Static And Dynamic वेबसाइट क्या है

Static And Dynamic वेबसाइट क्या है.यदि वेबसाइट को बनावट के आधार पर बांटा जाए तो इसके दो प्रकार हैं।स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट,इस लेख में हम इन्ही के बारे में चर्चा करने वाले हैं।

स्टैटिक वेबसाइट क्या होता है और इसके फायदे और नुकसान क्या-क्या हैं? इन सभी सवालों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाला है।

साथ ही डायनामिक वेबसाइट के सभी पहलुओं पर भी बात होगी जैसे की डायनामिक वेबसाइट क्या है और इसके फायदे और नुकसान क्या हैं?यदि आप वेबसाइट बनवाना चाहते हैं तो आपको कौन सा वेबसाइट बनवाना चाहिए इसके बारे में भी जानकारी मिलने वाला है।

Contents hide
1 स्टैटिक वेबसाइट की परिभाषा- Static Website Definition
1.2 डायनामिक वेबसाईट कैसे काम करता है?

स्टैटिक वेबसाइट की परिभाषा- Static Website Definition

स्टैटिक वेबसाइट वो वेबसाइट होती है जिनके वेब पेज में निश्चित सामग्री होती है।इस तरह के वेबसाइट में हर यूजर को एक ही सामग्री दिखाई देती है चाहे वो दुनिया में कहीं से भी उसे एक्सेस कर रहा हो।

इस तरह के वेबसाइट बनाना काफी आसान होता है क्योंकि इनमे बस HTML कोडिंग की जरूरत है।स्टैटिक वेबसाइट में किसी तरह की डेटाबेस की जरूरत नहीं पड़ती और ना ही किसी वेब प्रोग्रामिंग की।

स्टैटिक वेबसाइट उनके लिए सही है जिनकी सामग्री में बदलाव नहीं करने पड़ते और एक ही सामग्री सालों तक रहती है और सभी यूजर उसी सामग्री को इस्तेमाल करते हैं।

यदि इसकी सामग्री में किसी तरह का बदलाव करना है तो आपको खुद से एक-एक पेज में बदलाव करना पड़ेगा और वो भी कोडिंग करके।

डायनामिक वेबसाइट की परिभाषा- Dynamic Website Definition

डायनामिक वेबसाइट वो वेबसाइट होती है जिसकी सामग्री हर उपयोगकर्ता के अनुसार बदलती रहती है और इससे वो यूजर उस वेबसाइट से काफी अच्छी तरह से जुड़ जाता है।

इसमे HTML के अलावा और भी कई सारे प्रोग्रामिंग भाषा के साथ-साथ डेटाबेस का इस्तेमाल भी किया जाता है।

डायनामिक वेबसाइट इन्फॉर्मैशनल के साथ-साथ फंगक्शनल भी होता है।इसे बनाने के लिए दोनों सर्वर-साइड और क्लाइंट-साइड स्क्रिप्ट भाषा का इस्तेमाल किया जाता है।

हालांकि जब कोई यूजर किसी डायनामिक वेबसाइट पर कोई पेज खोलता है तो पहले तो वो डायनामिक कोड के जरिए बदल जाता है लेकिन अंत में जो खुलता है वो एक स्टैटिक वेब पेज ही होता है।

डायनामिक वेबसाईट कैसे काम करता है?

Static And Dynamic वेबसाइट क्या है.जब कोई यूजर डाइनैमिक वेबसाईट पर जाता है तो सबसे पहले उस यूजर द्वारा पहुंचे हुए लिंक के पेज पर कंटेन्ट दिखाने के लिए सर्वर में उसे generate करने का काम होता है।

सर्वर में लगा प्रोसेसर उस वेबपेज,डेटाबेस और यूजर के अनुसार कंटेन्ट को generate करता है और उसके बाद उसे यूजर के सामने पेश करता है।

डाइनैमिक वेबसाईट पर भी जो पेज यूजर के सामने खुलता है वो एक स्टैटिक पेज होता है लेकिन वो तुरंत का ही generate किया हुआ होता है।

किसी भी वेबसाईट को डाइनैमिक से स्टैटिक की तरफ जितना हो सके optimise कर देना चाहिए क्योंकि इससे आपके होस्टिंग का रिसोर्स बचता है।

स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट में अंतर- Static Vs Dynamic Website

1) स्टैटिक वेबसाइट
    • जिस तरह से स्टैटिक का मतलब होता है स्थिर उसी तरह से ये वेबसाइट स्थिर होती है
    • इसे साधारणतः सिर्फ एचटीएमएल कोडिंग भाषा से बनाया जाता है
    • इसे बनाना काफी आसान है और इसमें बहुत ही कम समय लगता है
    • इस तरह के वेबसाइट किसी तरह के डेटाबेस से कनेक्ट नहीं होते हैं
    • इस वेबसाइट पर उपलब्ध सामग्री स्थिर होती है और हर यूजर को वही चीज दिखाई देती है
    • इसे बनवाने में कम लागत लगता है नहीं तो यदि आप थोड़े से कोडिंग के जानकार हैं तो स्वयं ही बना सकते हैं
    • यदि आपको इस वेबसाइट की सामग्री में सुधार करना है तो आपको स्वयं उसे बदलना पड़ेगा जैसे की यदि आपको 50 पेज में कोई बदलाव करना है तो उन सभी को एक-एक करके बदलना पड़ेगा
    • उदाहरण:कुछ कॉलेज की वेबसाईट जिन्हे अपडेट नहीं करना होता है ,या कोई अन्य वेबसाइट।
      यदि आप किसी ऐसे वेबसाइट पर जाते हैं जहां की सामग्री सभी यूजर के लिए एक ही है तो वो स्टैटिक वेबसाइट है।
2) डायनामिक वेबसाइट
    • जिस तरह डायनामिक का मतलब होता है बदलने वाला उसी तरह से डायनामिक वेबसाइट पर उपलब्ध सामग्री हर यूजर के अनुसार बदलती रहती है
    • डायनामिक वेबसाइट बनाने के लिए एचटीएमएल ,css के अलावा और भी प्रोग्रामिंग भाषा जैसे php,python,java आदि का इस्तेमाल किया जाता है
    • इसे बनाना काफी मुश्किल काम है और इसमे काफी समय लगता है
    • इसे बनाने के लिए एक से ज्यादा लोगों की जरूरत पड़ सकती है
    • इस तरह के वेबसाइट को डेटाबेस से कनेक्ट किया जा सकता है
    • इसकी सामग्री में बदलाव करने के लिए इसके डेटाबेस में बदलाव कर दिया जाता है उसकी वजह से पूरे वेबसाइट की सामग्री बदल जाती है
    • जब कोई यूजर इस तरह के वेबसाइट पर जाता है तो उसके अनुसार सामग्री उसके वेबपेज पर लोड होती है
    • उदाहरण:गूगल मैप,फेस्बूक,यूट्यूब,आदि ये सभी डायनामिक वेबसाइट हैं इनकी सामग्री हर यूजर के अनुसार अलग-अलग होती है।
    • जैसे की मान लीजिए दो व्यक्ति यूट्यूब डॉट कॉम खोलते हैं तो दोनों के होमपेज पर जो सामग्री आती है वो अलग-अलग आती है।इसी को डायनामिक वेबसाइट बोलते हैं।

➡ सॉफ्टवेयर डेवलपर-Software Developer

डायनामिक वेबसाइट को स्टैटिक वेबसाइट में कैसे बदलें. How To Convert Dynamic To Static

यदि आपके पास कोई डायनामिक वेबसाइट है और आप उसे स्टैटिक वेबसाइट में बदलना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास दो रास्ते हैं।

  1. वॉर्डप्रेसस प्लग इन का इस्तेमाल करके
    यदि आपकी वेबसाइट वॉर्डप्रेस कंटेन्ट management सिस्टम पर बनी है तो आप उसे optimise करके डायनामिक से स्टैटिक की तरह बना सकते हैं।लेकिन आपकी पूरी वेबसाइट को स्टैटिक नहीं बनाना है सिर्फ optimise करना है ताकी आपका वेबसाइट लोड होने में ज्यादा समय ना लगाए।
  2. Manually कोडिंग में बदलाव करके
    इसके लिए आपको वेब डेवलपर की मदद लेनी पड़ेगी और उसके बाद आप इसे बदल सकते हैं।वेब डेवलपर ये काम करने का अच्छा खासा चार्ज करेगा क्योंकि ये काफी मेहनत का काम है।

स्टैटिक वेबसाइट को डायनामिक वेबसाइट में कैसे बदलें. How To Convert Static To Dynamic

Static And Dynamic वेबसाइट क्या है.यदि आपका वेबसाइट स्टैटिक है तो उसे डायनामिक वेबसाइट बनाने के लिए भी आपके पास वही दो रास्ते हैं जो आपने ऊपर देखा है पहला वॉर्डप्रेस का प्लग इन और दूसरा वेब डेवलपर के जरिए।

WordPress का इस्तेमाल करने के लिए आपको अपने Hosting में इसे इंस्टाल करना पड़ेगा।

आप अपने वेबसाइट को स्टैटिक से डायनामिक तभी बनाएं जब उसकी जरूरत हो क्योंकि इससे आपके होस्टिंग का काम बढ़ता है और वेबपेज लोड होने में अधिक समय लगता है।

डायनामिक वेबसाइट के फायदे और नुकसान-PRO & CONS Of Dynamic Website

1) डायनामिक वेबसाइट के फायदे
    1. इसमे हर यूजर के लिए अलग-अलग पेज लोड होता है जिससे यूजर काफी अच्छे से उस वेबसाइट से जुड़ सकता है और उसे अपनी मनपसंद चीजें उस पेज पर दिखती हैं।
    2. यदि आपको कोई जानकारी अपडेट करनी हो तो बस उसके डेटाबेस में बदलाव कर देने से पूरे वेबसाइट में बदलाव हो जाएगा।
    3. इसमें आपको कई सारे अच्छे-अच्छे फीचर्स मिलते हैं जैसे की लॉगिन,आदि।
    4. डायनामिक वेबसाइट देखने में अधिक औपचारिक लगती है
    5. आपके वेबसाइट को बहुत अच्छे से सजाया जा सकता है
2) डायनामिक वेबसाइट के नुकसान
    1. इसे बनाने में काफी मेहनत करनी पड़ सकती है और महंगा भी होता है
    2. इस तरह के वेबसाइट के लिए अच्छा सा सर्वर होना चाहिए जिसमें बेहतर प्रोसेसर लगा हो
    3. डायनामिक वेबसाइट लोड होने में अधिक समय लेता है
    4. ये कम secure होता है

स्टैटिक वेबसाइट के फायदे और नुकसान-PRO & CONS Of Static Website

स्टैटिक वेबसाइट के भी अपने फायदे और नुकसान हैं चलिए एक-एक करके दोनों के बारे में जानते हैं-

1) स्टैटिक वेबसाइट के फायदे
    1. इसे सेटअप करना आसान होता है और इसकी लागत भी कम लगती है
    2. स्टैटिक वेबसाइट के वेब पेज जल्दी से लोड होते हैं
    3. इसमे सर्वर के बैक-एंड में कोई प्रोसेसिंग नहीं हो रही होती है इसलिए ये ज्यादा सुरक्षित होता है
    4. होस्टिंग के प्रोसेसर पर ज्यादा लोड नहीं पड़ता है
2) स्टैटिक वेबसाइट के नुकसान
    1. इसमें कोई भी बदलाव करने के लिए आपको डेवलपर की मदद लेनी पड़ेगी
    2. यूजर के अनुसार सामग्री नहीं बदलेगी सभी को समान पेज दिखाई देगा
    3. डायनामिक की तुलना में स्टैटिक वेबसाइट कम आकर्षक होते है और यूजर से interaction बनाने में दिक्कत होती है.

आपको कौन सा वेबसाइट बनवाना चाहिए

What Is A Static And Dynamic Website.यदि आप वेबसाइट बनाने या बनवाने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपको उसका उद्देश्य समझना चाहिए उसके बाद निर्णय लेना चाहिए की कौन सी वेबसाइट आपके लिए अच्छी रहेगी।

क्योंकि Static Website कम लागत में बन जाती है लेकिन उसे मैनेज करना मुश्किल काम होता है।डायनामिक वेबसाइट की लागत अधिक लगती है लेकिन इसे मैनेज करना आसान होता है।

चलिए वेबसाइट बनाने के लिए कुछ बुनियादी बातों पर ध्यान देते हैं जिनके आधार पर आप ये निश्चित कर सकेंगे की कौन सा वेबसाइट आपके लिए अच्छा रहेगा।

1) आपकी वेबसाइट कितनी बड़ी होने वाली है

सबसे पहले आपको वेबसाइट के आकार पर ध्यान देना चाहिए।अगर आपकी वेबसाइट छोटी है तो उसे मैनेज करना उतना मुश्किल नहीं होगा लेकिन बड़ी वेबसाइट को मैनेज करने में काफी दिक्कत होगी इसलिए इसका मैनेजमेंट आसान करने के लिए आपको डायनामिक वेबसाइट बनवाना चाहिए।

2) क्या आपको कोडिंग आती है

अगर आपको कोडिंग आती है तब तो आप खुद से अपने स्टैटिक वेबसाइट को अपडेट कर लेंगे लेकिन यदि आपको कोडिंग नहीं आती तो आपको डायनामिक वेबसाइट की तरफ जाना चाहिए जहां आप बिना कोडिंग जाने ही अपने वेबसाइट पर बदलाव कर सकेंगे।

3) क्या आप भविष्य में अपने वेबसाइट में बदलाव चाहते हैं

अगर आपको भविष्य में कभी अपने वेबसाइट की सामग्री यानि कंटेन्ट में बदलाव करना पड़े तो आप क्या करेंगे?यदि आपके पास डायनामिक वेबसाइट होगी तो आप खुद ही उसे कर लेंगे लेकिन यदि आपके पास स्टैटिक वेबसाइट होगी तो इसके लिए आपको कोडिंग के जानकार व्यक्ति की मदद लेनी पड़ेगी।

निष्कर्ष- Conclusion

Static And Dynamic वेबसाइट क्या है.हमने इस लेख में आपको स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है।

इस लेख में आपको पता चला होगा की स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट क्या होते हैं?इनमें क्या अंतर है और स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट के फायदे और नुकसान क्या-क्या हैं?यदि आप वेबसाइट बनवाना चाहते हैं तो आपको कौन सा वेबसाइट बनवाना चाहिए इस सवाल का जवाब भी मिल गया होगा।

स्टैटिक और डायनामिक वेबसाइट से संबंधित यदि आपका कोई सवाल बचा हो जो आपको लगता है की इस लेख में नहीं लिखा गया है तो आप कमेन्ट करके बेहिचक पूछ सकते हैं हम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here