps In Hindi.

Umang App Kya Hai.

Online Passport Application Kaise Kare.

Public Grievance Portal क्या होता है?


SIP Kya Hai – Benefits Of SIP

1. Low Risk:

SIP का सबसे बड़ा benefit यह होता है कि SIP से risk factor बहुत ही कम हो जाता है। यदि आप एक ही बार मे अपना सारा पैसा लगा देते है तो market के अगले ही दिन नीचे जाने पर आपको काफी loss हो सकता है। लेकिन वहीं अगर आप SIP की मदद से थोड़ा थोड़ा करके पैसा लगाते है तो market के एकदम से नीचे आने के risk से खुद को बचा सकते है। इसमे आपका पैसा एक average rate पर invest होता है।

2. Small Investments:

SIP का दूसरा सबसे बड़ा benefit है कि इसमे आपको एकदम से अपनी जेब से बहुत सारे पैसे नही निकालने पड़ते। यदि आप job करते है या कोई ऐसा काम करते है जिसमे per month fixed earning होती है तो आपके लिए बहुत मुश्किल हो सकता है कि आप एक ही बार मे investment के लिए अधिक पैसा निकाल पाए। लेकिन SIP की मदद से यह बहुत ही आसान हो जाता है और आप हर महीने कम से कम 500 रुपये भी invest कर सकते है।

3. Easy to Invest:

यदि आप busy रहते है या भुल जाते है तो SIP आपके लिए बहुत ही आसान और उपयोगी तरीका है निवेश करने का। इसमे आपको केवल एक बार SIP शुरू करनी होती है और उसके बाद हर महीने अपने आप एक fixed amount आपके bank account से कट जाएगी और आपकी पसंदीदा scheme में invest हो जाएगी। इससे आपका काम बहुत ही आसान हो जाता है क्योंकि एक बार SIP start करने के बाद आपको कुछ नही करना पड़ता।

SIP Kya Hai

4. Systematic Investment:

SIP की मदद से आप systematic investment कर सकते है। इसमे आप हर महीने एक Fixed amount invest करते है जिससे आपको investment की अच्छी आदत भी पड़ जाती है। साथ ही आपको पता होता है कि हर महीने इतनी SIP जानी है तो आप अपने खर्चे पर भी control कर पाते है। SIP आपकी investment में अनुशासन बनाये रखती है और आपको investment के लिए motivate भी करती है।

5. Compounding Benefit:

SIP से पैसा invest करने पर आपको compounding benefit मिल जाता है। शुरुआत में तो यह बहुत कम लगता है लेकिन लम्बे समय मे इससे आपको बहुत ज्यादा फायदा हो सकता है।

क्या आपको SIP start करनी चाहिए या नही?

SIP एक बहुत ही अच्छा तरीका है investment करने का। यदि आप अपना मन बना चुके है कि आप mutual funds में investment करना चाहते है तो आपको SIP जरूर शुरू करनी चाहिए। यह आपके लिए बहुत ही beneficial हो सकती है।



Conclusion

उम्मीद है आपको हमारा आज का यह article SIP Kya Hai पसन्द आया होगा और SIP से related आपको सारी जानकारी मिल गयी होगी। यदि आपको SIP से related कोई भी query है या आपके कोई भी सवाल है तो आप नीचे comment box में लिख सकते है। हम जल्द से जल्द आपके सवालो के जवाब देने का प्रयास करेंगे।

साथ ही यदि आप इस तरह की कोई अन्य जानकारी चाहते है तो भी आप नीचे लिख सकते है, हम आपके लिए वह जानकारी जरूर लेकर आएंगे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here